शराब आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाती है ये तो सभी जानते हैं, लेकिन ये आपके दांतों को भी कमज़ोर बना देती हैं, क्या आपको ये मालूम था? नहीं ना? तो आज हम आपको कुछ बताने जा रहे हैं, जिसे पढ़ने के बाद आप हैरान रह जाएंगे। दांतों के लिए शराब बेहद हानिकारक साबित होती है, जो आपके दांतों को ना सिर्फ पीला कर देती है, बल्कि इन्हे अंदर से कमज़ोर भी करती है। आइये जानते हैं किस तरह शराब आपके दांतों के लिए हानिकारक है।

प्लाक और कैविटी बढ़ाए शराब

शराब को सोडा और जूस के साथ सर्व किया जाता है, जिसकी वजह से शुगर ज़्यादा हो जाती है

credit: bustle.com

जो लोग ज़्यादा शराब का सेवन करते हैं उनके दांतों पर प्लाक की मोटी परत बन जाती है, जो दांतों की समस्या को न्योता देता है। आम तौर पर प्लाक के जमा होने की वजह से आपको पीरिओडॉन्टिकल नामक समस्या हो सकती है, जिससे समय से पहले ही दांत टूट जाते हैं। जैसा कि आप सभी जानते हैं शराब को सोडा और जूस के साथ सर्व किया जाता है, जिसकी वजह से शुगर ज़्यादा हो जाती है और दांतों में कैविटी की समस्या बढ़ जाती है।

सलाइवा की कमी

डॉ देवाशीष चटर्जी की माने तो शराब पीने से शरीर का पानी कम हो जाता है, जिसकी वजह से आपको डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। इसी डिहाइड्रेशन और शरीर में पानी की कमी की वजह से आपके मुंह में सलाइवा, जिसे मुंह की लार भी कहा जाता है, कम हो जाती है। जब सलाइवा की कमी होती है, तो मुंह में बैक्टीरिया जल्दी पनपते हैं और यह आपके दांतों को बेहद नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए शराब के हर एक ग्लास के बाद आपको एक ग्लास पानी पीना चाहिए।

दांतों पर दाग

दांतों में मौजूद एसिड दांतों का प्राकृतिक रंग छीन लेता है

credit: health.com

आपको जान कर हैरानी होगी कि शराब आपके दांतों पर धब्बे छोड़ जाते हैं। दरअसल शराब में मौजूद क्रोमोज़ोन से दांतों पर धब्बे बनते हैं और यह दांतों पर मौजूद इनैमल से मिल जाते हैं। इसके अलावा दांतों में मौजूद एसिड दांतों का प्राकृतिक रंग छीन लेता है। यहां तक की हार्ड लिकर के साथ-साथ बियर में भी एसिड की मात्रा ज़्यादा होती है। इसलिए शराब की वजह से आपके दांतों पर बुरा असर पड़ता है।

यदि आप दांतों को लम्बे समय तक स्वस्थ रखना है, तो आपको शराब से दूरी बनानी चाहिए। यदि ऐसा कर पाना संभव नहीं है, तो शराब पीने के बाद आप ब्रश कर इन समस्याओं को कम कर सकते हैं।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..