बचपन में हम सबको कभी न कभी दूध न पीने के लिए डांट पड़ी होगी और उस डांट को सुनते वक़्त हमने अपनी मां से दूध के फ़ायदों के बारे में भी खूब सुना है। जो लोग शाकाहारी यानी मांस मछली का सेवन नहीं करते , उनके लिए दूध प्रोटीन का एक बेस्ट स्रोत माना जाता है। दूध में मौजूद इतने सारे न्यूट्रीशन और पाचक गुणोंं की वजह से इसे आयुर्वेद में एक अलग ही स्थान दिया गया है।

दूध को लेकर अक्सर ये बहस होती रही हैं कि दूध पीने का सही समय क्‍या होना चाहिए? इस बात को लेकर हर किसी के मन में दुविधा रहती है। कई लोग कहते हैं कि दूध नाश्ते के वक्त पीना अच्छा होता है, तो कई लोग इसे रात में पीना सही समझते हैं। आयुर्वेद के अनुसार दूध के लाभ लेने के लिए सबसे पहले यह जानना ज़रुरी है कि इसे कैसे और कब पीना चाहिए। अगर दूध पीने के सही समय को लेकर आप भी दुविधा में हैं, तो आयुर्वेदिक डॉक्टर अशोक यादव से जानिए ये कुछ जरूरी बातें।

मसल्स या बॉडी बनाना चाहते हैं तो रात में दूध पीना चाह‍िए।

क्या होता है जब आप अलग-अलग समय पर दूध पीते हैं…

सुबह: डाक्टर अशोक यादव के मुताबिक, “ पचाने में भारी होने के कारण सुबह दूध पीने से मना किया जाता है, लेकिन अगर आपकी पाचन शक्ति अच्छी है, तो आप दूध सुबह ले सकते है। इस समय दूध पीने से दिनभर शरीर में एनर्जी बनी रहती है और आप थकावट महसूस नहीं करते हैं।”

दोपहर: डाक्टर अशोक के मुताबिक बुजुर्गों के लिए दोपहर के समय दूध पीना फ़ायदेमंद होता है क्योंकि इससे शरीर को ताकत मिलती है। अगर आपकी उम्र 40 या फिर 50 के पार है, तो आप दोपहर के समय दूध पीने की आदत डाले।

शाम: शाम में आपने अक्सर बच्चों को दूध पीते देखा होगा। ऐसा इसलिए ताकि उनकी थकान मिट सके और शाम के वक्त मे दूध पीने से बच्चों की आंखें भी अच्छी रहती है। डाक्टर अशोक का मानना है कि बच्चों को शाम के समय भी दूध देने का प्रयास करे।

रात: रात में अक्सर उन लोगों को दूध दिया जाता है, जो ज़्यादा पढ़ते हैं। ऐसा इसलिए किया जाता हैं, जिससे उनका मन शांत रहे और उन्हें थकान भी कम लगे। और तो और वो पढ़ाई में मन लगा सके। अगर किसी को ज़ुकाम या खांसी की शिकायत है, तो गरम दूध में हल्दी डालकर पीने से उन्हें सुबह तक जुकाम और खांसी से राहत मिल जाती है। अगर किसी को रात में नींद न आने की शिकायत है, तो डॉक्टर अशोक ऐसे लोगों को भी रात को दूध पीने की सलाह देते हैं।

milk-to-improve-your-weight
वजन बढ़ाना हो तो दिन में और अगर वजन कम करना हो तो रात को दूध पीने की सलाह दी जाती है।

दूध पीने से पहले जान लें कुछ जरूरी बातें

 

कमजोर पाचन, त्वचा संबंधी समस्‍याओं, खांसी, अपच और पेट में कीड़े जैसी समस्‍याओं से परेशान लोगों को दूध के सेवन से बचना चाहिए।

दूध को कभी भी भोजन के साथ नहीं पीना चाहिए क्योंकि यह जल्‍दी से हजम नहीं हो पाता।

आयुर्वेद के अनुसार रात को सोने से पहले दूध पीने के लिए ज़रूरी है कि आप शाम के भोजन के एक घंटे बाद ही इसका सेवन करें, जिससे आपको रात को दूध पीने का लाभ मिल सके।

हमने तो आपको बता दिया कि दूध कब और कैसे पीना चाहिए। अब यह फैसला आपको करना है कि आपकी ज़रुरत के मुताबिक इसका सेवन आपके लिए कब लाभदायक है।

पहचान छोटी ही सही लेकिन अपनी खुद की होनी चाहिए। इसी सोच के साथ जीती हूँ।अपने सपनों को साकार करने की हिम्मत रखती हूं और ज़िन्दगी का स्वागत बड़े ही खुले दिल से करती हूँ। बाते और खाने की शौकीन हूँ । मेरी इस एनर्जी को चार्ज करती है, मेरे नन्ने बच्चे की खिलखिलाती मुस्कुराहट।