राजमा समूचे उत्तरभारत में लोगों की फेवरेट डिशेज में से एक है। राजमा ना सिर्फ स्वाद के लिहाज से एक बेहतरीन फ़ूड है बल्कि इसे खाने से सेहत को भी काफी लाभ मिलता है। राजमा प्रोटीन और फाइबर का एक अच्छा सोर्स है, साथ ही इसमें फैट का लेवल बहुत कम होता है। राजमा के इसी गुण के कारण यह वेट लॉस करने के दौरान खाया जाए वाला एक पॉपुलर फ़ूड भी है। प्रति 100 ग्राम राजमा में 8.7 ग्राम प्रोटीन और 6.4 ग्राम फाइबर होता है। यही नहीं क्या आप जानते हैं कि राजमा का सेवन कोलोन कैंसर जैसे गंभरी बीमारी को काफी हद तक रोकने में सक्षम होता है। राजमा खाने से आपको और क्या-क्या हेल्थ बेनिफिट्स हैं, आइए जानते हैं।

डाइट में शामिल करेंगे राजमा तो स्वाद के साथ मिलेगा स्वास्थ्य लाभ

प्रोटीन का एक बेहतरीन विकल्प
प्रोटीन का एक बेहतरीन विकल्प

राजमा प्रोटीन का एक बेहतरीन विकल्प है। इसका सेवन शरीर में प्रोटीन की मात्रा को संतुलित रखता है। फ़ूड एक्सपर्ट्स के अनुसार, एक कप उबले हुए राजमा (लगभग 177 ग्राम) में 15 ग्राम प्रोटीन होता है और यह 27 कैलोरीज देता है। शाकाहारी लोगों के लिए राजमा, प्रोटीन का एक अच्छा सोर्स है। आपको बता दें कि प्रोटीन का सेवन मासपेशियों को मजबूत करने के साथ ही वजन कम करने में सहायक होता है। इसके साथ ही प्रोटीन के सेवन से त्वचा और बालों की हेल्थ भी अच्छी रहती है। तो यदि आप वेट लॉस करने के लिए प्रयासरत हैं तो अपनी डाइट में प्रोटीन रिच फ़ूड राजमा शामिल कर सकते हैं।

पाचन तंत्र के लिए लाभकारी

न्यूट्रीशन एक्सपर्ट निधि पांडेय (भोपाल) के अनुसार, प्रति 100 ग्राम राजमा में 6.4 ग्राम फाइबर पाया जाता है। फाइबर का सेवन हमारे पाचनतंत्र के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके सेवन से कब्ज, गैस, पेट में मरोड़ें उठना आदि की दिक्कत से बचा जा सकता है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि राजमा के नियमित सेवन से डायबिटीज के मरीजों की सेहत पर सकारात्मक असर पड़ता है। दरअसल, राजमा ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है जो डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए किसी वरदान से कम नहीं हैं।

कैंसर की रोकथाम में सहायक

दुनिया भर में फ़ैल रहे और सबसे कॉमन कैंसर में से एक कोलोन कैंसर की रोकथाम में राजमा बड़ी भूमिका निभाता है। हालिया स्टडीज में इस बात का दावा किया गया है कि राजमा के नियमित सेवन से कोलोन कैंसर होने के रिस्क को घटाया जा सकता है। दरअसल, राजमा में ऐसे कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो कैंसर की रोकथाम में मदद करते हैं। राजमा में पाए जाने वाले फाइबर्स जैसे -प्रतिरोधी स्टार्च और अल्फा-गैलेक्टोसाइड्स हमारे कोलोन में जाकर फ्रेंडली बैक्टीरिया से मिलकर शॉर्ट-चेन फैटी एसिड बनाते हैं। यह फैटी एसिड कोलोन की हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद होता है और संभावित कैंसर के खतरे को रोकता है।

ह्रदय रोगियों के लिए फायदेमंद

राजमा का सेवन हार्ट संबंधी बीमारियों से बचाव करता है। राजमा में अच्छी खासी मात्रा में मैगनीशियम पाया जाता है जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोकता है। इसलिए अपनी डाइट में राजमा को शामिल करने से आप आसानी से ह्रदय संबंधी रोगों से बच सकते हैं।

रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है

एक्सपर्ट्स के अनुसार, राजमा में एंटीऑक्सीडेंट भी पाए जाते हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट तत्व रोगों से लड़ने में शरीर की बड़ी मदद करते हैं।यही नहीं राजमा में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व लीवर की बेहतर फंग्शनिंग में भी बड़ी मदद करते हैं। एंटीऑक्सीडेंट से लीवर में पित्त की समस्या होने के चांसेज कम रहते हैं।

मस्तिष्क के लिए वरदान

राजमा में पाए जाने वाले पोषक तत्व दिमाग में मौजूद कोशिकाओं के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। राजमा में विटामिन -K पाया जाता है। इस विटामिन की मदद से हमारा दिमाग सुचारू रूप से काम कर पाता है। वहीं, एक्सपर्ट्स के अनुसार, राजमा में पाया जाने वाला मैगनीशियम सिर दर्द आदि की समस्या का भी रोकथाम करता है। कुछ स्टडीज के अनुसार, राजमा के नियमित सेवन से याददाश्त भी मजबूत होती है।

हड्डियों की मजबूती बढ़ाये

राजमा में पाया जाने वाला विटामिन बी 9 हड्डियों को मजबूती देता है और साथ ही साथ ही इसमें मौजूद आयरन तत्व हड्डियों के विकास और पोषण में मदद करते हैं। राजमा में फास्फोरस और मैंगनीज की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है जो कि हड्डियों के सम्पूर्ण विकास के लिए बेहद ज़रूरी होती हैं। डाइट में राजमा को शामिल करने से आप भी मजबूत हड्डियां पा सकते हैं।

This is aawaz guest author account