आपने अक्सर शाकाहारी और मांसाहारी खाने के बारे में सुना होगा। लेकिन आज हम आपको वेजिटेरियन और नॉन वेजिटेरियल के अलावा एक ऐसी डायट के बारे में बताएंगे, जिसे अब ज़्यादा से ज़्यादा लोग फॉलो कर रहे हैं। हम बात करे हैं वीगन डायट की, जिसके बारे में लोग बेहद कम जानते हैं। आइये जानते हैं वीगन डायट के बारे में ख़ास बातें।

क्या होती है वीगन डायट?

वीगन डायट में जानवरों के मांस के साथ-साथ दूध या दूध से तैयार की जाने वाली चीजों का सेवन भी नहीं किया जाता

वीगन डायट एक ऐसा डायट है, जिसमें फल, सब्जियां, साबुत अनाज, दालें इत्यादि का इस्तेमाल तो होता है, लेकिन दूध से बनी चीजों के लिए कोई जगह नहीं होती। दरअसल वीगन डायट फॉलो करने वाले दूध और दूध से बनी चीजों से दूर रहते हैं। इसके पीछे का कारण समझने में बेहद आसान है। गायों को खाना खिलाने के लिए जिन सब्जियों को उगाया जाता है, उसमें पानी की ज्यादा मात्रा का इस्तेमाल होता है, जिसकी वजह से प्रतिदिन पर्यावरण को नुकसान होता है। वीगन डायट में जानवरों के मांस के साथ-साथ दूध या दूध से तैयार की जाने वाली चीजों का सेवन भी नहीं किया जाता। इसीलिए खाने को एक संतुलित भोजन बनाने के लिए फल, सब्जियां, साबुत अनाज इत्यादि को सही मात्रा में शामिल किया जाता है।जिससे शरीर को विटामिन, प्रोटीन और फाइबर से भरपूर डायट मिले।

कितने प्रकार की होती है वीगन डायट?

वीगन डायट में भी अलग-अलग प्रकार होते हैं, जिसमें तीन प्रकार होते हैं।होल व्हीट वीगन डायट, रॉ फूड वीगन डायट और थ्राइव डायट को लोग अपनाते हैं। होल व्हीट वीगन डायट में फल, सब्जियां, दाल आउट नट्स का समावेश किया जाता है। जहां रॉ फूड वीगन डायट में प्लांट बेस्ड खाने के अलावा कच्चे फल, सब्जियां और नट्स का सेवन किया जाता है, वहीं थ्राइव डायट में होल व्हीट खाद्य पदार्थों के साथ-साथ रॉ फूड का भी समावेश किया जाता है।

क्या खासियत है वीगन डायट की?

4e5fd027-learn-honey-amazing-benefits-cover
शहद भी वीगन डायट में शामिल नहीं किया जाता

वीगन डायट की खासियत यह होती है कि इसमें किसी भी तरह के पशुओं का या उनके शरीर से जुड़ी हुई किसी भी चीज का समावेश नहीं होता। आपको जानकर हैरानी होगी कि शहद भी वीगन डायट में शामिल नहीं किया जाता। लोगों का मानना है कि शहद में मधुमक्खियों के शरीर का हिस्सा होता है, जिस पर सिर्फ उनका हक है। उसी तरह गाय और भैंस के दूध पर उसके बच्चे का हक होता है, इसीलिए वीगन डायट फॉलो करनेवाले लोग दूध का इस्तेमाल भी नहीं करते। शाकाहारी भोजन से भी वीगन डायट अलग होता है। शाकाहार खाने वाले मांस तो छोड़ देते हैं, लेकिन कभी-कभी अंडे और दूध से बनी हुई चीजों का इस्तेमाल करते हैं या कॉडलिवर ऑयल की कैप्सूल खाने से नहीं कतराते। लेकिन वीगन डायट में ऐसा नहीं होता। वे ऐसे किसी भी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं, जिसमें प्राणियों से जुड़ी चीज़ें होती है।

कितनी फायदेमंद है वीगन डायट?

वीगन डायट खाने के कई फायदे हैं। वीगन डाइट खाने से आपका शरीर सुचारू रूप से काम करता है। साथ ही बिना कैलोरी बढ़ाए वजन कम करने का यह सबसे आसान तरीका है। वीगन डायट न्यूट्रिएंट्स से भरपूर होती है, साथ ही यह आपका ब्लड शुगर नियंत्रण में रखती है। यदि आप लंबे समय तक वीगन डायट को फॉलो करते हैं, तो आपकी किडनी सुचारू रूप से काम करने लगती है। साथ ही शरीर में और मांसपेशियों में होने वाले दर्द से भी वीगन डायट आपको आराम देती है। इस तरह वीगन डायट के फायदे एक नहीं बल्कि कई हैं।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..