गर्मियों में मिलनेवाले फल का ज़िक्र जब भी आता है, तब हमारे मन में सिर्फ आम का ही ख्याल आता है। यह एक ऐसा रसीला और स्वादिष्ट फल है, जिसे हर कोई पसंद करता है। खास बात है कि फलों के राजा के नाम से जाने जाते आम से कई तरह की डिशेज़ भी बनाई जा सकती है। इतना ही नहीं, आम जितना भारत में प्रसिद्ध है, विदेशों में भी लोग इसके इतने ही दीवाने हैं। दरअसल, भारत में आम की कई किस्में है। अलग-अलग प्रजाति में पाया जानेवाला आम अपने अलग-अलग स्वाद और आकार के लिए भी फेमस है। आज हम आपको आम की अलग-अलग प्रजातियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में बेहद कम लोग ही जानते हैं।

अल्फान्सो

सीज़न की शुरुआत में ये आम 700 से 1500 रूपए प्रति दर्जन में खरीदे जाते हैं

अल्फान्सो भारत में मिलनेवाले बेहद स्वादिष्ट और महंगे आम की किस्म से एक है। इसे हापुस के नाम से भी लोग जानते हैं। सुनहरे रंग का ये आम खाने में बेहद स्वादिष्ट, मीठा और पौष्टिक होता है। यह खास तौर पर महाराष्ट्र के रत्नागिरी, रायगढ़ और कोंकण प्रदेश में होता है। लेकिन पूरे भारत में इस आम को खाने के लिए लोग लालायित रहते हैं। सीज़न की शुरुआत में ये आम 700 से 1500 रूपए प्रति दर्जन में खरीदे जाते हैं। खास बात है कि इस आम का विदेश में निर्यात भी किया जाता है।

बादामी

इसे कर्नाटक का अल्फान्सो कहा जाता है

अल्फान्सो के बाद बादामी सबसे स्वादिष्ट आम माना जाता है। इसका रंग और स्वाद अल्फान्सो से मिलता-जुलता होता है। यह आकार में बड़ा और मीठा होता है। इसकी पैदावार सबसे ज़्यादा कर्नाटक क्षेत्र में होती है, इसलिए इसे कर्नाटक का अल्फान्सो कहा जाता है। इसके स्वाद के चलते इसका इस्तेमाल खास तौर पर मिल्क शेक, आइसक्रीम और मैंगो खीर बनाने में किया जाता है।

लंगड़ा

यह आम पीले और हरे रंग का होता है

हालांकि आज तक कोई ये नहीं जान पाया कि इस आम को लंगड़ा नाम क्यों दिया गया, लेकिन उत्तर प्रदेश का ये प्रसिद्ध आम बनारस से संबंध रखता है। यह आम पीले और हरे रंग का होता है, जिसका आकार अंडाकार या कहें ओवल शेप का होता है। यह खाने में बेहद मीठा होता है। लोग खाने के बाद इसे डेज़र्ट के रूप में खाना पसंद करते हैं।

तोतापरी

इसका इस्तेमाल ज़्यादातर अचार, सलाद और कोल्ड ड्रिंक में किया जाता है

यह नाम इसके आकार की वजह से दिया गया है। इसका सिरा तोते की चोंच की तरह दिखाई देता है। इसका स्वाद मीठा नहीं, बल्कि हल्की खटास लिए रहता है। इसलिए इसका इस्तेमाल ज़्यादातर अचार, सलाद और कोल्ड ड्रिंक में किया जाता है। जिन लोगों को खट्टा-मीठा स्वाद पसंद होता है, उनकी लिस्ट में तोतापरी आम का नाम सबसे ऊपर होता है।

केसर

केसर आम का रस खाने में सबसे स्वादिष्ट होता है।

गुजरात के जूनागढ़ की पैदावार यानी केसर आम। यह ना सिर्फ अपने स्वाद, बल्कि अपनी खुशबू की वजह से भी जाना जाता है। यदि आपको खाने के साथ आमरस खाना पसंद है, तो केसर आपकी पहली पसंद बन सकता है। केसर आम का रस खाने में सबसे स्वादिष्ट होता है।

दशहरी

दशहरी खास तौर उत्तर प्रदेशीय इलाकों में उगाया जाता है। उत्तर प्रदेश के मलीहाबाद में इसकी पैदावार बड़े पैमाने में होती है। यह खाने में बेहद मीठा होता है और आकार में हल्का लम्बा होता है। इसे पूरे भारत में बड़े चाव से खाया जाता है।

इस तरह आम भले ही अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग आकार, रंग और स्वाद के साथ मिलता हो, लेकिन इसकी अहमियत फलों के राजा की ही रहती है।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..