मुझे बचपन से ही करेला खाना अच्छा नहीं लगता था। लेकिन मेरी मां चाहती थी कि मुझे करेले के सभी पौष्टिक गुण मिले इसलिए वह मुझे ज़बरदस्ती करेला खिला देती थी। अगर आपने गौर किया होगा तो अक्सर बंगाली घरों में करेले को बनाने के दो आम तरीके होते हैं – या तो वे उसे कटे हुए कद्दू के साथ भून लेते हैं या फिर उसे उबालकर चावल या तो उबले हुए आलू के साथ खाते हैं। हालांकि, बंगालियों द्वारा बनाई गयी करेले की एक डिश बेहद स्वादिष्ट होती है, जिसे कहते हैं –

‘शुक्तो’

एक मिल्की करी जिसमे होता है करेला और खूब सारी अन्य सब्ज़ियां
एक मिल्की करी जिसमे होता है करेला और खूब सारी अन्य सब्ज़ियां

शुक्तो एक बंगाली डिश है। इसमें बहुत सारी सब्ज़ियों को मसालों के साथ मिलाकर बंगाली स्टाइल में बनाया जाता है। करेला इस डिश की मुख्य सामग्री होती है। डिश एक मिल्की करी यानी दूध से बनी करी की तरह होती है। इसमें थोड़ा सा तीखापन और थोड़ी सी कड़वाहट होती है। इसे बनाना बहुत आसान है। लुची आलू दम के बाद शुक्तो बंगाली घरों में पसंद किये जानेवाली दूसरी डिश है।

‘पावक्का खिचड़ी’

इस डिश का नाम सुनते ही सभी केरल वासियों के मुंह में पानी आ जाता है
इस डिश का नाम सुनते ही सभी केरल वासियों के मुंह में पानी आ जाता है

पावक्का खिचड़ी ‘गॉड्स ओन कंट्री’ यानी केरल का लोकप्रिय व्यंजन है। इसे खाते ही आपको भी यकीन हो जाएगा की दही और करेले को एक साथ खाने के लिए इससे बेहतर डिश ओर कोई नहीं हो सकती है। केरल की तड़कती गर्मी में पावक्का खिचड़ी खाने से शरीर की गर्माहट दूर होती है और शरीर में ठंडक बनी रहती है।

‘कीमा करेला’

कीमा करेला को भरवां करेला भी कहते हैं
कीमा करेला को भरवां करेला भी कहते हैं

इस लज़ीज़ और स्वादिष्ट डिश को बनाने के लिए करेले के बीज निकालकर करेले में मसालेदार मीट भरा जाता है। फिर करेले को एक पतले धागे से लपेटा जाता है ताकि उसमे से मीट बाहर ना गिरे। अब इन करेले के टुकड़ो को थोड़े तेल में फ्राई कर परोसा जाता है। यह कीमा करेले बहुत ही स्वादिष्ट होते हैं।

करेले से बनी इनके जैसी और भी बहुत सी डिशेस हैं जिसे खाते ही आपको करेला पसंद आने लगेगा। इसलिए जाएं और जल्दी से इन डिशेस को खाने का लुत्फ़ उठाएं।

This is aawaz guest author account