अक्सर शिवरात्रि के मौके पर लोग अक्सर छुट्टियों का मज़ा लेते हैं। इस मौके पर भले ही घर पर उपवास का सात्विक खाना बने, पर मीठे पकवानों के स्वाद में कोई नहीं आती। यदि आप हमेशा की तरह उपवास में बननेवाले आलू और शकरकंद के हलवे से ऊब चुके हैं, तो उपवास के मीठे पकवानों की ये लिस्ट आपके लिए फायदेमंद होगी। आज हम आपको बताने जा रहे हैं उपवास में बनाए जानेवाले उन मीठे पकवानों के बारे में, जो हैं कुछ हट कर।

लौकी की खीर

यह खीर गर्म तो खाई ही जाती है, साथ ही इसे ठंडा खाना भी लोग पसंद करते हैं।

credit: wordsmithkaur.com

उपवास की ये स्पेशल और पचाने में आसान लौकी खीर एक ऐसा मीठा पकवान है, जिसे लोग बड़े चाव से खाते हैं। यह आपको एनर्जी भी देती है और आपके खाने का स्वाद भी बढ़ाती है। इसे बनाने के लिए आपको लौकी को कीसकर उसका पानी अलग करना होता है। इसके बाद इसे घी, फुल क्रीम दूध, शक्कर और मेवों की मदद से पकाना है। यह खीर गर्म तो खाई ही जाती है, साथ ही इसे ठंडा खाना भी लोग पसंद करते हैं।

मावा कुल्फी

जैसा कि सभी जानते हैं शिवरात्रि के बाद से हलकी-हलकी गर्मी की शुरुआत हो जाती है। इसलिए शिवरात्रि के दिन दूध और मावे से बनी कुल्फी सभी को पसंद आएगी। यह एक ऐसी स्वीट डिश है, जिसे बच्चों से लेकर बूढ़ों तक सभी खाना पसंद करते हैं। इसे बनाने के लिए फुल क्रीम दूध को गाढ़ा होने तक पकाया जाता है, इसके बाद इसमें मावा, शक्कर, इलायची पाउडर और मेवे डाल कर इसे जमाया जाता है।

कुट्टू के कप केक

उपवास में जब हम गेहूं का आटा नहीं खा सकते, तो कुट्टू के आटे से बने कप केक उपवास में आपका स्वाद बढ़ा सकते हैं। इसे बनाने के लिए कप केक की रेसेपी का ही अनुसरण आपको करना होगा, बस सादे आटे की जगह आपको कुट्टू के आटे का इस्तेमाल करना है। इसमें भी आम कप केक की तरह मलाई, मेवे, शक्कर, दूध पाउडर, बटर के साथ-साथ दूध का इस्तेमाल होता है।

बादाम का हलवा

यह स्वाद के साथ-साथ उपवास में हमारे शरीर को ताकत भी देता है

credit: blogspot.com

बादाम का हलवा उपवास में लोगों को बेहद पसंद आता है। यह स्वाद के साथ-साथ उपवास में हमारे शरीर को ताकत भी देता है। इसे बनाने के लिए गर्म पानी में भीगे हुए बादाम को पीसते हैं। इसके बाद इसे घी में सुनहरा होने तक सेंकते हैं। आखिर में इसमें चीनी और मेवे मिलकर गरम गरम सर्व करते हैं।

यदि आप भी इस शिवरात्रि के अवसर कुछ नया बनाना चाहते हैं, तो ये पकवान अपनी लिस्ट में ज़रूर शामिल करें।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..