भारत में अमूल एक बड़ी दूध उत्पादन करनेवाली कंपनी है, जहां से हर रोज़ हज़ारों लीटर दूध पूरे देश में भेजा जाता है। हाल ही में अमूल ने भारत में कैमल मिल्क लॉन्च किया है, जो इससे पहले भारत के कुछ इलाकों में बेचा जाता था। लेकिन अमूल की इस पहल से अब भारत भर में लोग कैमल मिल्क यानी कि ऊंटनी के दूध का सेवन कर सकेंगे। क्या आप जानते हैं, कैमल मिल्क आपके शरीर के लिए कितना फायदेमंद है? इससे पहले अपने एक भाषण में पीएम मोदी ने कैमल मिल्क के फायदों को लेकर बात की थी, जिसके बाद से पूरे देश में इसे लेकर चर्चा होने लगी थी। आज हम आपको कैमल मिल्क के ऐसे सेहतमंद फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपने पहले कभी नहीं सुने होंगे।

कैसा होता है कैमल मिल्क का स्वाद और रंग?

यह पीने में स्वादिष्ट होता है और कुछ दिनों बाद आपके शरीर को इसकी आदत आसानी से हो जाती है।

credit: patrika.com

यदि आपने इससे पहले ऊंटनी का दूध नहीं पिया है, तो जान ले के यह दूध पीने में नमकीन होता है और इसी वजह से इससे चाय नहीं बनाई जाती।लेकिन यह पीने में स्वादिष्ट होता है और कुछ दिनों बाद आपके शरीर को इसकी आदत आसानी से हो जाती है। इसका रंग हल्का पीलापन लिए होता है और इसकी सुगंध आम दूध से अलग होती है। यही वजह है कि एक ख़ास प्रोसेस से इसकी सुगंध की तेज़ी को कम किया जाता है। इसे कई आयुर्वेदिक औषधियों में भी इस्तेमाल किया जाता है, जो भारत में सबसे प्राचीन उपचार पद्धति के तौर पर जाना जाता है।

क्या है कैमल मिल्क के फायदे?

यह ऑटिज्म को आसानी से दूर कर देता है और यह याददाश्त भी बढ़ाता है

credit: stylecraze.com

कैमल मिल्क अपने आप में एक पौष्टिक ड्रिंक की तरह है, जिसके कई फायदे आपके शरीर को मिलते हैं। पर्यावरण में बदलाव के चलते शरीर कई बीमारियों की चपेट में आ सकता है, जिससे लड़ना हमारे शरीर के लिए एक चुनौती से कम नहीं। यदि आप रोज़ाना कैमल मिल्क का सेवन करते हैं तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और आप आसानी से बीमारियों का सामना कर सकते हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी कि कैमल मिल्क बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद है, इसे पीने से दिमाग तेज होता है। खास तौर पर ऑटिज्म जैसी समस्याएं कैमल मिल्क से खत्म हो सकती है। यह ऑटिज्म को आसानी से दूर कर देता है और यह याददाश्त भी बढ़ाता है। यदि आप रोजाना इसका सेवन करते हैं तो दूसरों की तुलना में आपका दिमाग तेजी से काम करता है। इसके अलावा रोजाना कैमल मिल्क के सेवन से आपको मानसिक समस्याएं नहीं होती। जिन लोगों को मानसिक समस्याएं जैसे डिप्रेशन है, उन्हें रोजाना कैमल मिल्क पीने की सलाह दी जाती है।

लोग अपनी सुंदरता को निखारने के लिए क्या कुछ नहीं करते, हजारों रुपए के कॉस्मेटिक्स और स्किन ट्रीटमेंट लेते हैं। लेकिन रोजाना कैमल मिल्क पीना आपकी त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। इसमें हाइड्रोक्सिल एसिड होता है, जिससे त्वचा की सारी गंदगी साफ होती है और त्वचा अंदर से निखरती है। कई ब्यूटी क्रीम में कैमल मिल्क का इस्तेमाल किया जाता है।

स्वस्थ रहने के लिए ज़रूरी है हमारे रक्त का साफ होना। कैमल मिल्क खून की गंदगी को आसानी से दूर कर सकता है। यह हमारे खून में मौजूद टॉक्सिंस को बाहर निकालता है और इसीलिए इसका नियमित सेवन करने से आप कई बीमारियों से दूर रहते हैं।

कई लोगों को दूध पीने के बाद अपच की समस्या हो सकती है। इस वजह से इच्छा होने पर भी लोग दूध नहीं पी पाते, लेकिन कैमल मिल्क बहुत ही पौष्टिक होता है और यह आसानी से पच जाता है। गाय या भैंस के दूध के मुकाबले ऊंटनी का दूध पेट की समस्या नहीं बढ़ाता, बल्कि इसमें मौजूद विटामिन, सोडियम और जिंक आपके शरीर को बेहद फायदा पहुंचाते हैं। इसमें कैल्शियम भी बड़ी मात्रा में पाया जाता है जिससे हड्डियों से जुड़ी समस्या आसानी से दूर हो जाती हैं।

यदि बीमारियों की बात करें तो ऊंटनी का दूध कुछ बीमारियों में बेहद फायदेमंद माना जाता है। जैसे कि अल्सर, डायबिटीज़, आंत में जलन, किडनी की समस्याएं, इंफेक्शन और ह्रदय रोग में भी इसका सेवन आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ऊंटनी के दूध में भरपूर मात्रा में खनिज और विटामिन मौजूद होता है, जो हमारे शरीर को फायदा पहुंचा कर इन सभी बीमारियों को जड़ से खत्म करता है।

यदि आप भी कैमल मिल्क पीने की शुरुआत करते हैं, तो यह आपके लिए सेहत की सौगात लेकर आएगा।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..