खोया और मैदे के डीप फ्राइड बॉल्स को जब मीठी, इलायची के स्वाद वाली चाशनी में डुबोया जाता है, तब बनता है स्वादिष्ट गुलाब जामुन, जिसे खाए बिना कोई नहीं रह सकता। गुलाब जामुन, जलेबी, मोदक, हलवा, खीर और पायसम ऐसी मिठाइयां हैं, जो लगभग सभी भारतीयों को पसंद आती हैं। यह सभी मिठाइयां मानो भारत का गौरव हैं, और भारतीय पकवान इनके बिना अधूरे हैं! लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारा पसंदीदा डीप फ्राइड और सुपर स्वीट गुलाब जामुन भारतीय नहीं है?

हां, आपने इसे सही सुना! गुलाब जामुन भारतीय नहीं है!

चलिए देखते हैं आखिर कैसे और कहां हुआ है गुलाब जामुन का आविष्कार –

अब शाहजहां को किन-किन चीज़ों के लिए शुक्रिया कहा जाए ? ताजमहल या फिर गुलाब जामुन?
अब शाहजहां को किन-किन चीज़ों के लिए शुक्रिया कहा जाए ? ताजमहल या फिर गुलाब जामुन?

कहा जाता है कि शाहजहां के शाही रसोइये ने अनजाने में ही इस मीठे पकवान का आविष्कार किया था। इस मिठाई को बनाने के लिए उन्होंने फ़ारसी और तुर्की मिठाइयों और स्थानीय हलवाइयों से प्रेरणा ली थी। फारसी का बाम्हे और तुर्की का तुलुम्बा वास्तव में गुलाब जामुन के समान ही लज़ीज़ हैं। यह भी डीप फ्राइड डोनट्स हैं जिन्हें गुलाब और चीनी के सिरप में डुबोया जाता है। इन व्यंजनों को ठंडा परोसा जाता है।

फारसी मिठाई
फारसी मिठाई

ऐसा कहा जाता है कि फारसियों ने इस डिश को मीठे डीप फ्राइड पकोड़ो के रूप में भारत लाया था। लेकिन हमने इसे एक भारतीय रूप दे दिया है! इसे अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए हमने इसमें इलायची और खोये को मिलाया था। साथ ही इन पकोड़ों को गोल आकार भी हम ही ने दिया था। गुलाब जामुन, यह नाम वास्तव में ‘गुलाब’ से आया था, जिसका अर्थ फारसी में गुलाब जल होता है। इसे गुलाब के सिरप और जामुन के साथ परोसा जाता था। तो इस तरह से बनाए जाते थे हमारे गुलाब जामुन।

अरबी लुकमत अल कादी
अरबी लुकमत अल कादी

इस व्यंजन की तुलना अरबी डिश लुकमत अल कादी से की जाती है, जिसमें डीप फ्राइड आटे के बॉल्स पर शहद और चीनी को छिड़का जाता हैं। इस पकवान का मिश्रण हमारे भारतीय गुलाब जामुन के मिश्रण से बहुत अलग है इसलिए दोनों ही रेसिपीज़ में बहुत अंतर है।

समय के साथ, गुलाब जामुन देश के सबसे लोकप्रिय व्यंजनों में से एक बन गया है। अब यह विविध प्रकारों में बनाया जाता है, जैसे कि पंटुआ आदि। भारतीयों ने इस व्यंजन को अपनाया और बहुत पसंद किया है, और इसकी लोकप्रियता समय के साथ बढ़ती गयी है।

पंटुआ
पंटुआ

गुलाब जामुन का आविष्कार भले ही भारत में ना हुआ हो, लेकिन यह सबसे लोकप्रिय भारतीय व्यंजनों में से एक है, और लोग गुलाब जामुन को पूरी दुनिया में भारत के साथ ही जोड़ते हैं।

खैर, अब मेरे मुंह में तो पानी आ रहा है! चलिए जाकर कुछ गुलाब जामुन खाएं।

अपने सपनो को पूरा करने की ताक़त रखती हूँ। अभिलाषी हूं और नई चीज़ों को सीखने की इच्छुक भी। एक फ्रीलान्स एंकर। मेरी आवाज़ ही नहीं, बल्कि लेखनी भी आपके मन को छू लेगी। डांसिंग और एक्टिंग की शौक़ीन। माँ की लाड़ली और खाने की दीवानी।