आजकल हम चाय और कॉफी के अलावा कुछ हेल्दी ऑप्शंस की ओर झुकाव रखने लगे हैं। लोग ग्रीन टी, ग्रीन कॉफी जैसी चीजों को अपने दैनिक जीवन में शामिल कर रहे हैं। आपने ग्रीन कॉफी के बारे में तो जरूर सुना होगा, लेकिन इसे पीना चाहिए या नहीं आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

क्या है ग्रीन कॉफी?

The vibrant green matcha powder
ग्रीन कॉफी वजन घटाने में मददगार साबित होती है

ग्रीन टी के साथ ही अब ग्रीन कॉफी भी चर्चा में आने लगी है। यह असल में कच्चे कॉफी बीन्स होते हैं, इन्हें इसी स्वरुप में पीसकर काम में लाया जाता है। यह प्राकृतिक और कच्चे रूप में होते हैं, इसलिए इसे ग्रीन कॉफी का नाम दिया गया है। दुनिया भर में कॉफी के इन बीजों का प्रयोग वजन घटाने के लिए किया जा रहा है। लोग तेजी से ट्रेंड को अपना रहे हैं। ग्रीन कॉफी वजन घटाने में मददगार साबित होती है। लेकिन वहीं सके कुछ साइड इफेक्ट भी हैं।

जिन लोगों को डायबिटीज़, ब्लड प्रेशर की समस्या है, तो उन लोगों को ग्रीन कॉफी से दूर रहना चाहिए।
जोखिम भरा हो सकता है ग्रीन कॉफी का सेवन
किसी भी चीज का अधिक इस्तेमाल करने से तकलीफ हो सकती है। कुछ मामलों में देखे गए हैं यदि आप जरूरत से ज्यादा ग्रीन कॉफी लेते हैं, तो आपको सिर दर्द, पेट की खराबी की समस्या हो सकती है। इसमें मौजूद कैफीन की मात्रा के कारण ग्रीन कॉफी का सेवन को नुकसान पहुंचा सकता है। जिन लोगों को डायबिटीज़, ब्लड प्रेशर की समस्या है, तो उन लोगों को ग्रीन कॉफी से दूर रहना चाहिए।
साथ ही इसे लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए। खासतौर पर बच्चों और गर्भवती महिलाओं को जो स्तनपान करा रही हों। वहीं कुछ विशेष दवाइयों के सेवन के साथ ग्रीन कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए।
यदि आप ग्रीन कॉफी लेने के बारे में सोच रहे हैं, तो इससे जुडी इन बातों पर ज़रूर गौर करें।
मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..