सेहतमंद रहने के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल के साथ-साथ अच्छा खानपान भी बेहद ज़रूरी है। आजकल लोग फिटनेस को लेकर काफी सजग हैं। केवल एक्सरसाइज ही नहीं, कई फिटनेस प्रेमी भूख लगने पर नियमित खाने के अलावा डाइट फ़ूड भी लेते हैं क्योंकि वो ये मानकर चलते हैं कि इससे उनकी सेहत बनी रहेगी। डाइट फूड्स के बारे में यह प्रचलित है कि उनमें कम फैट या ज़ीरो फैट या कम कैलोरी होती हैं जिसे खाने से सेहत पर बुरा असर नहीं पड़ता लेकिन ऐसा नहीं है। मार्केट में मिलने वाले डाइट फूड्स भले ही हेल्दी समझे जाते हैं लेकिन यह हानिकारक भी साबित होते हैं। आइये आपको बताते हैं कुछ ऐसे ही फ़ूड आइटम्स के बारे में जिन्हें हम सेहतमंद मानने की गलती कर बैठते हैं और अनजाने में अपनी सेहत को नुकसान पहुंचा लेते हैं।

कहीं आप हेल्दी समझकर तो नहीं खा रहे ये डाइट फूड्स?

डाइट सोडा बढ़ाता है वजन

Image Credit: www.healthline.com

स्मूदी और प्रोटीन शेक: डायटीशियन अमिता सिंह के मुताबिक, आजकल फिटनेस के प्रति जागरूक लोग ख़ुद भी प्रोटीन शेक और स्मूदी लेते हैं और दूसरों को भी इन्हें पीने की सलाह देते हैं। इन्हें नाश्ते और लंच या लंच और डिनर के बीच के टाइम में लिया जाता है ताकि खाना खाने के बाद लगने वाली भूख को शांत किया जा सके और आपको पेट भरा हुआ महसूस हो। मार्केट में मिलने वाले कुछ प्रोटीन शेक और स्मूदी फायदेमंद होते हैं लेकिन कुछ में ज़रूरत से ज्यादा कैलोरीज और शक्कर होती है। कभी-कभी यह कैलोरी काउंट 400 कैलोरीज से भी ज्यादा मात्रा में पहुंच जाता है और आपको वजन बढ़ने, हाई ब्लड शुगर होने की सम्भावना को भी बढ़ा देता है।

सूखे फल: सूखे फल-मेवे जैसे खजूर, खुबानी और सेब आदि फाइबर, विटामिन और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर ज़रूर होते हैं लेकिन इनमें ताज़े फलों के मुकाबले मीठापन ज्यादा होता है। लगातार इन्हें खाने से शरीर में शक्कर की मात्रा बढ़ने लगती है इसलिए इन्हें डाइट में कम से कम शामिल कर मौसमी फलों का लुत्फ़ उठाएं तो यह आदत सेहत के लिए नुकसानदायक नहीं बल्कि फायदेमंद साबित होगी।

पैकेज्ड डाइट फ़ूड: डाइट कुकीज, चिप्स और अन्य खाद्य उत्पाद फायदा नहीं नुकसान करते हैं क्योंकि इनमें कई प्रकार के प्रीज़र्वटिव, अन्हेल्दी फैट और आर्टिफिशियल स्वीटनर्स मिलाए जाते हैं जिनसे शरीर को नुकसान पहुंचता है। ब्लड शुगर बढ़ने, पेट संबंधी बीमारियां आदि भी हो सकती हैं।

आप भले ही हेल्दी समझकर डाइट सोडा की एक या उससे अधिक बोतलें पी जाते हैं और सोचते हैं कि इससे वजन नहीं बढ़ेगा लेकिन ऐसा होता नहीं है। उल्टा इससे वजन तो बढ़ता ही है और हाई ब्लड शुगर लेवल और ब्लड प्रेशर की समस्या भी हो जाती है। यह पेट में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया को भी समाप्त कर देता है।

स्वीटनर्स: कई लोग नैचुरल शुगर या चीनी को चाय,शरबत या किसी मीठे खाद्य पदार्थ में इस्तेमाल नहीं करते। वह इसे हानिकारक मानकर मार्केट में मिलने वाले स्वीटनर का प्रयोग करते हैं और सोचते हैं कि इससे वह चीनी से होने वाले नुकसान से बच जायेंगे लेकिन ऐसा होता नहीं है क्योंकि इसे लेने से भी वजन बढ़ता है इसलिए अगर शक्कर नहीं खाने का फैसला लिया है तो नैचुरल और आर्टिफिशियल दोनों तरह की शुगर को डाइट में शामिल न करें।

This is aawaz guest author account