कैंसर किसी को भी किसी भी उम्र में हो सकता है। भले ही आप हेल्दी ही लाइफस्टाइल क्यों न फॉलो कर रहे हों, कैंसर और दिल की बीमारियों से मरने वाले स्त्री और पुरुषों की संख्या में हर साल इजाफ़ा हो रहा है। साल 2018 में 11,57,294 के नए केस सामने आए थे जबकि कैंसर से मरने वालों की संख्या 7,84,821 तक जा पहुंची थी। यह आंकड़ें GLOBOCAN 2018 के डेटा के अनुसार हैं। इससे पहले डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार यह बात सामने आई थी कि कैंसर पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को हो रहा है हालांकि इससे मरने वालों में महिलाओं के लिए मुकाबले पुरुषों की संख्या ज्यादा है।

भारतीय महिलाओं को ब्रेस्ट,सर्विक्स,लंग,गैस्ट्रिक और ओरल कैंसर ज्यादा हो रहा है। इससे बचने के लिए कोई ऐसे खाद्य पदार्थ तो नहीं हैं जो इसकी रोकथाम कर दें लेकिन एक अच्छी लाइफस्टाइल, सेहतमंद डाइट से ज़रूर कैंसर के रिस्क को कम किया जा सकता है। आज हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे ही फ़ूड आइटम्स के बारे में जिनके बारे में कई रिसर्च में भी सामने आया है कि उन्हें डाइट में शामिल करने से कैंसर होने का रिस्क अपेक्षाकृत रूप से कम हो जाता है।

पुरुषों के मुकाबले महिलाएं ज्यादा हैं कैंसर की शिकार

गाजर खाने से कम होगा कैंसर होने का खतरा

Image Credit: vegetables.co.nz

गाजर: डॉक्टर अमित जैन के मुताबिक, गाजर में कैरोटिनॉइड और अन्य विटामिन्स के साथ-साथ फिनोलिक कंपाउंड की भरपूर मात्रा होती है जिससे कई तरह के कैंसर के रिस्क कम होते हैं क्योंकि इसमें कैंसर से लड़ने की क्षमता होती है। इसे लगातार खाने से प्रोस्टेट, लंग और पेट के कैंसर के रिस्क को रोका जा सकता है।

हल्दी: हल्दी में करक्यूमिन नाम का असरदार कंपोनेंट होता है जिसमें एंटी-इन्फेल्मेट्री, एंटी-कैंसर कारक भी होते हैं। साथ ही यह एक एंटी-ऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। हर किचन में मौजूद प्रमुख मसालों में से एक हल्दी में किसी भी तरह के कैंसर को पनपने या रोकने की क्षमता होती है।

लहसुन: कई रिसर्च में यह साबित किया गया है कि लहसुन में मौजूद गुणों की वजह से यह कैंसर सेल की ग्रोथ को रोक देता है। खाने में जितना लहसुन शामिल करेंगे,आपके अंदर कैंसर सेल पनपने के चांस कम होते चले जाएंगे और पेट के कैंसर, प्रोस्टेट और कोलोरेक्टल कैंसर की संभावना कभी पनप भी नहीं पायेगी।

बीन्स: बीन्स फाइबर से भरपूर होते हैं क्योंकि इससे कोलोरेक्टल ट्यूमर और कोलोन कैंसर रुकता है। इसके साथ ही ज्यादा फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ लेने से आपको लम्बे समय तक भूख नहीं लगती और नतीजतन आप वजन कम करने में भी सफल होते हैं। इसके अलावा इसे खाने से ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रोल का स्तर भी होता है।

ब्रोकली: कई सेहतमंद खानों के साथ-साथ ब्रोकली में भी सेहत का खजाना छुपा हो सकता है इसलिए इसे डाइट में ज़रूर शामिल करना चाहिए क्योंकि इसमें सल्फोराफेन नाम का कंपाउंड होता है जिसमें एंटी-कैंसर प्रॉपर्टीज होती हैं।कई रिसर्च में यह साबित हुआ है कि सल्फोराफेन से ब्रेस्ट कैंसर सेल्स के आकार और संख्या में 75 प्रतिशत तक की कमी आती है।

This is aawaz guest author account