डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर का ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। इसमें फिज़िकल एक्टिविटी के अलावा स्ट्रिक्ट डाइट प्लान फॉलो करने की भी सलाह दी जाती है। डायबिटीज से जूझ रहे लोगों को अपना खाना चुनते वक्त काफी सावधानियां भी बरतनी पड़ती हैं जिससे शरीर में शुगर की मात्रा कंट्रोल में रहे,खाना आसानी से पचे और ग्लाइकेमिक इंडेक्स भी कम बना रहे। आमतौर पर देखा जाता है कि डायबिटीज के मरीजों को यह पता नहीं होता कि ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए कौन से खाद्य पदार्थ हैं जिन्हें अपनी डाइट में शामिल ना करें। आज हम आपको बताते हैं इन्हीं फूड आइटम्स के बारे में जो डायबिटीज के दौरान नहीं खाने चाहिए वरना समस्या और बढ़ सकती है।

डायबिटीज है तो इन खाद्य पदार्थों को ना लगाएं हाथ

शहद से भी बढ़ेगी मुश्किल

Image Credit:thehealthsite.com

शहद प्राकृतिक स्वीटनर होता है जिसमें नैचुरल शुगर के साथ-साथ कार्बोहायड्रेट भी मौजूद होते हैं इसलिए इसे न खाएं।

पैकेज्ड फूड्स: डायटीशियन अमिता सिंह के मुताबिक, पैकेट बंद खाद्य पदार्थ जैसे चिप्स, कुकीज़, पीनट बटर आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ाने का काम करते हैं। आमतौर पर देखा जाता है कि जो लोग जिम जाते हैं या एक्सरसाइज़ करते हैं वो नाश्ते में काफी पीनट बटर खाते हैं। इससे बचें नहीं तो डायबिटीज और ज्यादा बढ़ सकती है।

तला-भुना खाना: कई लोगों को ये धारणा रहती है कि डायबिटीज में नमक वाला तला-भुना खाना हानिकारक नहीं होता क्योंकि इसका शुगर लेवल से क्या सम्बन्ध? लेकिन यह धारणा गलत है। दरअसल,डीप फ्राय करने से पहले फ़ूड आइटम्स को बेटर(कोटिंग) लगायी जाती है जिसमें कार्बोहाइड्रेट होते हैं। अगर आप डीप फ्राय के लिए रिफाइंड ऑइल का उपयोग कर रहे हैं तो ये और भी ख़तरनाक है इसकी जगह आप ऑलिव ऑइल का उपयोग करें तो बेहतर है।

डेयरी प्रोडक्ट्स: क्रीम चीज़, आइसक्रीम, फुल क्रीम दूध में सैचुरेटेड फैट होते हैं जिससे इंसुलिन गड़बड़ा जाता है। इसलिए फुल क्रीम वाले डेयरी प्रोडक्ट्स को डाइट से बिल्कुल दूर कर दें और उनकी जगह फैट फ्री प्रोडक्ट्स खाएं।

मीट: बीफ़,मछली खाने से शरीर में सैचुरेटेड फैट की मात्रा बढ़ती है जिससे हार्ट की बीमारियों का रिस्क होता है। इससे कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ता है इसलिए बेहतर है कि इसकी जगह चिकन खाएं।

व्हाइट पास्ता: अगर आपको व्हाइट पास्ता बहुत पसंद है और आप डायबिटिक हैं तो इससे दूर हो जाएं क्योंकि इसमें कार्बोहाइड्रेट बहुत होता है जो स्वास्थ्य के लिए सही नहीं होता।

सूखे फल: फल नैचुरल शुगर के बेहतरीन स्रोत होते हैं और इनमें विटामिन और मिनरल्स भी भरपूर होते हैं लेकिन जब यह सूख जाते हैं तो इनमें से पानी की मात्रा ख़त्म हो जाती है और इनमें मौजूद शक्कर और ठोस हो जाती है। इसलिए सुखाकर रखे फलों को खाने के बजाए ताज़ा फलों को तवज्जों दें तो बेहतर है।

This is aawaz guest author account