आपने एडिबल एग आर्ट के बारे में तो सुना ही होगा, बड़े-बड़े होटलों में जब लोगों के सामने बॉयल्ड एग पेश किए जाते हैं, तो उन्हें बेहतरीन और खूबसूरत ढंग से सजाया जाता है। इन दिनों लोगों के बीच एडिबल एग आर्ट जोर पकड़ रहा है। बॉयल्ड एग को लोगों के सामने पेश करने से पहले लोग इसे अलग-अलग तरह से सजाते हैं, जो दिखने में बेहद सुंदर होते हैं और खाने में स्वादिष्ट।

ज़रा देखिए इस वीडियो को, जिसमें उबले हुए अंडे को चार अलग-अलग जानवरों की शक्लों में सजाया गया है। इस तरह अंडे को सजा कर किसी के सामने रखा जाए, तो किसी की भी भूख जाग जाएगी। आप भी घर में ट्राई करें इस ट्रिक को, जिसे आपके मेहमान दिलचस्पी के साथ खाएंगे।

 https://youtu.be/LwqFvwGjLw4

ये तो हुई एडिबल एग आर्ट की बात, अब आइए आपको बताते हैं अंडो के बारे में कुछ रोचक फंडे!

 
एक एवरेज मुर्गी साल में 300 से 325 अंडे देती है
क्या आप जानते हैं?

क्या आप जानते हैं कि अंडे उबालते वक्त लोग कंफ्यूज हो जाते हैं कि अंडा बॉईल हो चुका है या नहीं? खैर अनुभवी लोग इसे एक चुटकी में पहचान जाते हैं। बस आपको अंडे को घुमाकर देखना है। यदि यह आसानी से घूम जाता है, तो अंडा बॉईल हो चुका है और यदि यह ना घूमें, तो इससे आपको और बॉईल करना है।

क्या आप जानते हैं, एक एवरेज मुर्गी साल में 300 से 325 अंडे देती है। एक मुर्गी को यह अंडे उत्पन्न करने में 24 से 26 घंटे लगते हैं। जैसे-जैसे मुर्गी वयस्क होती जाती है, यह बड़े साइज के अंडे प्रोड्यूस करती है।

 क्या आप जानते हैं ब्राउन एग यानी भूरे अंडे सफेद अंडे से महंगे क्यों होते हैं? इसका कारण यह नहीं है कि वह ज्यादा पौष्टिक होते हैं, बल्कि इसका कारण है कि भूरे अंडे देने वाली मुर्गी सफेद अंडे देने वाली मुर्गी की तुलना में बड़ी होती है और उसे अधिक खाने की ज़रूरत पड़ती है। यही वजह है कि ऐसी मुर्गी पालने वाले लोगों को इसकी वजह से ज़्यादा खर्च करना पड़ता है।

क्या आप जानते हैं कि एक मुर्गी अंडे को दिन भर में लगभग 50 बार उलट-पलट करती है, जिससे अंडे का अंदरूनी भाग किनारों से ना चिपके। अंडे कई रंग के होते हैं, लेकिन इन रंगों के अलग होने की वजह यह नहीं कि इसमें पोषक तत्व कम होते हैं, बल्कि इनमें रंगों के अंतर का केवल एक ही कारण है अनुवांशिकता।

क्या आप जानते हैं कि सबसे तेज दो अंडों का आमलेट बनाने का  विश्व रिकॉर्ड अमेरिका के होवार्ड हेलमेर के पास है। उन्होंने 30 मिनट में 427 आमलेट बना कर गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया था।
तो देर किस बात की, आप भी अंडों के रोचक तथ्यों को पढ़ते-पढ़ते इस एडिबल एग आर्ट का नमूना लोगों के सामने पेश कर ही दीजिए। क्या पता आप इसी के बूते लोगों के बीच फेमस हो जाएं।
मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..