कई बार हमें दिन भर में कुछ खाने की तीव्र इच्छा होती है जैसे कभी मीठा, कभी नमकीन, कभी चॉकलेट,कभी केक आदि,क्या आप जानते हैं कि ऐसा क्यों होता है? दरअसल, किसी चीज को खाने की तीव्र इच्छा को फूड क्रेविंग कहा जाता है जिसके जरिए बॉडी कुछ संकेत देती है। इसके जरिए शरीर ये संकेत देता है कि आप के अंदर किसी पोषक तत्व की कमी है। कई बार हमारी डाइट में कुछ ऐसे पोषक तत्व छूट जाते हैं जिसकी शरीर को ज़रुरत होती है। अगर डाइट में मिनरल, विटामिन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट की कमी हो तो फूड क्रेविंग के जरिए हमें सिग्नल मिलते हैं। आइये जानते हैं फूड क्रेविंग के बारे में…

जब हो मीठा खाने का मन: डायटीशियन मंजरी ताम्रकार के मुताबिक, थोड़ी सी शुगर खाने का मन करे तो अच्छी बात है लेकिन जब आपको मिठाई, डेज़र्ट, आइसक्रीम खाने की इच्छा होने लगे तो बॉडी आपको संकेत दे रही है कि आपके खाने में क्रोमियम और ज़रुरी मिनरल्स जैसे कार्बन,फॉस्फोरस, सल्फर, ट्रिपटोफैन की कमी है जिसकी ज़रुरत आपके दिमाग को होती है। ऐसे में जब भी मीठे की क्रेविंग हो तो अपनी डाइट में अंगूर, ब्रोकली, चिकन,कच्चे फल, पालक, ड्राई फ्रूट्स जैसे किशमिश, बादाम और अखरोट शामिल करें क्योंकि ये चीजें ना सिर्फ आपकी बॉडी में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करेगी, बल्कि आपको ज़्यादा शक्कर से बने पदार्थ खाने से बचाएगी।

फूड क्रेविंग के जरिए यह ज़रुरी संकेत देता है शरीर

कैqल्शियम की कमी का संकेत ऐसे देता है शरीर

Image credit: hearstapps.com

जब करे चटपटा खाने का मन: चिप्स, तले भुने स्नैक्स खाकर अपनी क्रेविंग मिटाने का मन करे तो आपको कार्बोहाइड्रेट और सोडियम नहीं, बल्कि कैल्शियम की कमी होने का संकेत है। जब आप चिप्स जैसा कोई स्नैक खाते हैं तो उसमें सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है। शरीर उसे कैल्शियम मानकर कन्फ्यूज हो जाता है लेकिन वो कैल्शियम नहीं होता। इस स्थिति से बचने के लिए कैल्शियम से भरपूर आइटम्स जैसे कच्चा दूध,चीज़ और सब्जियां डाइट में शामिल करें तो फायदा होगा।

नमकीन खाने की इच्छा: अगर आपका एकदम से कुछ नमकीन खाने का मन करे तो आपकी बॉडी में क्लोराइड और सिलिकॉन का स्तर नीचे होता है। यह क्रेविंग प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत ही कॉमन है और कई बार कई अधिक समय तक भी रहती है। यह क्रेविंग स्ट्रेस और लो-सोडियम लेवल की वजह से होती है।

ब्रेड,पास्ता,पिज्जा खाने का करे मन: ब्रेड कार्बोहाइड्रेट का लोकप्रिय स्रोत है। अगर नियमित तौर पर आपको ब्रेड, पिज्जा, पास्ता,सैंडविच खाने का मन करे तो आपके शरीर में नाइट्रोजन की कमी हो सकती है। चूकि यह सभी खाद्य पदार्थ आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं इसलिए इनकी जगह हाई प्रोटीन फ़ूड जैसे अलसी, सेब को डाइट में शामिल करें और अगर नॉन-वेज खाते हैं तो मीट,मछली भी खा सकते हैं,इससे नाइट्रोजन की कमी शरीर से पूरी होगी।

This is aawaz guest author account