मुंबई मॉनसून में जितनी खूबसूरत दिखाई देती है, यहां का खाना रिमझिम बारिश में दोगुना स्वादिष्ट लगता है। मुंबई के कुछ खास व्यंजनों में यहां की भेलपुरी, वड़ा, पूरनपोली, दही बटाटा पुरी, पाव भाजी, मिर्ची कचौरी खास है। लेकिन यदि आपको इन व्यंजनों को खाने की सही जगह मालूम हो, तो ही आप इस स्वादिष्ट खाने का लुत्फ़ उठा सकते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी ही जगहों के बारे में, जहां इन चटपटे व्यंजनों का स्वाद आप जी भरकर ले पाएंगे।

भेलपुरी-पानीपुरी: मुंबई में पानीपुरी और भेलपुरी का जिक्र आपने सब से सुना होगा। आप सोचेंगे कि यदि हम मुंबई में है, तो इस स्वाद का आनंद लेना तो बनता है। इसीलिए आपको भेलपुरी और पानीपूरी खाने के लिए बांद्रा के कराची स्वीट ज़रूर जाना चाहिए। जहां का स्वाद आप ज़िंदगी भर याद रखेंगे।

गर्म पोहा और साबूदाना वडा: गर्म पोहा और साबूदाना वडा यहां का फेवरेट नाश्ता है। लोग अक्सर सुबह-सुबह यही नाश्ता खाना पसंद करते हैं। यदि आप महानगर पालिका मार्ग से जा रहे हो, तो आप गरमा गरम पोहे का मज़ा उठा सकते हैं। बारिश में गरम गरम पोहे और चाय की चुस्कियों की बात ही कुछ निराली है।

बारिश में गरम गरम पोहे और चाय की चुस्कियों की बात ही कुछ निराली है

फिरनी और मालपुआ: यदि आप ठेठ मीठा खाना पसंद करते हैं, तो आपको भिंडी बाजार और नूर मोहम्मद में सड़क के किनारे लगने वाले ठेले से फिरनी और मालपुआ मिल जाएंगे। यहां का स्वाद चखना आपके लिए बेहद ज़रूरी है। इस फिरनी को खा कर फिर आपको कुछ और पसंद नहीं आएगा।

चॉकलेट चाय: यदि आपने चॉकलेट चाय का कांसेप्ट नहीं सुना है और आपको इस मूसलाधार बारिश में गरमा गरम चॉकलेट चाय का मज़ा लेना है, तो आपको दादर के पश्चिमी इलाके में जाकर चॉकलेट चाय का लुत्फ़ उठाना चाहिए।

दादर के पश्चिमी इलाके में जाकर चॉकलेट चाय का लुत्फ़ उठाना चाहिए

शाकाहारी भोजन: यदि आप कम दामों में शाकाहारी भोजन करना चाहते हैं, जो सस्ता और स्वादिष्ट भी हो, तो आपको माटुंगा केंद्रीय स्टेशन के पास राम नायक उडुपी में जाकर दक्षिण भारतीय खाने का स्वाद लेना चाहिए। अगर आप बांद्रा इलाके में है, तो लकी रेस्टोरेंट जाकर आप मनपसंद खाना खा सकते हैं, यह रेस्त्रां बिरयानी के लिए खासतौर पर प्रसिद्ध है। वहीं यदि आपको कोंकणी खाना पसंद हैं, तो आपको बांद्रा के पास अपना बाज़ार इलाके में कई रेस्त्रां मिल जाएंगे। वही बांद्रा में स्थित साइबर रेस्त्रां भी कोंकणी खाने के लिए बेहद मशहूर है।

यदि आप भी मुंबई आए हैं और यहां की मशहूर डिशेस का स्वाद चखना चाहते हैं, तो इन रेस्त्रां में ज़रूर जाएं।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..