शकरकंद या स्वीट पोटैटो अपने स्वाद के लिए लोकप्रिय है। स्टार्च से भरपूर यह कंद आसानी से उपलब्ध होता है और इसे खाने से स्वास्थ्य को काफी लाभ भी होते हैं। इसे उबालकर, बेक कर, फ्राय कर जैसे चाहें खाया जा सकता है। आज हम आपको बताते हैं शकरकंद से मिलने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है

डायटीशियन अमिता सिंह के मुताबिक, शकरकंद में विटामिन ए भरपूर मात्रा में होता है जिसकी वजह से यह इम्यून सिस्टम को मज़बूत करता है। इसमें बीटा-कैरोटीन नाम का एक कंपाउंड होता है जो कि विटामिन ए में परिवर्तित होता है और इम्यून सिस्टम मज़बूत बनाता है।

अल्सर में भी फायदेमंद

पेट के अल्सर बहुत ही दर्दनाक होते हैं। इसमें शकरकंद खाने से काफी राहत मिलती है। दरअसल, इस कंद की जड़ में मेथनॉल के अंश होते हैं जिससे अल्सर में छिल चुके गैस्ट्रोइंटेसटाइनल टिश्यू को भरने की क्षमता होती है।

डायबिटीज में भी राहत देता है

Image Credit: aspiretrainingteam.co.uk

डायबिटीज़ से पीड़ित लोगों को शकरकंद खाने से कई फायदे होते हैं।दरअसल, इन्हें ग्लायसेमिक इंडेक्स स्केल पर कम आंका जाता है क्योंकि इनमें इन्सुलिन रेसिस्टेंस कम करने की क्षमता होती है जिसकी वजह से यह ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर मैनेज करने में सहायक होते हैं। स्टार्च से भरपूर अन्य खाद्य पदार्थों की तुलना में शकरकंद शक्कर को खून में धीरे-धीरे प्रवाहित करता है जिससे शुगर लेवल मेंटेन होता है और बढ़ नहीं पाता।

स्ट्रेस करे मैनेज:

शकरकंद में बड़ी मात्रा में मिनरल मैग्नीशियम होता है जिससे शरीर की कार्यप्रणाली सुधरती है।मैग्नीशियम स्ट्रेस भी कम करने में मदद करता है। कई स्टडीज में सामने आया है कि डिप्रेशन से जूझने के दौरान मैग्नीशियम की कमी हो जाती है।

कैंसर रोकने में भी सहायक:

शकरकंद में एंथोसायनिन नाम का एंटी-ऑक्सीडेंट होता है जिससे कैंसर सेल के निर्माण की गति धीरे कर देती है। इससे कोलोन कैंसर की रोकथाम में मदद मिलती है।साथ ही बेटा कैरोटीन से लंग कैंसर का रिस्क कम होता है।

पाचन तंत्र करे मजबूत:

शकरकंद में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जिससे पाचन क्रिया मजबूत होती है। फाइबर से भरपूर कंटेंट खाने से कब्ज,डायरिया जैसी समस्या से निजात मिलती है। साथ ही इससे पेट की गंभीर बीमारी जैसे इरीटेबल बाउल सिंड्रोम का रिस्क भी कम होता है।

This is aawaz guest author account