कुछ पुराने रिकार्ड्स के अनुसार, बॉलीवुड फिल्में आमतौर पर चाइना में बहुत सफल नहीं होती हैं। लेकिन बॉलीवुड में केवल एक अभिनेता हैं, जिन्होंने चाइनीज़ मार्केट को इतने बेहतरीन अंदाज़ में समझ लिया है कि अब वे उसका ज़्यादा से ज़्यादा लाभ उठाते हैं। यह अभिनेता और कोई नहीं बल्कि बॉलीवुड के ‘मिस्टर परफेक्शनिस्ट’ आमिर खान है।

दंगल के चीनी वर्ज़न ‘शुआई जिआओ बाबा’ यानी (Lets Wrestle Dad) ने दुनिया भर में बहुत कमाई की।

Image Credit: Movie – Dangal

चाइना में बॉलीवुड फिल्मों को देखने का चलन फिल्म ‘3 इडियट्स’ से शुरू हुआ। इस फिल्म को चाइना में बहुत पसंद किया गया था। लेकिन असल में वो साल 2016 की ‘दंगल’ ही थी जिसने चाइना में बॉलीवुड के लिए दरवाज़े खोल दिए। दंगल के चीनी वर्ज़न ‘शुआई जिआओ बाबा’ यानी (Lets Wrestle Dad) ने दुनिया भर में बहुत कमाई की। सुनने में आया था कि इस फिल्म ने दंगल से दुगुनी कमाई की थी। कहा जाता है कि चीनी लोग इस फिल्म की कहानी और कल्चर से बहुत प्रभावित हुए और उससे बहुत अच्छे से जुड़ सके और यही इस फिल्म की सफलता का कारण भी है। जब से चाइना में ‘प्रति परिवार एक बच्चे’ का कानून जारी किया है, तब से वहां के ज़्यादातर लोग बच्चे के रूप में एक बेटा होने की इच्छा रखते हैं। ऐसे में एक ऐसी फिल्म का वहां दिखाया जाना जो कि लड़कियों की क्षमताओं, ताकत और सफलता पर बनी है, उस फिल्म का सफल होना तो लाज़मी था।

आमिर खान की ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ ने डिज़नी की ‘स्टार वार्स: द लास्ट जेडी’ को चीन में कमाई के मामले में पीछे छोड़ दिया है

Image Credit: Movie – Secret Superstar, Star Wars: The Last Jedi

आमिर खान की एक और फिल्म ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ ने डिज़नी की ‘स्टार वार्स: द लास्ट जेडी’ को चाइना में $ 117.7 मिलियन की कमाई कर बहुत पीछे छोड़ दिया था। हॉलीवुड के मुकाबले बॉलीवुड दुनिया भर में बहुत सीमित बिज़नेस कर पाती है। लेकिन आमिर की ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ का दुनिया के दूसरे सबसे बड़े फिल्म मार्केट में भारी मात्रा में सफलता पाना इंडियन फिल्म इंडस्ट्री के लिए बहुत गर्व की बात थी। साथ ही, सलमान खान की ‘बजरंगी भाईजान’ और प्रभास की ‘बाहुबली 2’ को भी चीनी दर्शकों ने खूब सराहा।

चाइना में आमिर खान के बहुत सारे फैन्स है। उनकी फिल्मों को वहां बहुत पसंद किया जाता है।

Image Credit: globaltimes.cn

बॉलीवुड के लिए सबसे बड़ी बात तो तब हुई जब चाइना के प्रेज़िडेंट ‘शी जिनपिंग’ ने कहा कि वे चाहते हैं कि बॉलीवुड की ज़्यादा से ज़्यादा फिल्मों को चाइना में दर्शाया जाए और चाइना की फिल्मों को इंडिया में। पिछले साल चाइना के प्रेज़िडेंट और इंडिया के प्राइम मिनिस्टर के बीच हुए इनफॉर्मल समिट के दौरान, उन्होंने दोनों देशों के लिए टेक्नोलॉजी और ट्रेड से लेकर फिल्मों के लिए भी एक दूसरे से हाथ मिलाने के बारे में विचार-विमर्श किया था। ‘शी’ ने यहां तक कहा कि उन्हें आमिर खान की दंगल बहुत पसंद आई। आमिर की फिल्मों की शानदार सफलता के कारण, भारत दोनों देशों के बीच बिज़नेस को बढ़ाने के लिए आमिर खान को ब्रांड एंबेसडर बनाने की योजना बना रहा है।

चाइना के लोगों और खुद प्रेज़िडेंट की बॉलीवुड फिल्मों में दिलचस्पी देखकर इतना तो साफ़ है कि आगे चलकर बॉलीवुड चाइना में बहुत कमाई करनेवाला है। लेकिन यदि बॉलीवुड को अपना यह सपना पूरा करना है, तो अब उन्हें स्मार्ट फ़िल्में बनानी होगी क्योंकि देखा जाए अब तक सिर्फ आमिर खान की फिल्मों को ही चाइनीज़ मार्केट में अच्छा रेस्पॉन्स मिला है। उनके पहले शायद बॉलीवुड को चाइना में इतना बड़ा प्लेटफार्म कभी नहीं मिला था। इसलिए यदि आगे बॉलीवुड को इसी तरह चाइना अपना नाम बनाए रखना है, तो सभी फिल्ममेकर्स को अच्छी और कंटेंट ड्रिवन फिल्म्स बनाने की ओर ध्यान देना होगा।