‘वीरे दी वेडिंग’ कालिंदी और उसकी गर्लफ़्रेंड की कहानी है। कालिंदी ( करीना कपूर) की ऋषभ (सुमित व्यास) के साथ शादी में उसके बचपन की तीनों दोस्त शामिल होती है और सारे तामझाम का हिस्सा बनती है, जो किसी शादी में होते हैं। फिल्म की कहानी आज की यंग जनरेशन को पसंद आएगी।

कालिंदी और उसकी गर्ल गैंग

इस फिल्म में करीना को लेने के लिए फिल्म की प्रोड्यूसर रिया कपूर ने एक साल इंतजार किया
इस फिल्म में करीना को लेने के लिए फिल्म की प्रोड्यूसर रिया कपूर ने एक साल इंतजार किया

फिर में कालिंदी यानी करीना कपूर की कहानी मुख्य है, जिसके साथ साथ और धीरे-धीरे चारों सहेलियों की कहानी दर्शकों के सामने आती हैं। कालिंदी को ऋषभ से प्यार हो जाता है, वो शादी करती है, उस रिश्ते को पूरी तरह निभाने की कोशिश करती है। अवनी (सोनम कपूर) की ज़िंदगी में अभी तक ऐसा कोई नहीं आया, जिसे वह अपना जीवन साथी बना सके। साक्षी (स्वरा भास्कर) किसी रिश्ते में विश्वास नहीं रखती, वह रिश्तों के दायरे में बंधना भी नहीं चाहती। वहीं शिखा तलसानिया एक विदेशी से शादी कर चुकी है और उसका एक बच्चा भी है।

फिल्म का अभिनय

फिल्म का निर्माण सोनम की बहन रिया और एकता कपूर ने किया है।
फिल्म का निर्माण सोनम की बहन रिया और एकता कपूर ने किया है।

शशांक घोष निर्देशित इस फिल्म में चारों हीरोइनों की केमिस्ट्री बेहतरीन है। अपनी ही ज़रूरतों में उलझी और उसका जवाब ढूंढती करीना का किरदार बेहतरीन है, करीना का अभिनय भी लाजवाब है। अपने जीवन साथी की तलाश में लगी सोनम भी इस किरदार के लिए एकदम फिट है। बड़े बाप की बिगड़ी औलाद के किरदार में स्वरा भास्कर ने अपने रोल में जान डाल दी है। यह शिखा तलसानिया की पहली फिल्म है, लेकिन उन्होंने बता दिया कि वह इस इंडस्ट्री में टिकने के लिए है।

फिल्म का संगीत और प्लस प्वाईंट

फिल्म का ‘तारीफ़ा’ गीत काफी समय से सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है।
फिल्म का ‘तारीफ़ा’ गीत काफी समय से सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है।

फिल्म में चारों सहेलियों के बीच की बेबाक बातचीत ही फिल्म के बेस्ट मोमेंट्स हैं। शादी से पहले सेक्स, शादी के बाद सेक्स, सेक्स की ज़रुरत, रिश्ते और रिश्तेदारी जैसे कई मुद्दों पर लड़कियों की उलझन को खूबसूरती से पेश किया गया है। फिल्म में बहुत से लाइट मोमेंट्स भी है, तो कही कही फिल्म की कहानी आपको इमोश्नल भी कर देती है। फिल्म के हर सीन में चारों सहेलियां आपको पिक्चर परफेक्ट ही दिखेंगी। गर्ल गैंग की यह कहानी आपको ब्वॉय गैंग पर बनी फिल्म ‘दिल चाहता है’ कि याद दिला देगी।

फिल्म का म्यूज़िक पहले से ही काफी हिट है। गीत ‘तारीफ़ा’ और ‘भांगड़ा’ फिल्म के बेस्ट गीत हैं। फिल्म में कुछ कमियां भी है। फिल्म की कहानी पर थोड़ा और काम किया जाता , और किरदार की बारीकियों पर और ध्यान दिया जाता, तो फिल्म और ज़्यादा खूबसूरत होती।

दोस्ती, रिश्ते, रिश्तेदारों, सेक्स, इच्छाओं और लड़कियों की ज़रूरतों को कई जगह बेबाकी से, तो कई जगह हल्के फुल्के ढंग से दिखाती इस फिल्म को देखकर, आपके पैसे ज़रुर वसूल हो जाएंगे। हॉट फ्राइडे टॉक्स इस फिल्म को 3 स्टार देता हैं।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।