यूं तो हिंदी फिल्मों में कई अभिनेताओं ने विलेन का किरदार निभाया है, लेकिन रजनीकांत के साथ फिल्म 2.0 में आ रहे अक्षय कुमार के नेगेटिव किरदार ने सभी का ध्यान आकर्षित किया है। ‘क्रो मैन’ के किरदार में दिख रहे अक्षय कुमार का इस फिल्म में नाम डॉ रिचर्ड है, जो चिट्ठी पर कुछ खतरनाक प्रयोग करता है , जिसके बाद वह लोगों को मारने लगता है। लगभग 600 करोड़ के बजट में बनकर तैयार हुई इस फिल्म में डॉक्टर यानी अक्षय कुमार के किरदार पर ही करोड़ों रुपया खर्च किया गया है। खास बात है कि अक्षय के इस किरदार का ज़िम्मा जेम्स कैमरुन की फिल्म ‘अवतार’ में मेकअप करने वाले सीएन फुट (sean Foot) को दिया गया था। फिल्म के ट्रेलर को देखकर जहां लोग इस बात के कयास लगा रहे थे कि इस लुक को कंप्यूटर ग्राफ़िक्स की सहायता से बनाया गया है, वहीं इस वीडियो के बाद एक बात तो साफ हो गई है कि यह लुक प्रोस्थेटिक्स का कमाल है। कई मैकअप मटेरियल के साथ साथ इस लुक के लिए प्लास्टर ऑफ पेरिस का प्रयोग किया गया है। कुछ दिनों पहले ही जब अक्षय कुमार ने अपने विलेन बनने के इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया, तो यह लोगों को काफी पसंद आया।

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि अक्षय कुमार को इस मेकअप को करने में 3 घंटे का समय लगता था और इसे उतारने में एक घंटे का। यह पहली बार है कि रजनीकांत और अक्षय कुमार पहली बार साथ साथ आ रहे हैं, ऐसे में कुछ तो खास होना ज़रूरी था। अक्षय अपने इस किरदार के बारे में कहते हैं, “मैंने 25 सालों में कभी भी मेकअप नहीं किया, लेकिन मैंने अपने 25 सालों की करियर का मेकअप सिर्फ इसी एक फिल्म में कर लिया है। मुझे 3 घंटे लगते थे मेकअप करने के लिए और उन 3 घंटों में कुर्सी पर बैठे बैठे ना जाने मैंने कितनी ही फिल्में देख डाली।” यही कारण है कि जितनी भी बार अक्षय कुमार ने सोशल मीडिया पर अपने लुक की तस्वीरें डाली उसे लोगों ने बेहद पसंद किया।


फिल्म 2.0 साल 2010 में आई फिल्म ‘एंथिरन’ (रोबोट) की सीक्वल है। खास बात है कि फिल्म में अक्षय कुमार के रोल के लिए कमल हसन, आमिर खान, ऋतिक रोशन और नील नितिन मुकेश से भी बात की गई थी, लेकिन कोई भी इस रोल के लिए तैयार नहीं हुआ। ख़बरें हैं कि अक्षय कुमार ने इस रोल को निभाने के लिए 80 करोड़ रुपए लिए है। फिल्म में रजनीकांत, अक्षय कुमार के साथ साथ आदिल हुसैन ,एमी जैकसन जैसे किरदार भी इस फिल्म में देखने को मिलेंगे। 29 नवम्बर को रिलीज़ हो रही यह फिल्म तमिल भाषा में शूट की गई , जिसे 14 भाषाओं में डब किया गया है।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।