बॉलीवुड में चल रहे मी टू मूवमेंट के बाद कई एक्ट्रेस ने जाने पहचाने नामों को सबके सामने लाया है। सेक्शुअल हरासमेंट के आरोप लगने के बाद कई ऐसे नाम बेपर्दा हो रहे हैं। सबसे पहले इसकी शुरुआत तनुश्री दत्ता ने की थी। उन्होंने सीनियर एक्टर नाना पाटेकर पर आरोप लगाया था कि फिल्म हॉर्न ओके प्लीज के सेट पर कथित तौर पर उन्होंने तनुश्री के साथ छेड़छाड़ की थी। इसके बाद आलोक नाथ, रजत कपूर, कैलाश खेर, विकास बहल, साजिद खान, अभिजीत जैसे कई नामचीन लोग इस मूवमेंट में सामने आये।

अब इस मुद्दे पर सैफ अली खान ने भी अपनी राय रखी है। सैफ ने हाल ही में हुए एक इंटरव्यू के दौरान 25 साल पहले हुए उनके साथ हुई बुलिंग की घटना से पर्दा उठाया है। उन्होंने मी टू को लेकर पर अपनी राय भी रखी है।सैफ अली खान ने अपने बारे में बात करते हुए बताया कि 25 साल पहले उनके करियर की शुरुआत में उनके साथ बुलिंग की घटना हुई थी, जिसे वे आज भी नहीं भूले हैं और आज भी उन्हें इस बारे में बात करते हुए गुस्सा आ जाता है। उन्होंने मीडिया के सामने बात करते हुए कहा कि लोगों के साथ किसी भी मामले में बुलिंग को सपोर्ट नहीं करना चाहिए। साथ ही वर्किंग एनवायरमेंट में ऐसी बातों को बढ़ावा नहीं देना चाहिए।

Saif Ali Khan
मैं ऐसे लोगों के साथ काम नहीं करना चाहता

उन्होंने मी टू के बारे में बात करते हुए कहा कि लोगों को महिलाओं के साथ पेश आना नहीं आता। माइंडसेट और विचारों में बदलाव लाकर हम इन चीजों को रोक सकते हैं। साथ ही जिस तरह मीडिया और सोशल मीडिया इस मुद्दे को उठा रहा है, यह बेहद जरूरी है। इसी के चलते हम ऐसी समस्या से जूझ सकते हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वे ऐसे किसी भी ऐसे शख्स से दोस्ती नहीं रखेंगे, जो इन मामलों में शामिल रहे हो। उन्होंने यह बात भी साफ थी कि आज तक ऐसे किसी शख्स को नहीं जानते, जिन्होंने ऐसी हरकत किसी महिला के साथ करने की कोशिश की हो।

साजिद खान पर लगे आरोपों को लेकर भी सैफ ने कहा कि उन्हें हमशक्ल के सेट पर ऐसा कुछ हुआ हो ऐसा याद नहीं है। लेकिन यदि यह सारी बातें सच है तो वह इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं ऐसे लोगों के साथ काम नहीं करना चाहता। जैसा यह लोग व्यवहार कर रहे हैं वह सही नहीं है।’

अब यह तो समय ही बताएगा कि मी टू मूवमेंट के साथ और कितने लोगों का नाम सामने आता है।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..