इन्द्र कुमार निर्देशित फिल्म टोटल धमाल इस हफ्ते बॉक्स ऑफ़िस रिलीज़ हो रही हैं। फिल्म में अजय देवगन, अरशद, अनिल कपूर और माधुरी जैसे सितारों के साथ साथ रितेश देशमुख भी नज़र आने वाले है। कई कॉमेडी फिल्मों का हिस्सा रह चुके रितेश अपने कई कॉमिक रोल से दर्शकों को गुदगुदा चुके है। हालांकि रितेश ने अपने करियर में कई सीरियस फिल्मों पर भी हाथ आज़माया हैं, लेकिन उन्हें सफलता कॉमेडी फिल्मों से ही मिली। रितेश का मानना है कि अलग तरह के किरदार करने के बावजूद उन्हें टाइपकास्ट कर दिया गया।

साल 2003 में फिल्म ‘तुझे मेरी कसम’ से शुरुआत करने वाले रितेश ने अपने करियर में ‘मस्ती’, ‘क्या कूल है हम, ‘धमाल, ‘टोटल धमाल, ‘हाउसफुल, ‘ग्रांड मस्ती’ जैसी कई कॉमेडी फिल्में की। इन फिल्मों की सफलता के बाद उन्हें कॉमेडी किरदार ही निर्देशक औऱ फिल्म मेकर की तरफ से मिलने लगे। रितेश मानते हैं कि उन्होंने अपने करियर में ‘नाच’ और ‘बैंजो’ जैसी फिल्मों में भी किस्मत आजमाई लेकिन सफलता हासिल नहीं कर पाए। रितेश का मानना है, “ उस समय जो फिल्म चलती थी फिर आपको उसी तरह की फिल्म मिलती थी। मैंने ‘नाच’, ‘रण’ और ‘बैंजो’ जैसी सीरियस फिल्में की, लेकिन मुझे उन फिल्मों में सफलता नहीं मिली इसलिए वैसा काम नहीं मिला। मैं मानता हूं कि मुझे कुछ हद टाइप कास्ट कर दिया गया। लेकिन मेरी सीरियस फिल्मों में सिर्फ एक ही फिल्म चली और वो थी ‘एक विलेन’ और ऐसा नहीं कि मुझे उसके बाद उसी तरह की कहानियां मिली हो, ऐसा भी नहीं हुआ।”

पहले सिर्फ बड़े सितारों के साथ ही फिल्म बनती थी


Image Credit: YouTube

रितेश ने जब अपने करियर की शुरुआत की तब बड़े सितारों को लेने का चलन था। फिल्मी परिवार से संबंध ना रखने वाले रितेश ने जब फिल्मों में करियर की शुरुआत करनी चाहिए उस दौरान संभावनाएं काफी कम थी। रितेश का मानना है कि कोई भी बड़ा बैनर उन पर पैसा लगाने को तैयार नहीं था, ऐसे में कॉमेडी के हिट होते ही उन्हें कॉमेडी ऑफर होने लगी। रितेश बताते हैं,” उस दौरान लोग बड़े स्टार को ही लेना चाहते थे और न्यू कमर को नहीं। किसी को भी न्यू कमर में रुचि नहीं थी। आज सब बदल गया है और बहुत अच्छी बात है कि नहीं चेहरों को भी चांस मिलता है। मैं तो फिल्मी परिवार से भी नहीं था कि घर पर बैठकर फिल्में पढ़कर स्क्रिप्ट पर तय कर सकूं कि मुझे यह करना है।”

हिंदी के साथ साथ मराठी फिल्में करने वाले रितेश देशमुख मराठी फिल्मों के निर्माण में काफी समय से सक्रिय है। हालांकि शाहरुख और सलमान दोनों ही उनके साथ मराठी फिल्म में काम करने की इच्छा जता चुके हैं। रितेश बहुत ही जल्द महाराजा शिवाजी पर फिल्म बनाने जा रही हैं हालांकि यह बात तय नहीं है कि रितेश उस में मुख्य किरदार करेंगे या नहीं। रितेश का मानना है, “शिवाजी हमारे लिए बहुत बड़े हैं। जितने भी महाराष्ट्र के लोग हैं वह उनके लिए भगवान की तरह है। उन पर फिल्म करते हुए हमें बहुत सोच विचार कर करना होगा कि लोगों की भावनाएं आहत ना हो जाए और मुझे लगेगा तभी मैं उसमें किरदार करूंगा नहीं तो नहीं।”

फिलहाल रितेश मराठी में शिवाजी फिल्म के निर्माण के साथ साथ अपनी अगली फिल्म ‘मरजावां’ की शूटिंग में व्यस्त है। इस फिल्म में वह एक विलेन का किरदार निभाते हुए नज़र आएंगे।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।