लगातार बॉक्स ऑफ़िस पर हिट फिल्म देने वाले रणवीर सिंह आज के सबसे बड़े सुपर स्टार है और इस बात में कोई दो राय नहीं है। हालांकि रणवीर को फिर भी लगता है कि अभी तक उनका टाइम नहीं आया है। ‘बाजीराव’, ‘पद्मावत’ और हाल ही में ‘सिम्बा’ जैसी हिट फिल्मों की वजह से सुपरस्टार बन चुके रणवीर का मानना है कि काफी संघर्षों के बाद उन्होंने इंडस्ट्री में भले ही नाम कमाया हो, लेकिन वह कभी भी बॉलीवुड के खानों (आमिर, शाहरुख और सलमान) की जगह नहीं ले सकते हैं।

वो तीन साल जब मैं काफी उदास था

रणवीर ने साल 2010 में अपने करियर की शुरुआत की थी

Image Credit: Band Baja Barat

लगभग 9 साल पहले हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में शुरुआत करने वाले रणवीर सिंह के मुताबिक उनके लिए मायानगरी मुबंई में नाम कमाना आसान काम नहीं था। जिस दौर में नए चेहरों को इंडस्ट्री में ब्रेक काफी मुश्किल से मिलता था उस दौर में रणवीर ने लगभग 3 साल लम्बा संघर्ष किया है। रणवीर की माने तो उनके संघर्ष के तीन साल में वह काफी उदास रहे। रणवीर के मुताबिक, “मुश्किल है महानगरी मुबंई में नाम कमाना। यहां देश भर से लोग आते है कई सपने लेकर। मैं तो मुबंई में ही पला बढ़ा हूं, मैं बाहर से नहीं आया, लेकिन फिर भी साढ़े तीन साल स्ट्रगल किया। उस वक्त जब कोई ब्रेक नज़र नहीं आ रहा था, वो दौर मेरे लिए मुश्किल था, अमेरिका से पढ़ कर आया था, नौकरी नहीं थी। हर परिवार में उतार चढ़ाव होते रहते हैं, तो वो वक्त हमारे परिवार के लिए भी फाइनेंशियली काफी मुश्किल था। रिसेशन की वजह से मंदी चल रही थी। फिल्में नहीं बन रही थी। खास कर नए लड़कों के साथ कोई भी फिल्म नहीं बना रहा था, कभी कभी ऐसा लगता था कि क्या करुं और मैं बहुत उदास हो गया था।”

अपने संघर्ष के इन साढे तीन सालों में उदास होने वाले रणवीर ने लेकिन हार नहीं मानी। दरअसल उनका संघर्ष कई ऐसे लड़कों के लिए प्रेरणा है, जो मुंबई में अपना नाम बनाने आते हैं। रणवीर आगे कहते हैं, “ उदास हो गया था लेकिन मैं खुद से बोलता था कि तुझ में कुछ है, कुछ तो है, तू आगे बढ़ता चल, तेरा टाइम ज़रुर आएगा, तो ऐसा बोल कर मैं खुद को मोटीवेट करता रहता था।”

खानों की फिल्म नहीं चलना सिर्फ एक इत्तेफ़ाक था


Image Credit: Gully Boy

साल 2018 में जहां तीनों बड़े खानों की फिल्में बॉक्स ऑफ़िस पर सफल नहीं हो पाई , वहीं सिर्फ रणवीर सिंह की फ़िल्में रिलीज़ हुई और दोनों ही फिल्मों ने बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया। रणवीर की सिम्बा के हिट होते ही इंडस्ट्री में चर्चा है कि अब रणवीर जैसे यंग कलाकारों का टाइम आ चुका है। हालांकि अपने करियर के 9 सालों में ही स्टारडम हासिल कर चुके रणवीर का मानना है कि उनका टाइम तो बल्कि अभी शुरु हुआ है और उन्होंने अभी तक कुछ भी अचीव नहीं किया है। रणवीर के मुताबिक भले ही सभी खानों की फिल्मों के मुकाबले उनकी फिल्मों ने बेहतर प्रदर्शन किया हो, लेकिन फिर भी वह कभी भी खानों की जगह नहीं ले सकते। रणवीर से मुताबिक,”मैं सिर्फ इतना कहूंगा कि मैं खान्स की तुलना में कुछ भी नहीं हूं। मुझे 8 या 9 साल में 10 से 12 फिल्म ही की है। उन्होंने 25 साल तक लगातार काम किया है, इतनी फिल्में की है और अपना स्टारडम लगातार बरकरार रखा है, जो एक अलग तरह की उपलब्धि है। दो दशक तक सभी खान ने इंडस्ट्री को चलाया है। मुझे लगता है कि इन महारथियों ने अपने करियर में जो अचीव किया है, वो शायद ही कोई कर पाएगा। उन्होंने जो रिकार्ड बनाया है वो कोई भी टच नहीं कर सकता। मैं तो क्या किसी भी यंग एक्टर कि उनसे तुलना नहीं की जा सकती।”

इतना ही नहीं पिछले साल इन खानों की फिल्म ना चलने को शाहरुख सिर्फ एक इत्तेफाक ही मानते है। रणवीर के मुताबिक, “कभी कभार होता है कि बाय चांस उन लोगों की फिल्म नहीं चली और मेरी चल गई। लेकिन यह भी बाय चांस ही हुआ है। अगली जो भी फिल्म इन खानों की आएगी, वो ज़रुर चलेगी।”

फिलहाल रणवीर अपनी फिल्म गली ब्वॉय के प्रमोशन में व्यस्त है। ज़ोया अख्तर निर्देशित इस फिल्म को बर्लिन फिल्म फ़ेस्टिवल में काफी सराहना मिली है। फिल्म 14 फरवरी को रिलीज़ होगी और इस फिल्म में रणवीर के साथ आलिया मुख्य भूमिका निभा रही हैं।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।