बॉलीवुड के यंगस्ट डायरेक्टर कहलाने वाले पुनित मल्होत्रा की बॉक्स ऑफ़िस पर फिल्म ‘स्टूडेट ऑफ द ईयर 2’ से छह साल बाद वापसी हो रही है। इस फिल्म से पहले साल 2013 में उनकी फिल्म ‘गोरी तेरे प्यार में’ रिलीज़ हुई थी। करीना और इमरान स्टार्रर यह फिल्म बॉक्स ऑफ़िस पर कमाल नहीं दिखा पाई। भले ही इस फिल्म को दर्शक भूल गए हो, लेकिन इस फिल्म का निर्देशन करने वाले पुनिता का कहना है कि इस फिल्म की असफलता ने उन्हें एक साल तक डिप्रेशन में धकेल दिया। हालांकि अब वह नई उम्मीद के साथ ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’ लेकर आ रहे हैं। फिल्मी परिवार से संबंध रखते पुनीत का यह भी मानना है कि फेलियर के बाद भी उनको इतना बड़ा चांस सिर्फ और सिर्फ उनकी मेहनत की वजह से मिला है।

जब एक साल तक मैं डिप्रेशन में था

पुनित एक्टर बनना चाहते थे

Image Credit: pbs.twimg.com

एक्टर बनने के इरादे से इंडस्ट्री में आए पुनित ने 19 साल की उम्र से ही काम शुरु कर दिया था। साल 2010 में रिलीज़ हुई फिल्म ‘आई हेट लव स्टोरी’ जैसी सफल फिल्म के निर्देशन से बतौर निर्देशक अपना करीयर शरु करने वाले पुनिता ने, साल 2013 में ‘गोरी तेरे प्यार में’ फिल्म का निर्देशन किया। करीना और इमरान स्टार्रर यह फिल्म बुरी तरह से फ्लॉप रही। इस फिल्म के 6 साल बाद अब पुनीत फिर से धमाकेदार वापसी कर रहे हैं। इस बार उन पर करण जौहर के कैम्प की बड़ी फिल्म ‘स्टूडेट ऑफ द ईयर’ की लिगेसी को आगे बढ़ाने का ज़िम्मा है। पुनीत बताते हैं, “मुझ पर प्रेशर है कि स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2 से मैं करण की लिगेसी को आगे बढ़ाऊं। उस फिल्म से करण ने इंडस्ट्री को तीन सुपर स्टार दिए थे, मुझे लगता है कि हम भी दें। टाइगर पहले ही सुपर स्टार है। तारा और अनन्या ने भी अपनी अगली फिल्में साइन कर ली हैं और दोनों ही लड़कियों का काफी तारीफ हो रही हैं।”

मुझे चांस मेरी मेहनत के बलबूते पर मिला है

पुनिता ने 19 साल की उम्र से ही काम शुरु कर दिया था

Image Credit: images.indianexpress.com

करण पर अक्सर भाई-भतीजावाद यानी नेपोटिज़्म को बढ़ावा देने के आरोप लगते रहते हैं। करण की कम्पनी धर्मा में ही काम करने पुनीत भी फिल्मी परिवार से संबंध रखते है। दरअसल, वरुण की मम्मी जहां उनकी बुआ लगती है, वहीं सेलीब्रीटी फैशन डिज़ाइनर मनीष मल्होत्रा भी उनके परिवार का ही हिस्सा है। उनकी दूसरी फिल्म फ्लॉप होने के बावजूद स्टूडेंट जैसी फिल्म की ज़िम्मेदारी लेने वाले पुनीत का मानना है कि उनको यह अवसर सिर्फ इसलिए नहीं मिला क्योंकि वह फिल्मी परिवार से है, बल्कि इसलिए मिला क्योंकि उन्होनें काफी मेहनत की है और वह यह चांस डिज़र्व करते थे। पुनीत के अनुसार,

“मैं 19 साल की उम्र से फिल्मों में काम कर रहा हूं। लोग यह क्यों भूल जाते हैं कि मेरी पहली फिल्म ‘आई हेट लव स्टोरी’ हिट भी तो हुई थी। दरअसल, मैं भी अपने इस बिगड़े काम को सुधारना चाहता था, इसलिए मैंने निर्देशन के अलावा किसी और ऑप्शन के बारे में कभी नहीं सोचा। मुझे इसलिए यह मौका मिला है क्योंकि मैंने इसके लिए काफी छोटी उम्र से ही मेहनत की है।”

ग़ौरतलब है कि पुनीत ने इंडस्ट्री में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर शुरुआत की थी। साल 2001 में करण जौहर की फिल्म कभी खुशी गम को असिस्ट करने वाले पुनीत ने साल 2003 में निखिल आडवाणी की ‘कल हो ना हो’ में भी बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर काम किया, इस फिल्म के बाद तरुण मनसुखानी की फिल्म ‘दोस्ताना’ को असिस्ट करने वाले पुनीत ने बतौर निर्देशक अपनी पहली फिल्म साल 2010 में निर्देशित की। पुनीत का सपना एक एक्शन फिल्म का निर्देशन करना है। फिलहाल तो उनको उम्मीद है कि इस शुक्रवार 10 मई को रिलीज़ होने वाली फिल्म स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2 लोगों को पसंद ज़रुर आएगी।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।