सैफ अली खान और अमृता अरोड़ा की बेटी सारा अली खान की पहली फिल्म ‘केदारनाथ’ बहुत ही जल्द लोगों के सामने होगी। यह सारा की पहली फिल्म है और खास बात है कि इस साल उनकी एक नहीं, बल्कि दो फिल्में रिलीज़ हो रही है। जहां केदारनाथ में वो सुशांत सिंह राजपुत के साथ है, वहीं फिल्म सिंबा में उनके साथ है रणवीर सिंह । सारा की पहली फ़िल्म की पहली झलक से एक बात तो साफ है कि सारा अली खान इंडस्ट्री में अपनी जगह काफी आसानी से बना लेंगी। मुम्बई में फ़िल्म के ट्रेलर लॉन्च के दौरान सारा ने खुद से जुड़ी कई दिलचस्प बातें सांझा की।

बिना पढ़ाई पूरी किये फिल्मों में जाने की पापा से नही थी परमिशन

sara-ali-khan-graduation-picture-500x360
कोलम्बिया यूनिवर्सिटी से साल 2016 में ग्रेजुएशन पूरी की

फिल्मों में एंट्री कर चुकी सारा को बिना पढ़ाई पूरी किये फ़िल्म में एंट्री करने की इजाज़त नही थी। सारा की माने तो अपने पिता की शर्त के मुताबिक उन्होनें अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद ही फिल्मों में काम शुरु किया। सारा के मुताबिक, “मेरे पापा ने कहा था कि आप पढ़ाई पूरी करने के बाद ही इंडस्ट्री में आ सकती हो। मुझे जब केदारनाथ जैसी फ़िल्म का हिस्सा बनने का मौका मिला तो मेरा दिल इस फिल्म पर इस कदर आ गया था कि मैं किसी भी हालत में ये फ़िल्म ज़रुर करती यूं तो मेरे मम्मी पापा का सपोर्ट था, लेकिन नहीं भी होता तो भी ये फिल्म मैं करती।”

खास बात है कि सारा किसी भी कीमत पर यह फिल्म छोड़ना नहीं चाहती थी जिसके चलते सारा ने चार साल की पढ़ाई सिर्फ तीन महीनों में पूरी कर ली, जिससे उन्हें ये फ़िल्म करने का मौका मिल सके।

फ़िल्म परिवार से होने के फायदे भी बहुत हैं।

Sara-ali-khan-with-family-500x360
सारा अली खान सैफ की सबसे बड़ी बेटी हैं

फिल्मी परिवार से होने की वजह से उनके काम की तुलना उनके माता पिता से होगी इस बात के लिए भी सारा तैयार है, लेकिन खास बात है कि वो इससे बात को भी मानती है कि फिल्मी परिवार का होने की वजह से उन्हें कई बातों के फायदे भी बहुत है। सारा का कहना है, “मैं मानती हूं कि बहुत प्रेशर है, लेकिन इस बात से भी इंकार नही कर सकते कि मैं फिल्मी परिवार से हूं, जिसके मुझे कई बेनेफिट भी हैं, जिनसे में भाग नही सकती। तभी तो मैं अभिषेक कपूर या रोहित शेट्टी तक जाकर काम मांग सकी। हर चीज़ के कुछ के कुछ फायदे भी हैं और नुकसान भी। प्रेशर तो होता है, लेकिन मुझे लगता है कि प्रेशर हर इंसान पर होता है। मैं खुद को लकी मानती हूं कि मेरे पास एक नहीं, बल्कि दो फिल्में हैं।”

परिवार में लेती है कुछ न कुछ सीख

Sara-ali-khan-with-mother-amrita-singh-500x360
माता पिता के तलाक के बाद सारा अपनी मम्मी से साथ ही रहीं।

इस बात में कोई दो राय नही की सारा की परवरिश एक फिल्मी परिवार में हुई हैं। शर्मिला टैगोर से लेकर करीना ओर उनकी बुआ सोहा अली खान भी एक अदाकारा है। सारा का मानना है कि उन्होंने परिवार के हर सदस्य से कुछ न कुछ सीखा। सारा के मुताबिक, “जहां करीना एक प्रोफेशनल लेडी हैं और उनसे मैंने प्रोफेशनलिज्म सीखा, वहीं सैफ (पापा) से हिस्ट्री। लेकिन ज़िंदगी मे सबसे अहम फैसले मैं अपनी मम्मी से बात करके लेती हूं। मैं उनके साथ ही रहती हूं, तो कहां जाना हैं, क्या पहनना है, किससे मिलना है, क्या करना है सब मेरी मम्मी ही करती है क्योंकि मैं उनके पास ही रहती हूं।”

सारा की फिल्म केदारनाथ 7 दिसम्बर को थिएटर में रिलीज़ होगी। खास बात है कि जहां पहली फिल्म के लांच के मौके में अक्सर पूरे फिल्मी परिवार को एक साथ एक मंच पर देखा जाता है, वहीं सारा अपनी पहली फिल्म की पहली पब्लिक अपीरियंस के दौरान अकेले ही थी। हालांकि इस मौके पर सारा की हाज़िर जवाबी से एक बात तो साफ है कि नवाब की ये बेटी लोगों का दिल जीतने में कामयाब हो ही जाएगी।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।