बॉलीवुड ने शुरुआत से ही हमें सुरीले और यादगार गाने दिए है। हम सभी ज़िन्दगी के किसी भी कदम पर बॉलीवुड के इन्ही बेशुमार गानों को सुनकर अपना मन बहला लेते हैं। खासकर 90 के दशक के बच्चों को याद होगा कि कैसे ए आर रहमान का संगीत हमारे जीवन में अपनी सुन्दर धुनों से एक खूबसूरत जगह बना लेते थे। फिर समय बीतने के साथ प्रीतम जैसे संगीतकार आए, जिन्होंने हमारे दिलों में जगह बनाई, विशाल और शेखर, जिन्होंने अपने संगीत के साथ हमें झूमने पर मजबूर दिया और शंकर एहसान लॉय की रोमांचक तिकड़ी जिन्होंने हमे अपनी धुनों से हमे चौंका दिया।

हालांकि 90 का दशक बॉलीवुड का एक अनोखा दौर था, जब हमे हिंदी सिनेमा की कुछ असंख्य अद्भुत फ़िल्में और गाने मिले देखने मिले, लेकिन वर्तमान समय के कॉस्टिक और वास्तविक मुद्दों पर बनी फ़िल्में और ऑफ बीट गानें भी कम नहीं है। हर गुज़रते दिन के साथ, कई नए संगीतकार अपनी पहचान बना रहे हैं।

वर्तमान पीढ़ी के कुछ अद्भुत संगीतकार हैं

अनुपम रॉय – वर्सिटेलिटी में आगे

फिल्म ऑटोग्राफ में अपने शानदार गानो के साथ अनुपम रॉय ने पूरी बंगाली म्यूज़िक इंडस्ट्री को न सिर्फ चौंका दिया, बल्कि टॉलीवुड में अपनी के अलग पहचान बना ली। उस फिल्म के अद्भुत गीतों में शानदार बोल लिखकर अनुपम ने अपनी छाप हर दिल में छोड़ दी थी।

2015 में, उन्होंने फिर एक बार फिल्म पीकू के लिए संगीत की रचना की और हमारा दिल जीत लिया। केवल अनुपम रॉय जैसे संगीतकार बेजुबान जैसे संवेदनशील गीत को निखार सकते थे। उन्होंने परी और पिंक जैसी फिल्मों के लिए संगीत दिया है।

अमाल मलिक – जो हिंदी सिनेमा में इ.डी.एम को आगे लेकर आए

अमाल मलिक बॉलीवुड के इकलौते ऐसे समकालीन संगीतकार हैं, जो अपने द्वारा दिए गए हर अद्भुत संगीत के लिए श्रेय के हकदार हैं। निश्चित रूप से उनके सभी गीत हमे जीवन भर याद रहेंगे।

इसमें कोई शक नहीं कि संगीत उनकी रगों में दौड़ता है और उन्होंने अपने पहले ईडीएम गीत ‘सूरज डूबा है’, जो फिल्म रॉय का गाना है, से सभी को आश्चर्यचकित कर दिया था। उनकी खासियत है पॉप, जैज़ और फ़िल्मी गाने। फिल्म एयरलिफ्ट का रोमांटिक गाना ‘सोच ना सके’ भी अमाल की सुन्दर रचनाओं में से एक है।

अमित त्रिवेदी – जो सभी के पसंदीदा है

यह वही व्यक्ति है जिन्होंने फिम देव डी में अपने रोमांचक गानों से फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप को प्रभावित कर दिया था। वैसे तो अमित बॉलीवुड में उनका पहला ब्रेक फिल्म आमिर के साथ मिला, लेकिन यह फिल्म देव डी ही थी, जिससे अमित त्रिवेदी ने अपना पहला राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल किया था। तब से अमित ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

वे वेक अप सिड और उड़ान जैसी फिल्मों के संगीतकार रहे हैं और उनमे ऐसी अपरंपरागत प्रतिभा है, जिसकी बॉलीवुड को आज सख्त ज़रूरत है। फिल्म क्वीन से लंदन ठुमक दा और फिल्म लूटेरा के सभी गाने अमित की कुछ ऐसी रचनाएं हैं जो हिंदी सिनेमा के सुनहरे गानो की लिस्ट में हमेशा याद की जाएगी।

‘सचिन-जिगर’ कहते है ना एक से भले दो!

यह शानदार जोड़ी, जो फिल्म ‘फ़ालतू’ से चार बज गए जैसे गीतों के लिए प्रसिद्ध है और उन्होंने फिल्म ‘शोर इन द सिटी’ और ‘हम तुम और शबाना’ के लिए भी संगीत की रचना की है। फिल्म शोर इन द सिटी का खूबसूरत गीत ‘साईबो’ काफी प्रसिद्ध हुआ था। उन्होंने OMG- ओह माय गॉड, अजब गज़ब लव, आई, मी, और मैं जैसी फिल्मों में अपने संगीत की रचनाओं के लिए भी प्रशंसा हासिल की है।

उनकी अंतहीन प्रतिभा ही है जिसने हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया के अद्भुत और सदाबहार संगीत रचना की है। इस जोड़ी द्वारा हाल ही में बनाया गया फिल्म स्त्री का गीत कमरिया दर्शकों द्वारा बेहद पसंद किया गया था। उन्होंने गोल्ड, एबीसीडी 2, भूमि, बदलापुर आदि फिल्मों के लिए भी संगीत तैयार किया है।

‘अजय-अतुल’ एक और हिट म्यूजिकल जोड़ी

दोनों भाई, अतुल और अजय गोडावले की जोड़ी पिछले कुछ वर्षों में बॉलीवुड में बेहतरीन संगीत बना रही हैं और उनके संगीत ने देश भर में सबका ध्यान और प्रशंसा बटोरी है।

कोई भी इस जोड़ी द्वारा रचा गया अग्निपथ (२०१२) का दिल को छू जाने वाला गीत “अभी मुझमे कहीं” आजीवन नहीं भूल पाएगा । उनकी हालिया रचनाओं में फिल्म ज़ीरो, धड़क, ठग्स ऑफ हिंदोस्तान आदि के गीत शामिल हैं।

मिथुन – एक बेहतरीन गायक और संगीतकार

एक संगीतकार के रूप में मिथुन को फिल्म आशिकी 2 के सबसे लोकप्रिय और रोमांटिक गाने ‘तुम ही हो’ से शोहरत और पहचान मिली। साथ ही मिथुन ने गीत ‘सनम रे’ की भी रचना की है कुछ ही समय में यूट्यूब पर ऐसे वायरल हुआ की पता भी नहीं चला की यह गाना कब सबकी ज़ुबान पर बैठ गया।

उनकी पहली मूल रचना, बस एक पल, आज भी हमारे कानो में बजता है। इसी गाने से सब जान चुके थे कि मिथुन इस पीढ़ी के एक महान संगीतकार बनने जा रहे हैं। और फिल्म हाफ गर्लफ्रेंड से उनका गाना ‘फिर भी तुमको चाहूंगा’ किसे पसंद नहीं होगा ?

इन निर्माताओं के कारण, बॉलीवुड में कभी भी शानदार संगीत की कमी नहीं होगी।