‘द लॉयन किंग’ का हर कोई दीवाना रहा है। इस फिल्म के साथ सबके बचपन की यादें जुड़ी हैं। इस बार जॉन फेवरी की इस फिल्म की सबसे खास बात है शाहरुख खान और उनके बेटे आर्यन खान की आवाज़, जो इस फिल्म में मुफासा और सिम्बा यानी बाप और बेटे के किरदार में सुनाई देगी।  भारतभर में यह फिल्म इस शुक्रवार को रिलीज़ होने वाली हैं। दरअसल, 1994 में एनीमेटिड ‘द लॉयन किंग’ रिलीज़ हुई थी और यह उसी का रीमेक हैं। इस फिल्म का इंतज़ार जिस बेसब्री से सारे विश्व में किया जा रहा हैं, उससे इस बात का अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि यह सारे रिकार्ड तोड़ देगी। 

फिल्म की कहानी


Image Credit: Movie – The Lion King

इस फिल्म की कहानी गौरव भूमि नाम के जंगल की है, जिसका राजा मुफासा (शाहरुख खान) है। उसके यहां बेटे सिम्बा (आर्यन खान) का जन्म होता है। जंगल में इसका जश्न धूमधाम से मनाया जाता हैं। इसमें अगर कोई साथ नहीं दे रहा या फिर खुश नहीं हैं, तो वो है मुफासा का भाई स्कार (आशीष विद्यार्थी)। मुफासा के बाद अब सिम्बा ही राजा बनेगा इस बात से स्कार परेशान है। वह लकड़बग्घों की मदद लेकर मुफासा को किसी तरह मरवा देता हैं और सिम्बा को ये एहसास दिलाता है कि उसकी वजह से मुफासा की मौत हुई है। सिम्बा अपना ही जंगल छोड़ कर चला जाता है और स्कार राज करने लगता है और कई ऐसे कानून बना देता है, जिससे गौरव भूमि का पतन होने लगता है। कई खूबसूरत वीएफएक्स से सजी और प्रेरित कर देने वाले डायलॉग्स वाली इस फिल्म में भावुक कर देने वाले कई क्षण है।


फिल्म में कई किरदारों की आवाज़ ने डाली जान


Image Credit: Movie – The Lion King

यह फिल्म अंग्रेज़ी, तमिल और तेलुगू और हिन्दी में रिलीज़ हो रही है। हिन्दी फिल्म की खास बात है इस फिल्म में शाहरुख खान औऱ आर्यन खान यानी कि रियल लाइफ बाप और बेटे, रील लाइफ बाप और बेटे के किरदार को अपनी आवाज़ दे रहे हैं। जहां शाहरुख की आवाज़ मुफासा के लिए एकदम फिट बैठती है, वहीं आर्यन को सुनकर लगेगा कि मानो यंग शाहरुख को ही सुन रहे हो। आर्यन की आवाज़ और बोलने का तरीका बहुत हद तक अपने पिता यानी शाहरुख जैसा है। हिन्दी लॉयन किंग में अगर किसी की आवाज़ आपको बेहद पसंद आएगी वो है रॉयल फॅमिली का संदेशवाहक जाजू, जिसे असरानी ने अपनी आवाज़ से बेहद मज़ेदार बना दिया है। सिम्बा के दोस्तों के तौर पर टिमन और पुंबा यानी श्रेयस तलपड़े और संजय मिश्रा की आवाज़ काफी गुदगुदाती है, इन किरदारों में आपको भाईगीरी या फिर कहे तो मुम्बईया भाषा की झलक मिलेगा।  फिल्म में भोजपुरी भाषा में लकड़बग्घों का बोलना भी मज़ेदार है। वहीं फिल्म में नाला के तौर पर नेहा गार्गव और मुफासा की बीवी रानी सराबी के तौर पर शाहनाज़ पटेल की आवाज़ है।

फिल्म देखें या नहीं


Image Credit: Movie – The Lion King

 

फिल्म का सबसे बड़ा आकर्षण है शाहरुख और आर्यन की आवाज़ का एक साथ होना। यह पहली बार होगा कि लोग शाहरुख के बेटे की आवाज़ सुन सकेंगे। इसके साथ ही फिल्म की कहानी को ओरीनजनल ही रखा गया है। दरअसल, यह कहानी ऐसी कहानी है, जिसे हर जनरेशन के बच्चे पसंद करेंगे। इन सबके बावजूद भी फिल्म में अगर कोई बात अधूरी लगती है, तो वो है इस फिल्म का संगीत। दरअसल, फिल्म में हकूना मटाटा को छोड़ कोई भी गीत ऐसा नहीं हैं जो आपको फिल्म देखने के बाद याद रह जाए। वहीं फिल्म में शाहरुख और आयर्न, दोनों के कुछ डायलॉग्स ही साथ में है, जो बेहद खूबसूरत और भावुक कर देने वाले हैं। उन दो-चार डायलॉग को सुनकर ऐसा लगता है मानो इन दोनों के किरदारों की आवाज़ को थोड़ा और साथ में सुनने का मौका मिलता तो बेहतर होता। कुल मिलाकर यह फिल्म आप अपने परिवार के साथ देख सकते हैं। इस बात में कोई दो राय नहीं कि यह फिल्म ना सिर्फ देखने में खूबसूरत बनी हैं, बल्कि इसके डायलॉग भी बेहद प्रेरणा देने वाले हैं। 

आवाज़ डॉट कॉम इस फिल्म को साढ़े तीन स्टार देता हैं। 

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।