दुनिया के सबसे बड़े फिल्म अवार्ड्स यानी ऑस्कर में जहां एक तरफ भारतीय फिल्मों का पहुंचना मुश्किल लगता है, वहीं बॉलीवुड के कुछ सेलेब्स ने ऑस्कर की जूरी में अपने लिए जगह बना ली है। इस साल भी हिन्दी सिनेमा के कई नामचीन लोगों को ऑस्कर में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है। यह सेलेब्स और कोई नहीं, बल्कि मशहूर राइटर-डायरेक्टर ज़ोया अख्तर,अनुराग कश्यप और अनुपम खेर है। खुद बॉलीवुड के मशहूर गीतकार और राइटर, जावेद अख्तर भी इस बारे में ट्वीट करते हुए अपनी बेटी ज़ोया के लिए गर्व महसूस कर रहे थे।

जब ऑस्कर से आया बुलावा

अनुपम खेर को एक्टर्स की केटेगरी, ज़ोया अख्तर को निर्देशक की और अनुराग कश्यप को शॉर्ट फिल्म्स एन्ड फीचर एनीमेशन की केटेगरी के लिए आमंत्रित किया गया है।

अनुपम खेर इतने सालों से बॉलीवुड और हॉलीवुड, दोनों ही इंडस्ट्री में अपनी शानदार कला का प्रदर्शन करते आ रहे हैं। ज़ोया की बात करें तो, उन्होंने ‘गली ब्वॉय’, ‘दिल धड़कने दो’ और ‘लक बाय चांस’ जैसी सुपरहिट फिल्मों का निर्देशन किया है, वहीं अनुराग कश्यप भी पिछले साल की पाथ-ब्रेकिंग फिल्म ‘मनमर्ज़ियां’ के निर्देशक रहे हैं।

साथ ही, राइटर-डायरेक्टर रितेश बत्रा, डायरेक्टर निशा गणात्रा और एक्टर आर्ची पंजाबी को भी अकादमी अवार्ड्स के लिए आमंत्रित किया गया है। सिर्फ एक्टर्स और निर्देशकों को ही नहीं, बल्कि ऑस्कर की जूरी के लिए फिल्मों के टेक्नीशियन को भी आमंत्रित किया जाता है। सुनने में आया है कि पिछले साल ‘हिचकी’ में काम कर चुके शैरी भरदा के साथ-साथ ‘बाहुबली’ और ‘2.O’ जैसी फिल्मों में अपना योगदान दे चुके श्रीनिवास मोहन को, अकादमी जूरी के विजुअल इफेक्ट्स डिपार्टमेंट के लिए चुना गया है।

ऑस्कर और बॉलीवुड सेलेब्स का है पुराना रिश्ता

आपको यह जानकार ख़ुशी होगी कि इससे पहले भी बॉलीवुड सेलेब्स को ऑस्कर की जूरी में शामिल किया गया है।

Image Credit: blogs.reuters.com

पिछले साल यानी साल 2018 में भी ऑस्कर अकादमी द्वारा हिंदी सिनेमा के कुछ नामचीन लोगों को आमंत्रित किया गया था। उनमें से शाहरुख खान, नसीरुद्दीन शाह, माधुरी दीक्षित, अनिल कपूर, तब्बू, डायरेक्टर अनिल मेहता और अली फज़ल जैसे कुछ नाम शामिल हैं।

ऑस्कर अकादमी से जुड़ी कुछ और दिलचस्प बातें

हर साल करीब 59 अलग-अलग देशों से कुल 839 मेंबर्स को अकादमी ऑफ़ मोशन पिक्चर आर्ट्स एन्ड साइंसेज़ द्वारा आमंत्रित किया जाता है, जिसमे से 29-30 सदस्य महिलाएं होती हैं। यही कारण है कि 2015 में 25% महिलाएं ऑस्कर अकादमी का हिंस्सा थी और आज 32 % महिलाएं इसका हिंस्सा है। आमंत्रित किये जानेवाले सभी मेहमानों में से 8,42,21 लोग ऑस्कर विनर्स होते हैं और 82 मेंबर्स ऑस्कर नॉमिनी।

हालांकि यह भारत के साथ-साथ विश्व की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री के लिए गर्व की ही बात है कि हमारे यहां से कई प्रतिभाशाली लोगों को ऑस्कर के मंच पर जाने का मौका मिलता हैं।

अपने सपनो को पूरा करने की ताक़त रखती हूँ। अभिलाषी हूं और नई चीज़ों को सीखने की इच्छुक भी। एक फ्रीलान्स एंकर। मेरी आवाज़ ही नहीं, बल्कि लेखनी भी आपके मन को छू लेगी। डांसिंग और एक्टिंग की शौक़ीन। माँ की लाड़ली और खाने की दीवानी।