नितिश तिवारी की फिल्म छिछोरे इसी हफ्ते 6 सितम्बर को रिलीज़ होने वाली है। ‘दंगल’ जैसी सुपरहिट फिल्म का निर्देशन करने वाले नितेश कॉलेज और होस्टल लाइफ पर छिछोरे लेकर आ रहे हैं। छह दोस्तों की यह कहानी नितेश के कॉलेज में बिताए गए दिनों से ही प्रेरित है। फिल्म में सुशात सिंह राजपूत, वरुण शर्मा और श्रद्धा कपूर जैसे कलाकार है, जिनकी कॉलेज और सालों बाद की ज़िंदगी को इस फिल्म में दिखाया गया है।

अपनी ही ज़िदंगी में घटे किस्सों को फिल्माया है

नितेश आय.आय.टी मुंबई में पढ़ाई कर चुके हैं
नितेश आय.आय.टी मुंबई में पढ़ाई कर चुके हैं

मुंबई के आय.आय.टी में ही शूट की गई यह फिल्म नितेश के लिए खास है। दरअसल, इसी कॉलेज से पढ़ चुके नितेश ने अपनी होस्टल लाइफ के ही किस्सों को इस फिल्म में दिखाया है। इतना ही नहीं फिल्म में उन्होनें किरदारों के भी वही नाम दिए है, जो उनकी कॉलेज ज़िंदगी में उनके दोस्तों के थे। चिल्लर पार्टी , भूतनाथ रिटर्नस और दंगल जैसी फिल्म के बाद बतौर निर्देशक अपनी चौथी फिल्म लेकर आ रहे नितेश का मानना है कि उनके लिए बॉक्स ऑफ़िस सफलता से ज़्यादा मायने रखती है फिल्म की कहानी। नितेश की मानें तो, “ फिल्म दंगल भी हमने बॉक्स ऑफिस को ध्यान में रख कर नहीं बनाई थी। मुझे और आमिर खान को लगा था कि यह एक महत्वपूर्ण स्टोरी है और इस कहानी को बड़े पर्दे पर लाना चाहिए। इसलिए हमने वो फिल्म बनाई। उस फिल्म को हमने बहुत ही सरलता और ईमानदारी के साथ बनाया था। बॉक्स ऑफ़िस को ध्यान में रख कर बनाता तो फिल्म का हीरो मोटा और बुढ़ा नहीं होता। वो फिल्म भी बॉलीवुड स्टाइल से हट कर अलग तरीके से बनाई गई फिल्म थी। दरअसल, मैं कहानी को लेकर ईमानदार रहता हूं। मुझे लगता है कि अगर कहानी ऐसी है जो दर्शकों तक पहुंचानी चाहिए, तो मैं उस कहानी को ज़रूर बनाता हूं।”

मैं अपनी बीवी से साथ ज़िम्मेदारी बांटने में विश्वास रखता हूं

नितेश की बीवी अश्विनी अय्यर तिवारी भी बेहतरीन निर्देशक है
नितेश की बीवी अश्विनी अय्यर तिवारी भी बेहतरीन निर्देशक है

नितेश की बीवी अश्विनी अय्यर तिवारी भी एक बेहतरीन निर्देशिका है। निल बट्टे सन्नाटा और बरेली की बर्फी जैसी फिल्मों का निर्देशन करने वाली अश्विनि की इन दोनों ही फिल्मों की कहानी नितेश ने लिखी है। अपनी निर्देशिका बीवी की फिल्मों की कहानी लिखने वाले नितेश का मानना है कि भले ही वो और उनकी पत्नी एक ही फील्ड में हो, लेकिन वो दोनों ही एक-दूसरे के काम में दखलअंदाज़ी नहीं करते। दिलचस्प बात है कि अश्विनी और नितेश के दो जुड़वा बच्चे हैं और अपने काम के साथ-साथ बच्चों का ध्यान रखना नितेश अपनी भी ज़िम्मेदारी मानते हैं। नितेश के मुताबिक, “मिया बीवी में किसी भी तरह का कॉन्पिटिशन नहीं हो सकता है। हम दोनों के बीच में तेरा-मेरा कुछ भी नहीं है, जो भी है वह हमारा है। उन्हें मेरे काम पर गर्व है और मुझे उसके। हम दो क्रिएटिव लोग हैं और दो क्रिएटिव लोगों के बीच में डिफरेंस होना स्वाभाविक है। लेकिन मैं उसे बहुत ही पॉजिटिव वे में लेता हूं। किसी भी रिश्ते में हर चीज़ इक्वल होनी चाहिए। मैं डॉमिनेट करने में नहीं, इक्वेलिी में विश्वास रखता हूं। उन्हें पूरी आज़ादी हैं वो जो चाहे कर सकती है। जब वो मौजूद नहीं रहती तो मैं बच्चों का ध्यान रखता हूं और जब मैं नहीं रहता तब वो बच्चों का ध्यान रखती हैं।”

कॉलेज लाइफ पर फिल्म लेकर आ रहे नितेश खुद अपने कॉलेज में तिवारी और टपोरी के नाम से मशहूर थे। उनकी ज़िदंगी और किस्सों के साथ-साथ, होस्टल में होने वाली कई दिलचस्प बातों और दोस्तों की यारी पर नितेश की यह फिल्म 6 सितम्बर को रिलीज़ होगी।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।