इस दौर में बॉलीवुड की प्रतिभाशाली अभिनेत्रियों में से एक तापसी पन्नू आज अपना 31वां जन्मदिन मना रही हैं। तापसी का जन्म साल 1987 में नई दिल्ली में एक पंजाबी घर में हुआ था। उन्होंने दिल्ली में ही अपनी पढ़ाई पूरी कर कुछ समय के लिए बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर काम किया था। एक्टिंग में आने से पहले उन्होंने मॉडलिंग की दुनिया मे अपना हाथ आज़माया। तापसी ने कोका कोला, पैंटालून, डाबर, एयरटेल, रेड एफएम 93.5 जैसे ब्रांड्स के लिए भी मॉडलिंग की है। लेकिन कुछ समय बाद तापसी ने मॉडलिंग छोड़ फिल्मों में एन्ट्री करने की सोची और मॉडलिंग को अलविदा कर अभिनय की दुनिया में अपना कदम रखना चाहा।

जब इंडस्ट्री में हुई एंट्री

तापसी की पहली हिंदी फिल्म थी साल 2013 में आई 'चश्मे बद्दूर'
तापसी की पहली हिंदी फिल्म थी साल 2013 में आई ‘चश्मे बद्दूर’

तापसी ने हिंदी के अलावा तेलुगू और तमिल फिल्मों में भी काम किया है। असल में तापसी की पहली फिल्म साल 2010 की एक रोमांटिक तेलुगू फिल्म थी, जिसमे उनके बेहतरीन अभिनय को देखने के बाद दक्षिण के फिल्मेकर्स ने तापसी के आगे फिल्मों की लाइन लगा दी। तापसी 2 सालों में तेलुगू, तमिल और मलयायम फ़िल्में मिलाकर कुल 10 फ़िल्में कर चुकी थी। साल 2012 में जब उन्हें ‘चश्मे बद्दूर’ ऑफर हुई तो वह उनकी पहली हिंदी फिल्म बनी। इस फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट फीमेल डेब्यू के लिए नॉमिनेट भी किया गया था।

मल्टीस्टारर फिल्मों से सोलो फिल्म तक का सफर

तापसी की फिल्म 'नाम शबाना'
तापसी की फिल्म ‘नाम शबाना’

फिल्म ‘चश्मे बद्दूर’ के बाद तापसी की किस्मत ही बदल गयी और उन्हें एक के बाद एक बड़ी-बड़ी मल्टीस्टारर बॉलीवुड फिल्मों के शामिल होने का मौक़ा मिला। साल 2015 में वो नीरज पांडे निर्देशित और अक्षय कुमार, अनुपम खेर, राणा दग्गुबात्ती अभिनीत फिल्म ‘बेबी’ का हिस्सा बनी। इस फिल्म में उनका रोल भले ही छोटा था लेकिन उनके अभिनय को बेहद सराहा गया। इसके बाद साल 2016 में रिलीज़ हुई उनकी फिल्म ‘पिंक’, जिसने पूरे बॉलीवुड को तापसी का फैन बना दिया। इस फिल्म में महानायक अमिताभ बच्चन मुख्य किरदार में थे। फिल्म ‘पिंक’ महिलाओं के प्रति हो रहे शोषण और अत्याचार पर आधारित थी। यह फिल्म तापसी के लिए एक गेम चेंजर साबित हुई। इस फिल्म के बाद तापसी ने ‘नाम शबाना’, ‘द ग़ाज़ी अटैक’, ‘मुल्क’, ‘जुड़वा 2’, ‘मनमर्ज़ियां’, ‘सूरमा’ ‘बदला’ और ‘गेम ओवर’ जैसी एक से बढ़कर एक फ़िल्मों में कमाल कर दिखाया। मल्टीस्टारर फिल्मों से सोलो स्टार फिल्मों तक का तापसी का सफर बहुत दिलचस्प रहा है।

तापसी की ‘गेम ओवर’ चार भाषाओं में एक साथ रिलीज़ हुई थी

फिल्म 'गेम ओवर' का पोस्टर
फिल्म ‘गेम ओवर’ का पोस्टर

तापसी की पिछली फिल्म ‘गेम ओवर’ एक हॉरर और सस्पेंस थ्रिलर थी। इस फिल्म की कहानी बहुत आकर्षक थी। देखने वाली बात यह है कि आश्विन सारवनन निर्देशित इस फिल्म में तापसी हीरो भी थी और हीरोइन भी। इस फिल्म में तापसी के ज़बरदस्त अभिनय को देखने के बाद ऐसा लगता है जैसे वो उन चुनिंदा अभिनेत्रियों में से हैं, जिन्हे अपनी फिल्म चलाने के लिए किसी अन्य सुपरस्टार या हीरो की ज़रूरत नहीं हैं। वे सिर्फ और सिर्फ अपनी प्रतिभा के दम पर अपनी फ़िल्में चला सकती हैं। भले ही वह फिल्म बॉक्स ऑफस पर ना चली हो, लेकिन तापसी के अभिनय को सभी ने सराहा। ज़ाहिर है कि तापसी पर सभी फिल्ममेकर्स का भरोसा दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा हैं। हो भी क्यों ना, तापसी हर बार सबकी उम्मीदों पर खरी जो उतरती हैं।

दीवाली पर आ रही हैं लेकर अपनी फिल्म

फिल्म 'सांड की आंख' करनेवाली है दिवाली पर धमाका
फिल्म ‘सांड की आंख’ करनेवाली है दिवाली पर धमाका

यूं तो हर साल दिवाली किसी ने किसी खान या बड़े हीरो के नाम होती है, लेकिन इस साल दिवाली पर यदि कोई फिल्म धमाका करेगी, तो वो है तापसी की ‘सांड की आंख’। इस फिल्म में तापसी के साथ कोई हीरो नहीं है, बल्कि भूमि पेडनेकर जैसी एक खूबसूरत अदाकारा है। ‘सांड की आंख’ की कहानी असल ज़िन्दगी में 2 महिला शार्पशूटर्स की ज़िन्दगी पर आधारित है। इस फिल्म की दोनों अभिनेत्रियां, तापसी और भूमि इतनी ज़बरदस्त है कि फिल्म के निर्माताओं को अपनी फिल्म चलाने के लिए किसी हीरो की ज़रूरत नहीं है।

तापसी है जमीन से जुड़ी

फिल्म सांड की आंख में तापसी का अवतार
फिल्म सांड की आंख में तापसी का अवतार

तापसी फिल्मों में दमदार होने के साथ-साथ असल ज़िन्दगी में भी बहुत मज़बूत और साफ़ दिल की इंसान है। आवाज़.कॉम के साथ एक इंटरव्यू के दौरान खुद तापसी ने भी कहा था कि अगर वह मैदान में उतरती हैं, तो बिना हार माने या पीछे मुड़े, अपने सपनों को पूरा करके ही दिखाती है। इसमें कोई शक नहीं कि तापसी ने बहुत कम समय में अपने अभिनय और प्रतिभा के दम पर लीक से हटकर इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। इस बात में कोई दो राय नहीं कि आज कि जनरेशन में अभिनेत्री बनने का सपना देखनेवाली हर लड़की के लिए तापसी एक शानदार उदाहरण है।

आवाज़.कॉम तापसी पन्नू को उनके जन्मदिन की बधाई देते हुए यही दुआ करता है कि अपने फ़िल्मी जीवन में वो आगे भी इसी तरह अपनी पहचान बनाए रखें और सफलता हासिल करती रहें।

अपने सपनो को पूरा करने की ताक़त रखती हूँ। अभिलाषी हूं और नई चीज़ों को सीखने की इच्छुक भी। एक फ्रीलान्स एंकर। मेरी आवाज़ ही नहीं, बल्कि लेखनी भी आपके मन को छू लेगी। डांसिंग और एक्टिंग की शौक़ीन। माँ की लाड़ली और खाने की दीवानी।