पिछले कुछ सालों में बॉलीवुड ने यह साबित कर दिखाया है कि हिंदी फ़िल्में सिर्फ सुपरस्टार्स के दम पर नहीं, बल्कि एक अच्छी और बुलंद स्क्रिप्ट के दम पर चलती हैं। ‘क्वीन’, ‘तनु वेड्स मनु सीरीज़’, ‘राज़ी’, ‘अंधाधुंध’, ‘बधाई हो’ और ‘पटाखा’ जैसी अनगिनत फिल्में बॉलीवुड में एक ताज़गी लेकर आती है। फिल्मों में यह नयापन नए प्रकार की कहानियों और उसके शानदार प्रदर्शन से आता है और इसका पूरा श्रेय इन फिल्मों के राइटर्स को जाता है।

तो क्यों ना आज हम इन सेलेब्रेटेड फिल्मों के बेहतरीन राइटर्स के शानदार कामों को याद करें। ख़ास तौर पर पिछले कुछ सालों में बॉलीवुड में अच्छी फीमेल राइटर्स की गिनती बढ़ती जा रही है। उन्ही की बदौलत आज हिंदी सिनेमा में फीमेल सेंट्रिक रोल्स को ज़्यादा से ज़्यादा महत्व दिया जा रहा है। आइये आज बॉलीवुड की ऐसी ही कुछ बेहतरीन फीमेल राइटर्स पर एक नज़र डालें।

ज़ोया अख्तर


Image Credit: Instagram

इस साल की सुपरहिट फिल्म ‘गली ब्वॉय’ की डायरेक्टर और राइटर ज़ोया अख्तर ने साल 2009 में अपनी पहली फिल्म ‘लक बाय चांस’ के साथ ही साबित कर दिया था कि वह अपने पिता लेजेंडरी राइटर और गीतकार जावेद अख्तर के कदमों पर चलने वाली है। ज़ोया ने ‘ज़िन्दगी ना मिलेगी दोबारा’, ‘दिल धड़कने दो’, ‘तलाश’ और साथ ही अमेज़न प्राइम की हिट सीरिज़ ‘मेड इन हेवन’ जैसी सुपरहिट कहानियों को लिखने के साथ-साथ उनका निर्देशन भी किया है। ज़ोया की फिल्मों में मनोरंजन और कॉमेडी के साथ-साथ एक सोशल मैसेज भी होता है, जो युवाओं को इंस्पायर करता है। उनकी कहानियों में एक मॉडर्न टेक रहता है, जिसे बच्चों से लेकर बड़े सभी देख सकते हैं। अपनी ज़्यादातर फिल्मों के लिए ज़ोया ने बहुत से अवार्ड्स और नॉमिनेशंस हासिल किये हैं।

गौरी शिंडे


Image Credit: starsunfolded.com

वुमन एम्पावरमेंट यानी महिला सशक्तिकरण से जुड़े मुद्दों पर कहानियां लिखने वाली गौरी शिंदे बॉलीवुड की एक अवार्ड विनिंग राइटर और डायरेक्टर हैं। गौरी अपने फ़िल्मी किरदारों के माध्यम से हर महिला को उनके महत्व का एहसास दिलाने में सफल होती हैं। चाहे वो ‘इंग्लिश विंग्लिश’ की ‘शशि’ की सादगी और जीवन में कुछ नया सीखने का जज़्बा हो या फिर ‘डियर ज़िन्दगी’ की ‘कायरा’, जो अपनी ज़िन्दगी के बदलते रिश्तों को समझने की कोशिश करती है। गौरी की फ़िल्में दर्शकों के चेहरे पर मुस्कराहट लेकर आती हैं। उनके इसी प्रयास के लिए उन्हें ‘इंग्लिश विंग्लिश’ के लिए कई अवार्ड्स भी मिले हैं।

नंदिता दास


Image Credit: newswave.in

राइटर, एक्टर, डायरेक्टर और एक सोशल एक्टिविस्ट रह चुकी नंदिता दास एक मशहूर बॉलीवुड पर्सनालिटी है। नंदिता ने हमेशा अपनी बोल्ड और ब्रेव फिल्म च्वाइस से सबको इम्प्रेस किया है। नंदिता एक अच्छी अभिनेत्री ही नहीं, बल्कि एक अच्छी राइटर और डायरेक्टर भी हैं। उन्होंने यह बात अपनी फिल्म ‘मंटो’ के ज़रिये साबित की है। प्रख्यात लेखक सआदत हसन मंटो के जीवन पर आधारित फिल्म की कहानी लिखना बहुत मुश्किल है, लेकिन कान्स फिल्म फेस्टिवल और कई अन्य फिल्म फेस्टिवल्स में अपनी राइटिंग, डायरेक्शन और अभिनय के लिए नाम कमा चुकी नंदिता के लिए यह बिल्कुल आसान था।

अलंकृता श्रीवास्तव


Image Credit: Timesofindia

जूही चतुर्वेदी ने साल 2015 की सबसे आकर्षक और अनोखी फिल्म ‘पीकू’ की कहानी लिखी थी। इस फिल्म ने अपने नए प्रकार के कांसेप्ट और कहानी के लिए कई अवार्ड्स जीते थे। साथ ही इस फिल्म के निर्देशन और अमिताभ बच्चन, दीपिका पादुकोण और इरफ़ान खान जैसे सुपरस्टार्स को उनके अभिनय के लिए भी बहुत से पुरस्कार दिए गए थे। ‘पीकू’ के अलावा जूही ने ‘विक्की डोनर’, ‘अक्टूबर’ और बहुत ही जल्द रिलीज़ होने वाली फिल्म ‘द स्काइ इज़ पिंक’ जैसी कई फिल्मों की बेहतरीन कहानी लिखी है। जूही की कहानियां भी ज़्यादातर युवाओं को पसंद आती है। जूही की सभी फिल्मों के कॉन्सेप्ट्स हटकर होते हैं और उन्हें दर्शाने का अंदाज़ बेहद मज़ेदार होता हैं।

कनिका ढिल्लों

साल 2018 की सभी फिल्मों में एक नए प्रकार की एनर्जी और सोच छिपी हुई थी। यह सोच कनिका ढिल्लों जैसे तमाम राइटर्स की थी। कनिका साल 2018 की दो बेहद खूबसूरत फिल्मों, ‘मनमर्जियां’ और ‘केदारनाथ’ की राइटर थी। जहां ‘मनमर्जियां’ में कनिका ने इस जनरेशन के प्यार और उससे जुड़ी सभी बातों को बड़े ही मज़ेदार अंदाज़ में दर्शाया। वहीं सच्ची घटना पर आधारित फिल्म ‘केदारनाथ’ की सुन्दर लव स्टोरी ने अभिनेत्री सारा अली खान को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौक़ा दिया। दोनों ही फिल्मों ने दर्शकों का बेहद मनोरंजन किया। इंडस्ट्री के बहुत से लोगों ने कनिका के राइटिंग की बहुत प्रशंसा की। कनिका की आनेवाली फिल्म राजकुमार राव और कंगना रनौत स्टार्रर बहुत ही जल्दी रिलीज़ होने वाली फिल्म ‘मेन्टल है क्या’ है।

कोंकणा सेन शर्मा


Image Credit: amazon.com

एक्टर टर्न्ड राइटर एंड डायरेक्टर कोंकणा सेन शर्मा ने कई सालों तक अपने बेहतरीन अभिनय से सभी का दिल जीता। साल 2017 में रिलीज़ हुई फिल्म ‘अ डेथ इन द गूंज’ से इंडस्ट्री में बतौर राइटर और डायरेक्टर कोंकणा ने यह साबित किया कि वह एक बेहतरीन अभिनेत्री के साथ-साथ एक अच्छी निर्देशक और राइटर भी हैं। उनकी इस फिल्म को कान्स फिल्म फेस्टिवल जैसे कई अन्य फिल्म फ़ेस्टिवल में दर्शाया गया और पुरस्कृत भी किया गया है। इस फिल्म के लिए कोंकणा को फिल्मफेयर द्वारा बेस्ट डेब्यू डायरेक्टर के अवार्ड से सम्मानित भी किया गया था। कोंकणा हर रूप से एक वर्सेटाइल बॉलीवुड पर्सनालिटी हैं।

इनके अलावा ग़ज़ल धालीवाल, मेघना गुलज़ार, अश्विनी अय्यर तिवारी जैसी कई टैलेंटेड राइटर्स ने बॉलीवुड फिल्मों को एक नई पहचान दी हैं। इन सभी फीमेल राइटर्स की राइटिंग में एक नए प्रकार की एनर्जी है, जिसमें समाज को प्रेरित करने की क्षमता है। हमे यकीन है कि यह सभी राइटर्स अपनी फिल्मों के माध्यम से बॉलीवुड में आगे भी अच्छे बदलाव लाती रहेंगी।

अपने सपनो को पूरा करने की ताक़त रखती हूँ। अभिलाषी हूं और नई चीज़ों को सीखने की इच्छुक भी। एक फ्रीलान्स एंकर। मेरी आवाज़ ही नहीं, बल्कि लेखनी भी आपके मन को छू लेगी। डांसिंग और एक्टिंग की शौक़ीन। माँ की लाड़ली और खाने की दीवानी।