अक्सर हम सभी अपने मूड और आस-पास के माहौल के अनुसार फिल्म देखते है, तो आज वैलेंटाइन डे पर आपको कौन सी फिल्म देखने का मन है? जाहिर है कि आज प्यार का दिन है तो सुपर ड्रामेटिक या फिर रोमांटिक बॉलीवुड फिल्म देखने के लिए आज से बेहतर दिन कौन सा हो सकता है। बॉलीवुड अपनी शानदार रोमांटिक कहानियों के लिए जाना जाता है इसीलिए एक यादगार वैलेंटाइन्स डे मनाने के लिए इन खूबसूरत रोमांटिक फिल्मों से बेहतर और क्या हो सकता है।

वीर ज़ारा

फिल्म वीर-ज़ारा का संगीत हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का सबसे अच्छा म्यूज़िक एल्बम माना जाता है। इस एल्बम का हर गाना ऐसा है जिसे आप कितनी बार भी सुने और देखे तो भी बोर नहीं होंगे। म्यूज़िक के अलावा इस फिल्म की अद्भुत कहानी के साथ साथ निर्देशक यश चोपड़ा के अविस्मरणीय निर्देशन को लोग आज भी नहीं भूले। प्रेम और बलिदान कि यह कहानी पुराने जमाने के प्यार का प्रतीक है। सबसे अच्छी बात यह है कि इस फिल्म में रोमांस किंग शाहरुख खान के साथ बेहद खूबसूरत प्रीति ज़िंटा की केमेस्ट्री लाजवाब थी।

साथिया

विवेक ओबेरॉय बॉलीवुड के उन अभिनेताओं मे से है, जिनको अपनी काबिलियत के अनुसार फिल्में नहीं मिली। विवेक अभिनित साथिया बॉलीवुड में बनी रोमांटिक फिल्मों में से एक है। विवेक ओबेरॉय और रानी मुख़र्जी की यह फिल्म साउथ फिल्म अलाइ पायुथे’ की रीमेक है। यह दो लोगों के बीच शादी के बाद के प्यार की कहानी है। इस फिल्म में संगीतकार ए.आर.रहमान ने म्यूज़िक दिया था। इस फिल्म के गीत के साथ साथ अभिनेताओं का अभिनय काफी सराहनीय रहा।

जब वी मेट

यह एक ऐसी फिल्म है जो अधिकतर हर किसी की पसंदीदा है! दरअसल, कई दर्शकों के लिए यह फिल्म मात्र एक फिल्म ही नहीं, बल्कि एक ऐसा अनुभव है जिसमे वह अपने आप को खोजते हैं और प्यार करना सीख जाते है। इस बात में कोई दो राय नहीं कि फिल्म जब वी मेट करीना कपूर के करियर की सबसे श्रेष्ठ फिल्म है। फिल्म में शाहिद कपूर ने भी अद्भुत अभिनय किया हैं।दरअसल , फिल्म में दोनों कलाकारों की सक्रीन प्रजेंस ही है, जो दर्शकों पर जादू करती है। इस क्लासिक फिल्म को बार बार देखने के बाद भी आप बोर नहीं होंगे।

दम लगा के हईशा

यह फिल्म कुछ सालों पहले ही रिलीज़ हुई थी और इसे क्रिटिक द्वारा बहुत पसंद किया गया था। इस फिल्म में दो उभरते हुए अभिनेता आयुष्मान खुराना और भूमि पेडनेकर ने अपने खूबसूरत अभिनय का प्रदर्शन किया है। यह एक अधिक वजन वाली लड़की संध्या और एक स्कूल ड्रॉप-आउट वाले लड़के के बीच प्रेम की कहानी है, जो माता-पिता के दबाव में आकर एक-दूसरे से शादी कर लेते है। इस फिल्म को देखने के बाद आपका अरेंज मैरिज में विश्वास बढ़ जाएगा। यह फिल्म आपको प्यार करना, अपने टूटे हुए दिल को जोड़ना और धैर्य से काम लेना सिखाती है। संक्षिप्त में, यह फिल्म आपको बताती है कि प्यार से ज़्यादा ताकत दुनिया की और कोई भावना आपको नहीं दे सकती।

नमस्‍ते लंदन

यह बॉलीवुड की एक देसी रोमांटिक फिल्म है, जिसे देखकर आपका और आपके साथी का मूड अच्छा हो जाएगा। यह सच्चे प्यार और समझौते की कहानी है। नमस्ते लंदन का प्रत्येक सीन दिल को लुभाने वाला है और हर किसी को यह फिल्म एक बार तो ज़रूर देखनी चाहिए। अक्षय कुमार और कैटरीना कैफ की खूबसूरत केमिस्ट्री के साथ यह फिल्म आपके वैलेंटाइन्स डे के लिए परफेक्ट फिल्म है।

रब ने बना दी जोड़ी

हर फिल्म का रियलिस्टिक होना ज़रूरी नहीं है। फिल्म ‘रब ने बना दी जोड़ी’ एक ऐसी फिल्म है जो सच्चाई के बिलकुल भी करीब ना होते हुए भी दर्शकों के दिल के बेहद करीब है। इस फिल्म की कहानी एक साधारण व्यक्ति की है जो अपनी पत्नी के प्यार और स्नेह को जीतने की कोशिश करता है। फिल्म में दिखाया गया है कि जब भी प्यार की बात आती है, तब लोग सब कुछ भूलकर अपने प्यार के लिए कुछ भी कर सकते है। यह फिल्म अरेंज मैरिज की मुश्किलों को दर्शाती है। इस फिल्म का संगीत और डांस बहुत खूबसूरत है। शाहरुख ने इस फिल्म में अपने दोनों ही किरदार सुखविंदर और राज को बखूबी निभाया है। यह अनुष्का शर्मा की पहली बॉलीवुड फिल्म है और इसमें उनके काम को बेहद सराहा गया था।

रांझणा

“मेरे सीने की आग या तो मुझे ज़िन्दा कर सकती थी या फिर मुझे मार सकती थी, पर साला अब उठे कौन, कौन फ़िर से मेहनत करे दिल लगाने को, तुडवाने को, अबे कोई तो आवाज़ दे के रोक लो, ये जो लड़की मुर्दे सी आंखें लेकर बैठी है बगल में, आज भी हां बोल दे तो महादेव की कसम वापस आ जाएंगे, पर नहीं अब साला मूड नहीं है, आंखें मूंद लेने में ही सुख है, सो जाने में ही भलाई, पर उठेंगे किसी दिन उसी गंगा किनारे, डमरू बजाने को, उन्ही बनारस की गलियों में दौड़ जाने को, किसी ज़ोया के इश्क में फिर से पड़ जाने को ।” रांझणा के कुंदन के यह डायलॉग प्यार और प्यार के जुनून को बयान कर देने के लिए एकदम परफेक्ट है।

इससे क्या फर्क पड़ता कि आप कौन सी फिल्म देखते हैं, फर्क इससे पड़ता है कि आप फिल्म किसके साथ देख रहे हैं। इन फिल्मों को देखने का असली मज़ा अपने वैलेंटाइन के साथ ही आता है। सोचिए कि भला अकेले रहने में क्या मज़ा है, आखिर ज़िंदगी का मज़ा को किसी के साथ हर पल बांट लेने में है, तो रोमांटिक फिल्मों की लिस्ट हमने आप को दे दी है, आगे आप समझदार है ही।