इन दिनों देश में चारों ओर चुनावी माहौल बना हुआ है। साल 2019 में लोकसभा चुनाव शुरू हो चुके हैं और इसलिए राजनितिक पार्टियों ने लोगों को अणि ओर आकर्षित करने के लिए पुरज़ोर जोर लगाया है। जैसा कि आप सभी जानते हैं हिंदी फिल्में हमेशा वास्तविक जीवन से प्रेरित होती है। बॉलीवुड फिल्मों में भले ही ज़्यादातर विषय, कहानियां और हैप्पी एंडिंग्स ड्रामैटिक होते हैं, लेकिन फिर भी कुछ फ़िल्में ऐसी हैं, जिन्हे वास्तविक दिखाया जाता है। आज के समय में, राजनीति से अधिक वास्तविक क्या हो सकता है? तो चुनावों के इस माहैल में बॉलीवुड की उन फिल्मों को याद करते हैं, जिन्होंने राजनीति, भ्रष्टाचार और राजनैतिक व्यवस्था से जुड़ी बातों को हमें फिल्मों के ज़रिये दिखाया है।

राजनीति – लोकतंत्र की जटिल दुनिया

अद्भुत कलाकारों की एक टुकड़ी और एक बेहतरीन कहानी के साथ यह एक सशक्त फिल्म थी I
अद्भुत कलाकारों की एक टुकड़ी और एक बेहतरीन कहानी के साथ यह एक सशक्त फिल्म थी I

राजनीति बॉलीवुड की सबसे अच्छी राजनीतिक फिल्मों में से एक है। इस फिल्म की कहानी हमे महाभारत की कहानी की याद दिलाती है, जिसे राजनीति का महाकाव्य माना जाता है। इस फिल्म में एक से एक दमदार अभिनेता थे। खासकर, नाना पाटेकर के शानदार अभिनय ने फिल्म में जान डाल दी थी।

यंगिस्तान – एक नए प्रकार की नाटकीय कहानी

किसी प्रसिद्ध स्टार कास्ट के बिना, इस फिल्म ने काफी हलचल पैदा की थी
किसी प्रसिद्ध स्टार कास्ट के बिना, इस फिल्म ने काफी हलचल पैदा की थी

जैकी भगनानी और नेहा शर्मा अभिनीत यंगिस्तान एक ऐसे लड़के की कहानी है,जिसे मजबूरन अपने पिता की मृत्यु के बाद राजनीति की दुनिया में शामिल होना पड़ता है। यंगिस्तान, राजनीति के साथ-साथ दोनों मुख्य किरदारों की प्रेम कहानी की भी बात करता है। फिल्म में जैकी भगनानी के अभिनय और नेहा शर्मा की चुलबुली भूमिका को दर्शकों ने बेहद पसंद किया था। कुल मिलाकर, इस फिल्म ने दर्शकों को एक मजबूत संदेश दिया था।

सरकार सीरीज़ – जिससे बिग बी ने जीते सबके दिल

इस फिल्म में पूरे बच्चन परिवार ने शानदार प्रदर्शन किया था
इस फिल्म में पूरे बच्चन परिवार ने शानदार प्रदर्शन किया था

अमिताभ बच्चन के माथे का टीका और बैकग्राउंड म्यूज़िक में “गोविंदा गोविंदा गोविंदा” की ध्वनि इस फिल्म के ख़ौफ़नाक अंदाज़ को दर्शाने के लिए काफी है। फिल्म में अमिताभ बच्चन की भूमिका अहम थी, जो ज़रूरतमंदो को न्याय दिलवाता है। फिल्म के पहले भाग में कैटरीना कैफ अभिषेक बच्चन के साथ थीं, वहीं फिल्म के दूसरे भाग में ऐश्वर्या राय और अभिषेक बच्चन एक साथ होते हैं। सरकार का तीसरे भाग में भी अमिताभ बच्चन का व्यक्तित्व दर्शकों पर उतना ही प्रभाव डालता है।

ठाकरे – एक कार्टूनिस्ट से पॉलिटिशियन बनने की कहानी

नवाज़ुद्दीन जैसे शानदार अभिनेता से आप सिर्फ एक अद्भुत फिल्म की अपेक्षा कर सकते हैं
नवाज़ुद्दीन जैसे शानदार अभिनेता से आप सिर्फ एक अद्भुत फिल्म की अपेक्षा कर सकते हैं

यह सच है कि नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी अपने हर किरदार में खरे उतरते हैं। फिल्म ठाकरे में भी यही हुआ जब उन्होंने महाराष्ट्र के प्रमुख नेताओं में से एक, बाल ठाकरे की भूमिका निभाई। यह फिल्म बाल ठाकरे के एक कार्टूनिस्ट होने से लेकर एक नेता बनने तक की यात्रा पर आधारित है। यह फिल्म 1960 के दशक की ठाकरे राजनीति की गहराइयों को दर्शाती है।

द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर – एक ऐसी कहानी जिसके बारे में सभी का जानना ज़रूरी है

यह एक कॉन्ट्रोवर्शियल फिल्म थी, क्योंकि इसमें बहुत सी गुप्त जानकारीयों को दिखाया गया था
यह एक कॉन्ट्रोवर्शियल फिल्म थी, क्योंकि इसमें बहुत सी गुप्त जानकारीयों को दिखाया गया था

अनुपम खेर, प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह की भूमिका में सभी दर्शकों की अपेक्षाओं पर खरे उतरे। यह फिल्म भारतीय राजनीति के कई महत्वपूर्ण पहलुओं को सामने लेकर आती है।