रमज़ान में पूरा एक महीना रोज़ा रखने के बाद अल्लाह की इबादत करने वाले लोग ईद का त्योहार खुशियों के साथ मनाते हैं। भारत का यह त्यौहार सभी धर्मों के लोगों के लिए खास है। इस दिन लोग एक-दूसरे के गले मिलकर ईद की बधाई देते हैं। ईद के मौके पर लोग अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के घर जाकर और उन्हें अपने घर आमंत्रित कर ईद की दावत देते हैं।

इस मौके पर गली-मोहल्ले और घरों में ईद के गाने बजाए जाते हैं। जब बात हो रही हो संगीत की, तो बॉलीवुड इस दौड़ में पीछे नहीं रह सकता। ईद के मौके के लिए बॉलीवुड फिल्मों में कई ऐसे गाने हैं, जिसे आप आज के दिन सुनना पसंद करेंगे। जैसा कि सभी जानते हैं बॉलीवुड के तीन सबसे बड़े खान, सलमान खान, शाहरुख खान और आमिर खान अपनी फिल्मों और गानों के ज़रिए लोगों को ईद की बधाई देते हैं।
खास तौर पर ईद के मौके पर सलमान खान चर्चा में छाए रहते हैं। क्योंकि हर साल ईद के मौके पर वे अपनी फिल्में रिलीज़ करते हैं। इस बार रमज़ान के मौके पर इस बार सलमान खान एक बार फिर ‘भारत’ के साथ लोगों के बीच पेश हुए हैं और ज़ाहिर सी बात है कि सलमान के फैंस के लिए ये ईद भी बेहद खास है। यही वजह है कि ईद के मौके पर उनके सबसे ज़्यादा गाने प्रचलित हैं, जिसमें ‘जुम्मे की रात है’, ‘अस्सलाम वालेकुम’, ‘चांद नज़र आ गया’, ‘वल्लाह रे वल्लाह’, ‘भर दे झोली’ जैसे गाने टॉप ट्रेंड में रह चुके हैं। वहीं बॉलीवुड के अन्य एक्टर्स भी इस दौड़ में पीछे नहीं हैं। उनकी फिल्मों से भी कई ऐसे गाने हैं, जो ईद के मौके पर लोगों का दिल जीत लेते हैं।

तुमको ना भूल पाएंगे: मुबारक ईद मुबारक

तीस मार खान: वल्लाह रे वल्लाह

हीरो हिंदुस्तानी: चांद नज़र आ गया

सांवरिया: यूं शबनमी

बजरंगी भाईजान: आज की पार्टी

वैसे तो ईद के गानों में बॉलीवुड का तड़का बना ही रहता है, पर बॉलीवुड में कई ऐसे गाने हैं, जिसमें सूफियाना अंदाज़ दिखाई देता है। ये सूफी गाने अल्लाह की इबादत में गाए जाते हैं। इनके सुर और गायकी लोगों की रूह छू जाते हैं। इन बॉलीवुड गानों में ‘कुन फाया कुन’, ‘अर्ज़ियां’, ‘ख्वाजा मेरे ख्वाजा’ जैसे गाने काफी चर्चित हैं। भले ही इन्हे बॉलीवुड के खानों पर न फिल्माया गया हो, पर ये ईद के मौके पर आपको अल्लाह की मौजूदगी का एहसास दे जाएंगे।

रॉकस्टार: कुन फाया कुन

दिल्ली सिक्स: अर्ज़ियां

जोधा अकबर: ख्वाजा मेरे ख्वाजा

माय नेम इज़ खान: नूर-ए-खुदा

हॉट फ्राइडे टॉक्स की और से सभी को ईद की बहुत-बहुत बधाई।
मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..