बॉलीवुड के फिल्म निर्देशक विधु विनोद चोपड़ा किसी परिचय के मोहताज नहीं। उनका काम बॉलीवुड सिर आंखों पर बैठता है। वे ऐसी शख्सियत है जिन्होंने इंडस्ट्री को ‘1942- ए लव स्टोरी, मुन्नाभाई, 3 इडियट्स, PK और संजू जैसी फिल्मों का तोहफा दिया है। 5 सितंबर 1952 को जम्मू कश्मीर में पैदा हुए विधु आज 66 साल के हो गए हैं और वह अपनी जिंदगी का एक बड़ा हिस्सा बॉलीवुड के नाम कर चुके हैं।
लेकिन उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ बातें हैं जो आपको आश्चर्य से भर देंगी।आइये उनकी जिंदगी से जुड़े कुछ ऐसी ही कहानियां से पर्दा उठाते हैं।
बॉलीवुड को दिए हैं दो बेहतरीन डायरेक्टर
Sanjay Leela Bhansali Appears Before Parliamentary Panel On IT On 'Padmavati'
भंसाली ने अपने करियर की शुरुआत विधु विनोद चोपड़ा के साथ बात की थी और 1942 अ लव स्टोरी में काम किया था
यह बहुत कम लोग जानते हैं कि विधु विनोद चोपड़ा ने इंडस्ट्री को बेहतर फिल्मों के साथ साथ दो बेहतरीन डॉक्टर डायरेक्टर भी दिए हैं। जिसमें से एक है संजय लीला भंसाली और राजकुमार हिरानी। दरअसल भंसाली ने अपने करियर की शुरुआत विधु विनोद चोपड़ा के साथ बात की थी और 1942 अ लव स्टोरी में काम किया था। 8 साल विधु के साथ काम कर उन्होंने खुद को बेहतर बनाया। वहीं राजकुमार हिरानी फिल्म मिशन कश्मीर के साथ काम कर चुके हैं।
करोड़ों मिल सकते थे फिर भी नहीं बदला फिल्म का अंत
विधु को फीचर फिल्में फिल्मों से बेहद लगाव है। उन्होंने अपने करियर में 8 फीचर फिल्मों का निर्देशन किया है। इसमें सबसे ज्यादा आइकोनिक फिल्म थी विधु विनोद चोपड़ा की साल 1990 में आई परिंदा। यह फिल्म एक बोल्ड एंडिंग के साथ आई थी, इसीलिए इसके क्लाइमेक्स को लेकर डिस्ट्रीब्यूटर्स ने विधु विनोद चोपड़ा को चेताया था। उन्होंने कहा था कि इस फिल्म के क्लाइमैक्स को दुखद रखकर भी अपने करियर का अंत कर रहे हैं।इसकी हैप्पी एंडिंग रखिए और लाखों करोड़ों रुपयों का इजाफा हो जाएगा।लेकिन वे नहीं माने और करोड़ों की रकम को ठुकरा दिया।
पंचम दा के गाने को कहा था ‘कचरा’ 
इस लव स्टोरी के फिल्म के गाने के लिए विधु पंचम दा के पास गए
फिल्म परिंदा की सफलता के बाद भी उन्होंने अपनी अगली फिल्म 1942 ए लव स्टोरी बनाने का काम शुरू किया। उस दौरान म्यूजिक कंपोजर आर डी बर्मन का फिल्मी करियर लगभग खत्म हो चुका था। लेकिन इस लव स्टोरी के फिल्म के गाने के लिए विधु पंचम दा के पास गए। जा पंचम दा ने उनके सामने गाना पेश किया तो उन्होंने कहा ‘यह सब कचरा है’। जिसके बाद विधु ने उन्हें एक और हफ्ता दे दिया। इसे सुनकर पंचम दा बेहद भावुक हो गए और उन्होंने कुछ ना कहो इस गाने को कंपोज़ किया। इसके म्यूजिक के साथ उन्होंने कमाल कर दिया। इस फिल्म के म्यूजिक के लिए उन्हें अपना आखिरी फिल्म फेयर अवार्ड फॉर बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर का अवार्ड भी मिला।

इस तरह विधु विनोद चोपड़ा असल जिंदगी में बेहद दिलचस्प इंसान रहे हैं। आज उनके जन्मदिन पर हॉट फ्राइडे टॉक्स उन्हें जन्मदिन की बधाई देता है।