यूं तो महानायक अमिताभ बच्चन समय-समय पर अपने पिता हरिवंश राय बच्चन की कविताओं का पाठ करते ही रहते हैं, लेकिन हाल ही में उन्होंने अपनी जल्द ही रिलीज़ होने वाली फिल्म ‘बदला’ के लिए अपने पिता हरिवंश राय बच्चन की एक कविता ‘गुड़िया’ को आवाज़ दी है। फिल्म में इस कविता को तापसी के किरदार के लिए गाया गया है।

अमिताभ बच्चन और तापसी पन्नू स्टारर फिल्म बदला का सोशल मीडिया पर कई अनोखे तरीके से प्रमोशन किया जा रहा है। कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर ‘बदला अनप्लग्ड’ नाम से एक वीडियो रिलीज़ किया गया, जिसमें शाहरुख खान, अमिताभ बच्चन का इंटरव्यू लेते दिखे थे। हिन्दी सिनेमा के दो लेजेंड्स को एक साथ एक ही वीडियो में देखना जहां दर्शकों को काफी पसंद आया, वहीं तापसी ने भी अपने सोशल मीडिया पर फिल्म से जुड़ी एक कविता साझा की। हरिवंश राय बच्चन की लिखी इस कविता ‘गुड़िया’ को खुद अमिताभ बच्चन ने इस फिल्म के लिए अपनी आवाज़ दी है। दरअसल, फिल्म के प्रमोशन के दौरान महानायक अमिताभ बच्चन ने इस कविता को बोलने का सुझाव दिया, फिर क्या था फिल्म के संगीत निर्देशक की रोहन- नायक ने इस कविता के लिए कुछ ऐसा बैकग्राउंड संगीत तैयार किया जो फिल्म की कहानी और सस्पेंस के साथ काफी बेहतरीन तरीके से जाता है। आप भी सुने बिग बी की आवाज़ में यह कविता…

कविता से पहले लांच हुआ था वीडियो

दरअसल, फिल्म बदला का निर्माण शाहरुख की कम्पनी रेड चिल्ली एंटरटेनमेंट कर रही हैं। इसलिए शाहरुख खान फिल्म के प्रमोशन में जोरों शोरों से हिस्सा भी ले रहे हैं। खबर यह भी है कि फिल्म में शाहरुख एक खास भूमिका निभाते नज़र आएंगे, जिसे अभी तक राज़ रखा गया है। कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर ‘बदला अनप्लग्ड’ नाम से साझा किए गए वीडियो में शाहरुख खान, बिग बी को ट्रिब्यूट देते नज़र आएं। शाहरुख खान ने अमिताभ बच्चन के मशहूर गीत ‘कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है की पंक्तियों को इस्तेमाल करते हुए अमिताभ बच्चन के लिए एक खूबसूरत मैसेज इस वीडियो में शूट किया है। इस वीडियो में शाहरुख ने अमिताभ बच्चन के टि्वटर पर लिखे मैसेज और उनकी पुरानी तस्वीरों के बारे में भी कई मज़ेदार बातें की हैं।

कल शुक्रवार को रिलीज़ हो रही इस फिल्म में तापसी पन्नू एक बिज़नेस वूमेन का किरदार निभा रही है। जो किसी के साथ विवाहेतर संबध में है, इस रिश्ते का राज़ किसी को पता चल जाता है को उनके प्रेमी की हत्या, ब्लैक मेलिंग और एक के बाद एक कई घटनाएं होती चली जाती हैं। वह इससे बाहर आने के लिए अमिताभ बच्चन को अपना वकील नियुक्त करती है। इस फिल्म का ट्रेलर कुछ दिनों पहले ही लॉन्च किया गया था जिसे लोगों ने बेहद पसंद किया था और उसके बाद जिस तरह से सोशल मीडिया पर इस फिल्म की मार्केटिंग और प्रमोशन हो रहा है, वह भी लोगों को काफी आकर्षित कर रहा है।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।