डिज्नी की लाइव एक्शन फिल्म ‘अलादीन’ आपको अपने बचपन में पढ़ी हुई कहानी ‘अलादीन और जादुई चिराग’ की याद दिला देगी। अरेबियन नाइट की ‘वन थाउज़ेंड एण्ड वन नाइट’ की कथाओं में से एक इस कहानी पर, अभी तक हॉलीवुड फिल्म के साथ-साथ, हिन्दी फिल्में और टीवी सीरीज़ भी बन चुकी है, लेकिन यकीन मानिए जिन्न बने विल स्मिथ और अलादीन बने मेना मसूद की यह फिल्म, अभी तक अलादीन पर बनी फिल्मों में सबसे बेहतरीन हैं। निर्देशक गाय रिची (Guy Ritchie) की इस फ़िल्म में फैंटेसी और कॉमेडी से लेकर रोमांस सब कुछ है। इस लाइव एक्शन फिल्म को बॉलीवुड फ़िल्म का रूप देने की कोशिश की गई है। जहां आपको नाच गाना और बॉलीवुड जैसा मसाला सबकुछ देखने को मिलेगा।

गाय रिची (Guy Ritchie) निर्देशित यह फ़िल्म कहानी है अलादीन नाम के एक लड़के की, अनाथ अलादीन (Mena Massoud) बेहतर जीवन के सपने देखता है, राजकुमारी जैस्मीन (नाओमी स्कोट / Naomo scott), महिलाओं पर समाज द्वारा थोपे गए नियमों को तोड़ सुल्तान बनना चाहती हैं, तो वजीर ज़फर ( Marwan Kenzari) किसी भी तरह गुफा के चिराग को पाकर जिन्न के सहारे ताकत हासिल कर सुल्तान बनना चाहता है और वहीं जिन्न (विल स्मिथ/ Will Smith) चिराग की गुलामी से हमेशा के लिए आज़ादी चाहता है। कैसे धीरे धीरे लगभग सभी के सपने सच होते है, यही अलादीन की कहानी हैं। डिज़नी की यह लाइव एक्शन म्यूज़िकल फैंटसी फ़िल्म अगर आप हिंदी में देखेंगे, तो आपको लगेगा कि आप कोई बॉलीवुड फिल्म का ही मज़ा ले रहे हैं। अक्सर किसी अग्रेज़ी फिल्म की हिंदी डबिंग देखने में शायद आपको इतना मज़ा ना आए, लेकिन अरेबियन सेटअप पर बनी इस फिल्म का मज़ा आपको हिंदी में भी उतना ही आएगा।

फिल्म की कहानी

फिल्म की कहानी को निर्देशक गाय रिची ने ज्हॉन अगस्त के साथ मिलकर लिखा है

Image Credit: Aladdin Movie

फिल्म शुरु होती है अलादीन से जो एक चोर ज़रुर है, लेकिन दिल से नेक इंसान है। उसकी ज़िंदगी में अगर उसका कोई साथी है, तो वो है अबू (बंदर)। चोरी करते करते उसकी मुलाकात अपने ही राज्य अग्रभाह के बाज़ार में राजकुमारी जैस्मीन से होती है, जो अलादीन की ही तरह लोगों की मदद करने में विश्वास रखती हैं। दरअसल, राजकुमारी किसी परेशानी में फंस जाती है, जहां से उसे अलादीन बाहर निकालता है और दोनों की इस पहली मुलाकात में ही दोनों एक दूसरे के थोड़े करीब आते हैं। लेकिन अग्रभाह के नियमों के मुताबिक राजकुमारी सिर्फ और सिर्फ किसी राजकुमार से ही शादी कर सकती हैं इसलिए अपनी इस मुलाकात और अलादीन के बारे में राजकुमारी चाहते हुए भी कुछ नहीं सोच पाती। हालांकि अलादीन यह नहीं जानता कि जैस्मीन राजकुमारी है, वह जैस्मीन को राजकुमारी की दासी समझता है। वहीं अलादीन और राजकुमारी की इस पहली मुलाकात के दौरान, चोरी की आदत से मजबूर अबू, राजकुमारी का पुश्तैनी कड़ा चुरा लेता है। अलादीन उसी कड़े को वापस देने राजकुमारी के महल पहुंचता है, जहां उसे राजकुमारी का वज़ीर ज़फर पकड़ लेता है और उसे इस गुफा से चिराग लाने को कहता है। अलादीन चिराग लाने में कामयाब होता है और जब उसे इस बात का एहसास होता है कि यह जादुई चिराग है , तो वह उस चिराग से निकले जिन्न से राजकुमार बनने की विश मांगता है, जिससे वह राजकुमार बन राजकुमारी के साथ शादी कर सके।

किरदारों का अभिनय

फिल्म दो घंटे 8 मिनट की है

Image Credit: Aladdin Movie

दरअसल, इस अलादीन की खास बात है इस फिल्म का जिन्न विल स्मिथ। फिल्म में उनकी कॉमेडी हो या फिर उनके इमोशन्स हो, वह इस फिल्म को बेहतरीन बनाते हैं। जिन्न के तौर पर उनका अंदाज़ आपको गुदगुदाता है। अपने आका यानी अलादीन के साथ उनकी दोस्ती वाले क्षण फिल्म में बेहतरीन है। जिन्न और राजकूमारी की दासी के बीच के रोमांटिक सीन्स भी फिल्म में एक नयापन लाते हैं। ज़ाहिर है कि इस फिल्म का जिन्न सिर्फ अपने आका का हुक्म ही नहीं मानता, वो नाचता भी है, रोमांस भी करता है और इमोश्नल भी है।

अलादीन यानी मेना मसूद का किरदार अभी तक के अलादीन के किरदारों में सबसे बेहतरीन हैं। इस किरदार के लिए जिस तरह की मासूमियत और सच्चाई की ज़रुरत है, वह इस किरदार में दिखती है। हिंदी फिल्म में इस किरदार को गायक अरमान मलिक ने आवाज़ (डब) दी है, फिल्म के गीत हो या फिर डॉयलॉग, अरमान ने जिस तरह इस किरदार को पेश किया है वह बेहतरीन है। इस फिल्म में अलादीन का नाच आप सभी का दिल जीत लेगा।

जैस्मीन यानी नाओमी स्कोट इस फिल्म में खूबसूरत लगी है। हालांकि उनका किरदार खूबसूरती से कई आगे है। वह उन महिलाओं में है, जो खूबसूरती में नहीं, बल्कि अपनी बात को रखने में विश्वास रखती है। वह महिला और मर्द में किसी तरह का फर्क नहीं समझती। वह सुल्तान बन अपनी प्रजा की सेवा करना चाहती हैं।

फिल्म देखें या नहीं

यह फिल्म चार भाषाओं में रिलीज़ की गई है

Image Credit: Aladdin Movie

अलादीन की यह जादुई दुनिया काफी बेहतरीन है। इस फिल्म की खास बात है कि यह फिल्म कॉमेडी, एक्शन, ड्रामा और इमोशन के बीच एक बेहतरीन संतुलन है। फिल्म के बीच-बीच में कई गीत आते है, लेकिन वह गीत भी फिल्म को आगे बढ़ाने के लिए है। फिल्म के सेट काफी बेहतरीन है, मिडल ईस्ट की इस कहानी के लिए उस दौर के बनाए गए सेट एकदम परफेक्ट महसूस होते हैं। हिंदी में फिल्म को रोमांचक बनाने के लिए आपको कहीं कहीं भाईजान यानी सलमान की आवाज़ भी सुनने को मिलेगी। दरअसल, फिल्म में कई ऐसे क्षण है जहां आप खुद को तालियां बजाने से नहीं रोक पाएंगे और यही इस फिल्म की सफलता है कि यह सिर्फ बच्चों के लिए ही नहीं, बल्कि बड़ो के लिए भी एक कम्पलीट एंटरटेनर हैं।

आवाज़ डॉट कॉम इस फिल्म को चार स्टार देता हैं।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।