भारतीय सिनेमा के इतिहास में बनी अब तक की सबसे महंगी फिल्मों में से एक फिल्म है निर्देशक शंकर की 2. 0। रजनीकांत और अक्षय कुमार को साथ लेकर बनाई गई इस फिल्म का बजट 350 करोड़ से भी ज़्यादा का है, फिल्म का ट्रेलर जब से रिलीज़ हुआ है, तभी से यह फिल्म अपने बजट और वीएफएक्स को लेकर सुर्खियां बटोर रही है। 2.0 के बजट के बारे में सुनकर बॉलीवुड के लगभग सभी निर्माता हैरान हैं। सबसे खास है इस फिल्म में एक एक्शन सीन जो अक्षय और रजनीकांत के बीच है, जिसपर लगभग 20 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। आज बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार के नाम का डंका भले ही चारों तरफ बज रहा हो, आज बड़े – बड़े निर्देशक भी अक्षय कुमार के साथ कई फिल्में करने का प्रस्ताव रख रहे हो, लेकिन क्या आप जानते हैं अक्षय के करियर में एक ऐसा दौर भी था जब उनके पास एक छोटी सी किताब खरीदने तक के भी पैसे नहीं थे। चलिए जानते है अक्षय से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें।

शेफ और वेटर की नौकरी कर चुके है अक्षय कुमार

akshay-old-500x360
अक्षय मुंबई में डॉन बास्को स्कूल तथा गुरुनानक खालसा कॉलेज में पढ़ाई कर चुके हैं

फ़िल्मों में आने से पहले अक्षय कुमार ने मार्शल आर्ट्स में अपना करियर बनाया हुआ था और इसी चलते वो बैंकॉक में मार्शल आर्ट्स की एडवांस ट्रेनिंग के लिए गए थे और उन्हें कुछ साल वहीं बिताने पड़े। बैंकाक में रहने के दौरान उनके पास इतने पैसे नहीं थे की वो अपना गुज़ारा कर सके। खाली समय में उन्होंने शेफ और वेटर की नौकरी भी की। बैंकॉक से आने के बाद वो मुंबई आ गए और यहां आकर उन्होंने मार्शल आर्ट्स का प्रशिक्षण देना शुरू किया। उनके एक विद्यार्थी ने जो कि पेशे से फोटोग्राफर थे ने उन्हें मॉडलिंग मे ट्राय करने की सलाह दी। उसकी सलाह से अक्षय ने अपनी किस्मत एक्टिंग में आज़मानी चाही। अक्षय उन दिनों को याद कहते हुए अपने इंटरव्यू में बोल चुके है, “जब मैं मुंबई में एक्टिंग सीखना चाहता था और मेरे पास पैसे नहीं थे। मैं ‘हाउ टू लर्न एक्टिंग’ की किताब ढूंढ रहा था और वो किताब मुझे मुंबई के चर्चगेट स्टेशन के बाहर सड़क पर मिली लेकिन उस किताब की कीमत 118 रुपये थी और मेरी जेब में सिर्फ 72 रुपये थे जिसके चलते वो किताब भी नहीं ख़रीद पाया। मुझे वो किताब ना ख़रीद पाने का बहुत अफ़सोस हो रहा था, लेकिन उस किताब के दूसरे पन्ने पर एक बात लिखी थी जो मुझे बहुत पसंद आई। उसमें लिखा था कि एक अच्छा एक्टर बनने के लिए ज़रूरी है पहले एक अच्छा आदमी बनना। वैसे आपको बता दूं कि पैसे आ जाने के बाद उस किताब को बहुत ढूंढा लेकिन वो नहीं मिली। ”

सुबह चार बजे उठकर करते हैं अपने दिन की शुरुआत

akshaykumar-twinklekhanna
अक्षय ने राजेश खन्ना डिंपल कपाड़िया की बेटी ट्विंकल खन्ना से शादी की।

आज अक्षय के काम और उनके दिनचर्या को लेकर अक्सर लोगों में बात होती रही है कि कैसे 50 की उम्र में भी अक्षय हमेशा तैयार रहते है एक्शन करने के लिए वो भी बिना किसी बॉडी डबल के। दरअसल उनकी फिट सेहत के पीछे का राज है उनकी ज़िंदगी का डिसिप्लिन। आपको जानकार हैरानी होगी कि उनके जागने और सोने का समय तय है। रात को 9.30 बजे ‍वह बिस्तर पर चले जाते हैं और सुबह चार बजे उठते हैं। यदि रात को सोने में देर भी हो जाए तो भी वह चार बजे ही उठते हैं। वह अक्सर फिल्मी पार्टियों से दूर रहते हैं। अपनी डाइट को लेकर भी वह बेहद सतर्क हैं। बॉलीवुड में आमतौर पर जहां दोपहर से काम शुरू होकर देर रात तक चलता है, वहीं अक्षय कुमार यदि फिल्म में हो तो पूरी यूनिट को सुबह काम पर पहुंचना होता है और शाम को समय पर ही पैकअप करना पड़ता है ।

अब तक सबसे ज़्यादा बायोपिक फिल्में करने का रिकॉर्ड

Akshay-kumar-with-family-500x360
अक्षय के बेटे का नाम आरव और बेटी का नाम नितारा कुमार है।

अक्षय कुमार ने बॉलीवुड के उन सभी अभिनेताओं का रिकॉर्ड थोड़ा है, जो बायोपिक फिल्मों में काम कर चुके है। अक्षय ने जितनी बायोपिक फिल्में अब तक की है शायद ही किसी और अभिनेता ने की होगी। अक्षय की बायोपिक फिल्मों में एयर लिफ्ट, रुस्तम, गोल्ड, पैड मैन, स्पेशल 26 और आने वाली फिल्म में केसरी और मिशन मंगल शामिल है ।

अक्षय कुमार जहां ‘हेरा फेरी’ और ‘हाउस फुल’ जैसी कॉमेडी फिल्म करते है, वहीं औरतों से जुड़े मुद्दों पर भी अपनी फिल्मों के ज़रिये चर्चा करते है। आने वाला साल 2019 अक्षय के लिए बहुत चुनौती भरा है क्योंकि जहां उनकी कई बड़ी फिल्म रिलीज़ होंगी, वहीं बॉक्स ऑफिस के कलेक्शन पर भी कई निर्देशक और निर्माताओं की नज़र रहेगी। एक तरह से कह सकते हैं कि बॉलीवुड में अक्षय कुमार के नाम पर सट्टा लगेगा और अब देखना है कि कितना बॉक्स ऑफिस कलेक्शन जूटा पाएंगे अक्षय कुमार। फिलहाल तो लोगो को उत्सुकता उनकी फिल्म रोबोट 2 देखने की है।

पहचान छोटी ही सही लेकिन अपनी खुद की होनी चाहिए। इसी सोच के साथ जीती हूँ।अपने सपनों को साकार करने की हिम्मत रखती हूं और ज़िन्दगी का स्वागत बड़े ही खुले दिल से करती हूँ। बाते और खाने की शौकीन हूँ । मेरी इस एनर्जी को चार्ज करती है, मेरे नन्ने बच्चे की खिलखिलाती मुस्कुराहट।