किसी भी फिल्म को चलाने के लिए एक अच्छे अभिनेता का होना बहुत ज़रूरी होता है। ये अभिनेता ही दर्शकों को सिनेमाघरों तक खींच कर लाते हैं। हालांकि, बॉलीवुड में कई बार ऐसा हुआ है जब किसी जानवर ने एक सपोर्टिंग एक्टर के रूप में फिल्म में महत्वपूर्ण किरदार निभाया है। बहुत सी फिल्मों में देखा गया है कि जानवरों ने अभिनेताओं के समान ही महत्वपूर्ण किरदार निभाए हैं।

2019 की ‘जंगली’

विद्युत जामवाल, पूजा सावंत और आशा भट्ट स्टारर यह फिल्म एक वेटेरनरी डॉक्टर के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपने पिता के एलीफंट रिज़र्व में आता है और एक अंतरराष्ट्रीय शिकारियों के रैकेट को पकड़ कर उनसे लड़ता है। फिल्म में जामवाल द्वारा मार्शल आर्ट और स्टंट भी किये गए हैं। यह फिल्म 29 मार्च 2019 को रिलीज़ हुई थी और समीक्षकों ने फिल्म को पसंद भी किया था।

‘डम्बो’ थी एक फैंटसी एडवेंचर

टिम बर्टन द्वारा निर्देशित फिल्म डंबो एक बेबी एलीफंट के बारे में हैं, जो ज़रूरत से ज़्यादा बड़े कानों के साथ पैदा होता है। सर्कस के मालिक मैक्स मेडिसी अपने सर्कस के पुराने स्टार और उनके दो बच्चों को डम्बो की देखभाल करने के लिए रखते हैं। उस परिवार को पता चलता है कि डम्बो उड़ सकता है, इसी वजह से डम्बो पूरे सर्कस का आकर्षण बन जाता है। इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छा बिज़नस किया था।

‘एंटरटेनमेंट’ ने किया सबको एंटरटेन

इस फिल्म में एंटरटेनमेंट नाम के कुत्ते ने सभी दर्शकों को बहुत एंटरटेन किया था। फिल्म के मुख्य अभिनेता का साथ दिया एक बड़े गोल्डन रिट्रीवर कुत्ते ने, जिसके साथ अक्षय को अपने पिता की प्रॉपर्टी हासिल करने के लिए लड़ना पड़ता है। सुनने में अजीब लग रहा है न? ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि अक्षय के पिता ने अपनी सारी प्रॉपर्टी उस कुत्ते के नाम कर दी थी।

‘लाइफ ऑफ़ पाय’ थी एक फैंटसी ड्रामा

यह फिल्म पूरी तरह से रिचर्ड पार्कर नामक एक टाइगर और पाय नाम के एक लड़के के रिश्ते की कहानी है, जो समुद्र में एक नाव पर फंसे हुए थे। निर्देशक एंग ली की इस फिल्म ने उनकी बाकी सभी फिल्मों के मुकाबले सबसे ज़्यादा कमाई की थी। फिल्म में टाइगर को सीजीआई टेक्नोलॉजी के ज़रिये बनाया गया था। उस टाइगर ने हमे डराया भी और इमोशनल भी किया। फिल्म में इस जानवर की पूरी यात्रा समुद्र में ही गुज़री।

‘कट्टी-बट्टी’ में दिखाया गया था एक कछुआ

फिल्म में इमरान खान और कंगना रनौत की केमिस्ट्री से ज़्यादा लोगों को इमरान और उनके कछुए के बीच की केमिस्ट्री पसंद आई थी। फिल्म में यदि इमरान और उनके पेट की केमिस्ट्री से ज़्यादा, उनकी और कंगना की केमिस्ट्री पर ध्यान दिया गया होता, तो शायद यह फिल्म चल जाती।

इनके अलावा भी बॉलीवुड में बहुत सी फ़िल्में बनी हैं, जिनमे जानवरों के किरदार को महत्त्व दिया गया है। यदि आपकी भी कोई ऐसी ही पसंदीदा फिल्म है, तो हमे ज़रूर लिखें।

एक उत्सुक पाठक, जिसने लेखन को चुना। मेरे खाली समय में मैं गाने सुनना और लोगों का सफरनामा पढ़ना पसंद करती हूं। यदि आपके पास भी कुछ दिलचस्प वाकये हैं, तो मुझे भेजें। preeti@hotfridaytalks.com