जैसे बीरबल के बिना बादशाह अकबर अधूरे थे वैसे तेनाली राम के बिना महाराज कृष्णदेव राय अधूरे थे। तेनाली राम की बुद्दिमता का कोई तोड़ नहीं है। उनकी चतुराई के आगे बहुतों ने सर झुकाए हैं। ऐसे तेनाली राम के किस्सों के साथ हम फिर एक बार आ गए हैं। सुनिए ‘तेनाली राम के किस्से’ सीज़न 2 केवल aawaz.com पर।