हाल ही में इंटरनेशनल योगा डे पर ऑफ़िस में मेडिटेशन करने के महत्व और उससे होनेवाले फ़ायदों पर काफी चर्चा हुई थी। वैसे देखा जाए तो एक कंपनी का विकास तभी हो सकता है जब उसके प्रत्येक एम्प्लॉई का विकास सही ढंग से हो रहा हो। मैडिटेशन एम्प्लॉईज़ के विकास को बढ़ावा देने का सबसे अच्छा ज़रिया है। आइए देखते हैं कि किस प्रकार ऑफ़िस में मेडिटेशन करने से आपके काम में सुधार आता है और मेडिटेशन से दूसरे कौन से फायदे हो सकते हैं।

मेडिटेशन एक एम्प्लॉई के प्रमुख स्किल्स को सुधारने में मदद करता है

मेडिटेशन आपको एक बेहतर इंसान बनाता है

Image Credit: Unsplash.com

एक एम्प्लॉई के स्किल्स ही उसे कंपनी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बना सकते हैं। कम्युनिकेशन स्किल्स, क्रिएटिव स्किल्स, लीडरशिप स्किल्स, ऑर्गेनाइजेशन्ल स्किल्स और टाइम मैनेजमेंट स्किल्स कुछ ऐसी स्किल्स है जो एक अच्छे एम्प्लॉई के पास होने चाहिए। दरअसल, मेडिटेशन आपको अपनी इन सभी स्किल्स को बेहतर बनाने में मदद करता है। एक शांत दिमाग बेहतर विचारों को प्रस्तुत कर सकता है, जिससे आपकी कम्युनिकेशन स्किल्स बेहतर बनती है। चूंकि मेडिटेशन तनाव को दूर करता है, उसकी मदद से आपकी क्रिएटिविटी और लीडरशिप स्किल्स भी अच्छी होती है। इसके अलावा मेडिटेशन करने से आपका फोकस बढ़ता है जिसका प्रभाव आपके ऑर्गेनाइजेशन्ल और टाइम मैनेजमेंट स्किल्स पर पड़ता है।

काम पर अपने उद्देश्य

मेडिटेशन केवल मानसिक और शारीरिक विकास के लिए नहीं, बल्कि करियर में अपने उद्देश्य को पहचानने में भी आपकी सहायता करता है। अपने करियर और निजी ज़िन्दगी से जुड़े सभी सवालों का जवाब ढूंढने में मेडिटेशन आपकी बहुत मदद करता है। मेडिटेशन आपकी सोच और विचारों को शुद्ध रखता है, जिससे आप हमेशा एक सही राह पर चल सकें। मेडिटेशन आपको अपने लिए एक सही दिशा चुनने में मदद करता है।

किसी भी काम को सफल बनाने के लिए उसके उद्देश्य और एकाग्रता पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी होता है। इसलिए मेडिटेशन आपको अपने काम के उद्देश्य को समझने में मदद करता है, जिसके फलस्वरूप आप काम मे अपना सबसे बेहतरीन प्रदर्शन दे पाते हैं।

काम पर अपने रिश्तों को बेहतर बनाए

जो व्यक्ति मेडिटेट करता है वो अपनी पॉज़िटिव एनर्जी से दूसरे 10 लोगों को प्रभावित करता है

Image Credit: Pexels.com

मेडिटेशन के अनगिनत फायदों में से एक और है – अपने प्रोफेशनल और पर्सनल रिश्तों को बेहतर बनाना। मेडिटेशन आपको जागरूक और ऑप्टिमिस्टिक बनाता है और उसका प्रभाव आपके आस-पास के सब लोगों पर भी बहुत अच्छे से होता है। जैसे-जैसे लोगों से आपकी बातचीत यानी आपका कम्युनिकेशन बेहतर होता जाएगा, आप अपने मन की बात खुलकर लोगों के सामने रख पाएंगे और आपके प्रोफेशनल और पर्सनल रिलेशनशिप्स में सुधार आएगा।

साथ ही मेडिटशन करने से आप में अलग-अलग तरह की स्थितियों और चीज़ों को सहन और स्वीकार करने की क्षमता बढ़ सकती है। यह दोनों स्किल्स अपने रिश्तों को बनाए रखने के लिए सबसे ज़रूरी स्किल्स मानी जाती है।

यदि आपके पर्सनल और प्रोफेशनल रिश्ते अच्छे होंगे, तो ऑफिस में आपका मन भी अच्छे से लगा रहेगा और आप एक अच्छे एम्प्लॉई की तरह अपने काम में बेहतरीन प्रदर्शन देते रहेंगे।

आज से ही ऑफ़िस में मेडिटेट करना शुरू करें और दूसरों को भी इसे करने के लिए प्रेरित करें।