तेजी से बदलती लाइफस्टाइल में चेहरे के साथ-साथ बालों से जुड़ी समस्या भी बढ़ती जा रही है। गंजापन,बालों का टूटना-झड़ना तो कॉमन बात हो चुकी है, लेकिन इसके साथ एक और समस्या इन दिनों आम हो चुकी है, ये समस्या है स्कैल्प पर होने वाले एक्ने और पिम्पल्स की। सिर की त्वचा में रुसी और खुजली के अलावा पिम्पल्स-एक्ने की प्रॉब्लम लगातार बढ़ती जा रही है। यह पिम्पल और एक्ने आपकी हेयरलाइन पर हो जाते हैं जिनमें दर्द के साथ-साथ खुजली भी होती है। जानिए इनसे निपटने के कुछ घरेलू उपाय जो आपको राहत प्रदान करेंगे।

how to manage hairs-500x360
इस वजह से होते हैं स्कैल्प पर पिम्पल

Image Credit: www.allureesthetic.com

स्किन स्पेशलिस्ट डॉक्टर अनुराग तिवारी के मुताबिक, जिस तरह चेहरे पर रोमछिद्र बंद होने से पिम्पल होते हैं उसी तरह केश कूप (हेयर फॉलिकल) बंद हो जाने से स्कैल्प में पिम्पल होने लगते हैं। हेयर फॉलिकल डेड स्किन सेल्स जमने, बैक्टीरिया और स्किन के सीबम के पोर्स में घुसने के कारण होते हैं। कीटाणुओं जैसे स्टेफायलोकोकस एपिडर्मिस, प्रोपिओनीबैक्टीरियम एक्नेस आदि की वजह से सूजन और फिर फुंसी और पिम्पल पनपने लग जाते हैं। कई बार किसी शैम्पू या हेयर प्रोडक्ट के इस्तेमाल से भी यह समस्या शुरू हो जाती है इसलिए हेयर प्रोडक्ट्स का चयन बहुत ही सावधानी पूर्वक करें। बालों की नियमित साफ़ सफाई करें। कई बार लंबे समय तक बालों को न धोने से भी पिम्पल्स की समस्या उत्पन्न हो जाती है। साथ ही हैट, हेलमेट में छुपे धूल के कणों से भी खुजली और पिम्पल्स की परेशानी अक्सर हो जाया करती है।

take care of your hair-500x360
घरेलू नुस्खे जो पहुंचाएंगे राहत

Image Credit: www.amazonhealthtips.com

पिम्पल्स की समस्या अधिक बढ़ने पर डॉक्टर से परामर्श करना तो ज़रुरी हो ही जाता है लेकिन कई ऐसे घरेलू उपाय भी हैं, जो आपको त्वरित राहत प्रदान करने का काम करते हैं। इस समस्या में टी-ट्री ऑयल से काफी सुकून मिलता है। आप टी-ट्री ऑयल की 6 से 7 बूंदें अपने रेगुलर कंडिशनर में मिलाएं और उसे बालों पर छिड़क लें, कुछ देर बाल ऐसे ही रहने दें और फिर पानी से धो लें। यह प्रक्रिया 3 से 4 बार सप्ताह में दोहराएं। दरअसल टी-ट्री ऑयल में एंटीइन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी होती हैं जिससे वह पिम्पल-एक्ने बनाने वाले कीटाणुओं को नष्ट कर देता है।

इस समस्या के समाधान में नारियल तेल की भी अहम भूमिका निभाता है। हफ्ते में एक से दो बार नारियल तेल स्कैल्प और बालों में लगाएं तो भी आपको एक्ने-पिम्पल से राहत मिलेगी क्योंकि इसमें एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टी होती हैं।

कई स्किन प्रॉब्लम्स में राहत देने वाला एलोवेरा भी स्कैल्प के एक्ने-पिम्पल रोकने में बड़ी भूमिका निभाता है। एलोवेरा जेल को सीधे अपने बालों और स्कैल्प में लगाकर मसाज करें और 30 मिनट तक लगा रहने दें और फिर उसे धो लें। इसमें मौजूद हीलिंग प्रॉपर्टी आपके एक्ने-पिम्पल मिटा देगी। इसे हफ्ते में कम से तीन बार ज़रुर लगाएं।

इसके अलावा नीम के पत्ते पानी में उबालकर ठंडा कर लें और शैम्पू और कंडीशनिंग करने के बाद नीम के पानी को बालों पर डाल लें। हफ्ते में दो से तीन बार ऐसा करने से आपको फर्क देखने को मिलेगा।

इन सब उपायों के अलावा हेल्दी और बैलेंस्ड डाइट ज़रुर लें।अपनी डाइट में कार्बोहाइड्रेट का इंटेक बढ़ाएं। ज्यादा सुगन्धित और कैमिकल वाले हेयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल बंद कर दें। सिर पर हेलमेट, हेयरबैंड या कोई हेयर एक्सेसरी लगायें तो थोड़ा ढीला रखें जिससे त्वचा सांस ले पाए। हफ्ते में दो से तीन बार सिर ज़रुर धोएं तो पिम्पल की समस्या से निजात मिल सकता है।

This is aawaz guest author account