दुनिया में कई ऐसी जगहें हैं, जहां रहस्यमयी घटनाएं घटती है, लेकिन कोई नहीं जानता कि इसके पीछे क्या कारण है। इन जगहों पर लोगों के साथ ऐसी दर्दनाक और भयावनी घटनाएं होती है, जिसकी वजह से उन्हें मौत को गले लगाना पड़ता है। यही वजह है कि ऐसी जगहों पर रूहों का वास हो जाता है। आज हम आपको सिंगापुर के एक ऐसी हॉस्पिटल के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे रूहों ने अपना बना लिया है। अचंभित करने वाली बात ये है कि यहां रहनेवाली रूहें लोगों को न सिर्फ दिखाई देती है, बल्कि उनसे बात करने में भी नहीं कतराती। इस जगह पर कई ऐसे किस्से हो चुके हैं, जब यहां आनेवाले लोगों को अलग-अलग तरह के भयावने अनुभव हुए हैं और साथ ही कई लोगों से यहां की रूहों ने बातें भी की हैं। आइए जानते हैं इस हॉन्टेड हॉस्पिटल के बारे में कुछ खास बातें।

क्या है इस हॉन्टेड हॉस्पिटल की कहानी?

यहां काम करनेवाली दो नर्सों की और एक चिकित्सक की भी मौत हो गईं

सिंगापुर के 24 हॉल्टन रोड पर बसा ये ओल्ड चंगी हॉस्पिटल इस इलाके की सबसे डरावनी जगह मानी जाती है। वैसे तो ये अस्पताल द्वितीय विश्वयुद्ध के सैनिकों के इलाज के लिए बनवाया गया था, लेकिन देखते-देखते ये एक बड़ी कब्रगाह में बदल गया। दरअसल, इस हॉस्पिटल का निर्माण 1930 में चंगी गांव में करवाया गया था। लेकिन द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इस इलाके में जापानियों ने कब्ज़ा कर लिया और इसके बाद इस अस्पताल को इन घायल सैनिकों के उपचार के लिए इस्तेमाल किया जाने लगा। लेकिन उस दौरान यहां हज़ारों की तादाद में आए जापानी सैनिकों का इलाज करने की क्षमता नहीं थी, इसलिए धीरे-धीरे करके यहां सैनिकों की मौतें होने लगी। इस वजह से यहां महामारी फ़ैल गई, जो घायल सैनिकों को ही नहीं, बल्कि दूसरे लोगों को भी अपनी चपेट में लेने लगी। इसी के चलते यहां काम करनेवाली दो नर्सों की और एक चिकित्सक की भी मौत हो गईं। एक के बाद एक मौतों की वजह से इस जगह को मनहूस माना जाने लगा।

रूहों का बसेरा

थोड़े ही समय के बाद धीरे-धीरे इस हॉस्पिटल में लोगों ने आना बंद कर दिया

जब इस जगह पर इलाज किया जाता था, तब एक शख्स ने अस्पताल की दूसरी मंज़िल पर एक वृद्ध व्यक्ति का साया देखा था। लेकिन जब इस बारे में अस्पताल के लोगों को पता चला, तो उन्होंने इस पर ध्यान नहीं दिया। कुछ दिनों बाद ही एक व्यक्ति की दूसरे मंज़िल से गिरकर मौत हो गई। बाद में पता चला कि इस व्यक्ति को किसी अदृश्य शक्ति ने धक्का मारा था। इसके बाद से लोग दूसरे माले पर जाने से कतराने लगे। थोड़े ही समय के बाद धीरे-धीरे इस हॉस्पिटल में लोगों ने आना बंद कर दिया और कुछ समय बाद इसे बंद कर दिया गया।

आज ये हालात हैं कि इसे बंद हुए कई साल हो चुके हैं। लेकिन आज भी यहां किसी ना किसी का साया दिखाई देने की कहानी सुनाई देती है। कुछ समय पहले दो दोस्तों ने यहां कई साल पहले मर चुके चौकीदार से मिलने की कहानी बताई थी। ये चौकीदार उन्हें बंद पड़ चुके अस्पताल में अंदर जाने से रोक रहा था। बाद में उन्हें इस जगह की असलियत और चौकीदार की रूह की बारे में पता चला। इसके बाद से लोगों में इस जगह को लेकर डर और बढ़ गया।

इस तरह सिंगापुर का ये चंगी हॉस्पिटल जीता-जागता भूतहा स्थान बन कर रह गया।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..