कॉलेज की ज़िंदगी पर यू तो कई फिल्में बन चुकी हैं, लेकिन ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’ का इंतज़ार दर्शक काफी बेसब्री से कर रहे थे। टाइगर श्रॉफ, अनन्या पांडे और तारा सुतारिया अभिनीत इस फ़िल्म का निर्देशन पुनीत मल्होत्रा ने किया है। धर्मा के बैनर तले बनी यह फ़िल्म यंगस्टर्स को काफ़ी पसंद आ रही हैं। जहां साल 2012 में रिलीज़ हुई पहली फ़िल्म प्यार ओर लव ट्राइंगल पर थी, वहीं यह फ़िल्म कॉलेज में युवाओं के बीच होते कई कम्पटीशन पर आधारित हैं। इस कॉलेज में दरअसल पढ़ाई छोड़ बाकी सब कुछ होता है।

फ़िल्म की कहानी

पहली फिल्म को करण जौहर ने निर्देशित किया था।

Image Credit: Movie- Student of the year 2

फ़िल्म की कहानी छोटे से शहर से आए रोहित सहगल यानी टाइगर श्रॉफ की है, जो अपने बचपन के प्यार मृदुला यानी तारा सुतारिया के पीछे पीछे देहरादून के सबसे महंगे स्कूल में पढ़ने आ जाता है। टाइगर को स्कूल में एडमिशन अपने स्पोर्ट्स कोटा की वजह से मिलता है। टाइगर के आने से सबसे बड़ा खतरा इस कॉलेज के हीरो माने जाते मानव मेहरा यानी आदित्य सील को है। हर चीज़ में बेहतर होने की वजह से मानव, रोहित से जलने लगता है और इस वजह से शुरू होती है, इन दोनों के बीच की तनातनी। कॉलेज में नया होने के कारण टाइगर की मुलाकात कई नए दोस्तों के साथ होती है, उन्ही दोस्तों में उसकी दोस्त बन जाती है श्रेया यानी अनन्या पांडे। श्रेया उसी मानव की बहन है जो टाइगर का राइवल है। टाइगर श्रेया की ओर आकर्षित होता है। लेकिन क्या होगा जब तारा टाइगर और अन्नया के बीच में लव ट्राइंगल शुरू होगा, इस प्यार में कौन होगा किसका यह देखना दिलचस्प है।

सितारों का अभिनय

फिल्म से चंकी पांडे की बेटी अनन्या पांडे डेब्यू कर रही हैं

Image Credit: Movie- Student of the year 2

‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’ के स्टूडेंट्स के अभिनय की बात की जाए, तो फिल्म में सबसे बेहतरीन अभिनय अनन्या पांडे का हैं। उनकी पहली फिल्म होने के बावजूद उनका अभिनय सराहनीय है। हालांकि फिल्म में जिस तरह से उनका किरदार लिखा गया है, उस हिसाब से उनके किरदार में बहुत ही गुंजाईश थी, जिसे अनन्या ने बेहतरीन तरीके से परफॉर्म किया है।इस बात में कोई दो राय नहीं कि अनन्या आने वाली जनरेशन की स्टार है।

टाइगर अपने ही टिपिकल अंदाज़ में नज़र आए हैं। कबड्डी, डांस या फिर रेस, उनके हर शॉट को इतने बेहतरीन तरीके से फिल्माया गया है, कि इस फिल्म को देखने के बाद हर कोई उन्ही की तरह बनना चाहेगा। टाइगर की फिजिक और एक्शन वैसे ही लाजवाब है, लेकिन इस फ़िल्म में वो और भी निखर कर आए हैं। पुनीत मल्होत्रा ने उनकी स्ट्रेन्थ का इस्तेमाल काफी बेहतरीन तरीके से किया है। लेकिन एक्टिंग के मामले में टाइगर इस बार भी लोगों को इम्प्रेस करने में नाकामयाब रहे हैं।

जहां तक बात है तारा सुतारिया की , तारा का किरदार इतना निखर कर नहीं आया है। दरअसल, उसके किरदार के ग्राफ को बेहतर तरीके से लिखा ना होने की वजह से, वह इतना नहीं कर पायी जितना वह कर सकती थीं।

फिल्म देखे या नहीं

करण ने पहले ही इस बात की घोषणा कर दी थी कि बहुत ही जल्द स्टूडेट ऑफ द ईयर 3 भी बनेगी

Image Credit: Movie- Student of the year 2

दरअसल, ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’ ऐसे स्टूडेंट्स की कहानी है, जो क्लास में कम क्लास से बाहर ज़्यादा दिखाई देते हैं। इन स्टूडेंट्स का कॉलेज ऐसा है, जिसे शायद ही आप रियल लाइफ में देखें। इस कॉलेज में पढ़ाई से ज्यादा, डांस , खेल और रोमांस होता है। इस कॉलेज की हर चीज मॉडर्न और कूल है। हालांकि इस फिल्म की पहली फिल्म के साथ किसी भी तरह से तुलना नहीं हो सकती हैं। समय और जनरेशन के साथ-साथ यह फिल्म आज के मॉडर्न वर्ल्ड और जनरेशन के साथ न्याय करती हैं। जहां उस फिल्म का राधा गीत आज भी गुनगुनाते है, वहीं इस फिल्म के सारे गीत काफी एवरेज है।

आवाज़ डॉट कॉम इस फिल्म को साढ़े तीन स्टार देता है

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।