श्रीदेवी की बेटी जान्हवी कपूर की पहली फिल्म ‘धड़क’ बॉक्स ऑफिस पर इसी शुक्रवार को रिलीज़ हो रही हैं। खुद फिल्मी परिवार में पली बढ़ी जान्हवी भले ही फिल्मी माहौल से वाक़िफ़ हो, लेकिन उनकी इस जर्नी में उनके मम्मी और पापा साथ साथ रहे। जहां फिल्म की शूट के पहले दिन उनके साथ उनकी मां श्रीदेवी मौजूद थी, वहीं उनके पिता बोनी कपूर भी उनके शूट पर जाते थे।

श्रीदेवी ने देखे है बेटी की फिल्म के कुछ अंश

two-new-star-kids-in-bollywood-janhvi-kapoor-ishaan-khatter-in-dhadak-500x500
फिल्म मराठी फिल्म ‘सैराट’ की रिमेक है

पिछले साल दिसम्बर में उदयपुर में इस फिल्म की शूटिंग शुरु की गई। खास बात है कि अपनी बेटी से इस खास दिन, उनकी मां श्रीदेवी भी मौजूद थी। मशहूर फैशन डिज़ाइनर और परिवार के करीबी मनीष मल्होत्रा ने,  फिल्म के शूट की पहले दिन की फोटो अपने इंस्टा पर साझा की थी। इस पहले दिन की तस्वीर में श्रीदेवी और जान्हवी को एक साथ देखा जा सकता है। हालांकि फिल्म पूरी होते-होते भले ही श्रीदेवी अपनी बेटी का साथ छोड़ चली गई हो, लेकिन जान्हवी उन दिनों को याद कर बताती हैं, “ जब मेरी मम्मी ने मराठी फिल्म ‘सैराट’ देखी तो वह चाहती थी कि मेरी पहली फिल्म कुछ इसी तरह की हो। खास बात है कि मम्मी ने मेरी इस फिल्म के कुछ 20 मिनट के अंश भी देखे थे और बहुत सी प्यारी बातें बोली थी, जो मेरे लिए बहुत स्पेशल है।”

जहां एक तरफ उनकी मम्मी सेट पर शुरुआती दिनों में मौजूद थी, वहीं उनके पिता भी सेट पर उनके साथ कई दिन थे। बोनी कपूर ने बतौर प्रोड्यूसर कई हिट फिल्में दी हैं। जान्हवी कहती हैं, “ मेरे पापा प्रोड्यूसर है, तो मैं यह जानती हूं कि उन्हें कितना कुछ हैंडल करना पड़ता है। मैने उनसे सीखा है कि सबके काम की रिस्पेक्ट करो। सबके साथ सेट पर अच्छे से पेश आओ। सब अपना काम करने की कोशिश कर रहे हैं। आपका काम किसी और के काम से ज़्यादा कम या महत्वपूर्ण नहीं है।”

 

जब फिल्म ‘सदमा’ देख कई दिनों कर नही की मां से बात

फिल्म सैराट जान्हवी ने अपनी मम्मी के साथ देखी थी

जहां अपनी फिल्मों की जर्नी शुरु करने में जान्हवी को अपने मम्मी और पापा दोनों का साथ मिला, वहीं आपको ये जान कर हैरानी होगी कि वह अपनी मम्मी की फिल्मों को देखना पसंद नहीं करती थी। “ हर फिल्म में मम्मी को रुलाते थे। ये बात मुझे पसंद नहीं आती थी, लेकिन मैने मम्मी की ‘सदमा’ देखी क्योंकि उसमे मम्मी कमल हासन को रुलाती है, लेकिन उस फिल्म को देख कर मैं मम्मी पर इतनी गुस्सा हुई क्योंकि उन्होनें फिल्म में कमल हासन से बात नहीं की थी। मैं तब शायद 10 या 11 साल की थी।”

श्रीदेवी और बोनी कपूर ये बेटी अपनी पहली फिल्म के साथ, इस शुक्रवार को बॉक्स ऑफिस पर आ रही हैं। जहां उनकी इस शुरुआत में उनकी मां उनके साथ थी, वहीं वह अब अकेली है, लेकिन जिस तरह का प्यार और तारीफें, उन्हे ना सिर्फ इंडस्ट्री से और लोगों से मिल रही हैं, उससे एक बात तो साफ है कि हर कोई श्रीदेवी की इस बड़ी बेटी को वही प्यार देने को तैयार है, जो कभी उनकी मां को दिया था।  

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।