जहां इंडस्ट्री में कई अभिनेत्रियों को शादी के बाद काम की कमी रहती है, वहीं माधुरी दीक्षित शादी के बाद भी कई बेहतरीन फिल्मों का हिस्सा रही। हाल ही में कुछ महीनों पहले रिलीज़ हुई उनकी मल्टी स्टारकास्ट फिल्म ‘टोटल धमाल’ ने बॉक्स ऑफ़िस पर अच्छी खासी कमाई की। बहुत ही जल्द वह करण जौहर की फिल्म ‘कलंक’ में एक अहम किरदार निभाती नज़र आएंगी। जहां इस फिल्म से वह 21 साल बाद संजय दत्त के साथ काम कर रही हैं, वहीं माधुरी का कहना है कि आज भी इंडस्ट्री में उन्हें जैसा चाहे वैसा रोल आसानी से मिल जाता है।

मुझे वो काम मिल जाता है, जो मुझे चाहिए

कलंक एक मल्टी स्टार्रर फिल्म है

Image Credit: StarsUnfolded

जहां कई अभिनेत्रियां शादी और एक उम्र के बाद काम ना मिलने की शिकायत करती हैं, वहीं माधुरी का दावा है कि उन्हें आज भी अपना मनचाहा काम आसानी से मिल जाता है। अपने प्रोफेशन में बिल्कुल भी इनसिक्योर फील ना करने वाली माधुरी की मानें तो,

“मुझे रोल ना मिले ऐसा कभी नहीं हुआ, इसलिए इनसिक्योर फील करने का मतलब ही नहीं है। मुझे वो मिल जाता है जो मुझे चाहिए , लेकिन मैं जो करना चाहती हूं वो मेरी च्वाइस है, इंडस्ट्री के हाथ में है कि वो मुझे क्या ऑफर कर रहे हैं, लेकिन मेरे हाथ में है कि मैं क्या करना चाहती हूं। इसलिए मैं बिल्कुल इनसिक्योर नहीं हूं। साथ ही मुझे लगता है कि किसी को भी हिट या फ्लॉप से जज नहीं करना होता, परफोर्मेंस देखनी होती है , आप एक्टिंग देखे कि क्या इस अभिनेत्री को काम आता भी है या नहीं। हिट और फ्लॉप हमारे हाथ में नहीं है यह तकदीर है।”

पिछले साल ‘टोटल धमाल’ जैसी मल्टी स्टार कास्ट का हिस्सा बनने वाली माधुरी की आने वाली फिल्म भी मल्टी स्टार कास्ट वाली ही फिल्म है। इस फिल्म में माधुरी के साथ- साथ संजय दत्त, वरुण धवन, आलिया भट्ट, सोनाक्षी सिन्हा और आदित्य रॉय कपूर जैसे कई सितारे हैं। माधुरी के मुताबिक भले ही रोल छोटा हो, लेकिन छोटे रोल में ही कमाल कर दिखाना ही टैलेंट है। माधुरी की माने तो“ इतने सारे स्टार होते है, तो चिंता नहीं होती कि फिल्म चलेगी या नहीं , पूरा प्रेशर अपने कंधो पर नहीं होता, प्रेशर सब में बट जाता है। एक अलग एनर्जी होती है, जब बहुत सारे किरदार होते है। नए लोगों के साथ काम करने का अलग ही मज़ा आता है। एक साथ बहुत से सितारे होते है इस बात की फिक्र नहीं है, जितना मिलता है उसमें आपको कमाल करके दिखाना होता है।”

फिल्म ‘साजन’ से मिली थी संजय दत्त को पहचान

फिल्म में माधुरी की जगह पहले श्रीदेवी को साइन किया गया था

Image Credit: NDTV.com

‘थानेदार’, ‘साजन’, ‘इलाका’ और ‘खलनायक’ जैसी फिल्मों में साथ काम कर चुकी संजय दत्त और माधुरी दीक्षित की जोड़ी इस फिल्म से लगभग 21 सालों बाद एक बार फिर से साथ-साथ आ रही हैं। कई हिट फिल्में साथ साथ देने वाली इस जोड़ी को देखने के लिए जहां कई दर्शक उतावले है, वहीं माधुरी को संजय के साथ काम किए गए उन सालों की याद ताजा हो गई, जब संजय को सिर्फ एक एक्शन हीरो के तौर पर देखा जाता था। संजय के करियर की अहम फिल्मों में से एक ‘साजन’ में संजय दत्त की कोस्टार रहीं माधुरी का मानना है कि फिल्म ‘साजन’ से संजय दत्त ने यह साबित कर दिया था कि वह सिर्फ और सिर्फ एक एक्शन स्टार नहीं है। “हम दोनों ने ही बहुत सारी बेहतरीन फिल्में दी है। दोनों को एक साथ फिर से काम करने का मौका मिला, यह बहुत ही अच्छी बात थी। दरअसल, साजन के बाद से ही लोग उन्हें पहचानने लगे थे, क्योंकि तब तक उनकी इमेज काफी एक्शन ओरियेंटेड थी। जब साजन में हम लोगों को कहते थे कि वह अपाहिज का रोल प्ले कर रहे ,हैं तो सब कहते थे तुम लोग पागाल हो गए हो, जो एक्शन करता है उसे अपाहिज बना दिया, अब तो फिल्म नहीं चलने वाली,लेकिन वो फिल्म बहुत चली। तो ऐसा नहीं है कि वह अलग अलग तरीके के रोल निभा नहीं सकते, उनको अलग तरह की पहचान साजन फिल्म से, सड़क जैसी फिल्म से भी मिली।”

खास बात है कि ‘टोटल धमाल’ में भी माधुरी और अनिल कपूर की हिट जोड़ी को कई सालों बाद एक साथ देखा गया था और अब संजय दत्त और माधुरी दीक्षित की जोड़ी का भी लोगों को इंतजार है। अभिषेक वर्मन निर्देशित यह फिल्म 17 अप्रैल को रिलीज़ होगी।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।