छोटे परदे से लेकर बड़े परदे तक सभी स्टार्स अब डिजिटल वर्ल्ड की ओर कदम बढ़ा रहे हैं। इन स्टार्स में सैफ अली खान, नवाजुद्दीन , राधिका आप्टे से लेकर पंकज त्रिपाठी जैसे बड़े नाम शामिल हैं। अब अर्जुन रामपाल भी इस कतार में शामिल हो चुके हैं। हाल ही में ज़ी फाइव की वेब सीरीज़ ‘फाइनल कॉल’ में अर्जुन रामपाल ने बतौर एक्टर अपने डिजिटल वर्ल्ड के डेब्यू की शुरुआत की है। हाल ही में ज़ी फाइव द्वारा किये गए ट्वीट से लोगों को यह जानकारी मिली है।

कैसा है टीज़र?

‘यादें हैं कि सोने नहीं देती, और ज़मीर से आंख मैं मिला नहीं सकता!’ इन दमदार लाइनों के साथ शुरू होता है अर्जुन रामपाल की वेब सीरीज़ का टीज़र। इस टीज़र में अर्जुन एक आर्मी ऑफिसर की भूमिका में दिखाई दे रहे हैं, जिसका बीता हुआ कल एक राज़ की तरह है और उसका आने वाला कल कोई नहीं जानता। आप भी देखिये अर्जुन रामपाल की वेब सीरीज़ द फाइनल कॉल का ये टीज़र।

आपको बता दें कि अभिनेता अर्जुन रामपाल की यह वेब सीरीज़ द फाइनल कॉल लेखिका प्रिया कुमार की किताब आई विल गो विद यू: द फ्लाइट ऑफ़ अ लाइफटाइम की कहानी पर आधारित है। इस वेब सीरीज में अर्जुन रामपाल का एक अलग अवतार लोगों के सामने पेश होगा। अर्जुन पहले ही कश्मीर में इसका पहला स्केड्यूल पूरा कर चुके हैं और अब से आगे की तैयारी में लगे हुए हैं। यह सीरीज 22 फरवरी से zee5 पर रिलीज की जाएगी। इसका ऑफिशल टीजर भी लोगों के सामने आ चुका है, जिसे खुद अर्जुन रामपाल ने अपने टि्वटर हैंडल से पोस्ट किया है। इसके साथ अर्जुन ने कैप्शन में लिखा है, ‘जब अंत नजदीक हो, तो डरना नहीं चाहिए। मुझे जरूर बताएं कि आप क्या सोचते हैं।’

यह कहानी है जिंदगी और मौत के बीच झूलती दिखाई देगी। यह अन्य कहानियों से बिल्कुल हटकर है जिसे अर्जुन रामपाल ने बेहद अच्छी तरह आत्मसात किया है। सीरीज़ में अर्जुन रामपाल प्रमुख भूमिका में नजर आएंगे, वहीं उनके साथ नीरज काबी, अनुप्रिया गोयनका भी स्क्रीन शेयर करते हुए दिखाई देंगे। यह एक थ्रिलर ड्रामा है, जो लोगों को बेहद पसंद आएगा।

क्या है किताब और उसकी कहानी

वेब सीरीज़ द फाइनल कॉल लेखिका प्रिया कुमार की किताब आई विल गो विद यू: द फ्लाइट ऑफ़ अ लाइफटाइम की कहानी पर आधारित है। इस कहानी के अनुसार एक फ्लाइट का पाइलट फ्लाइट उड़ाने के दौरान आत्महत्या करने की ठान लेता है, लेकिन वह उन लोगों चार लोगों को भी इस आत्महत्या में शामिल करता है, जो उस वक्त फ्लाइट में मौजूद होते हैं। यह कहानी इसी पाइलट की ज़िन्दगी के आस-पास घूमती नज़र आएगी। इस कहानी में सस्पेंस है, थ्रिलर है और है भरपूर मनोरंजन।

मेरी आवाज़ ही पहचान है! संगीत मेरी कल्पना को पंख देता है.. किताबी कीड़ा, अडिग, जिद्दी, मां की दुलारी.. प्राणी प्रेम ऐसा कि लोग मुझे लगभग पागल समझते हैं! खाने के लिए जीनेवाली और हद दर्जे की बातूनी.. लेकिन मेरा लेखन आपको बोर नहीं करेगा..