अजय देवगन 1971 के भारत – पाकिस्तान युद्ध में वायु सेना की अहम भूमिका पर बहुत ही जल्द ही एक फिल्म लेकर आ रहे हैं। 1971 का यह युद्ध इतिहास के सबसे महत्वपूर्ण युद्धों में गिना जाता है। हालांकि युद्ध के दौरान गुजरात के भुज एयरपोर्ट की भूमिका के बारे शायद ही लोग जानते होंगे और अजय की आने वाली फिल्म भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया इसी पर आधारित है। फिल्म में अजय आईएएफ अफसर विजय कार्णिक की भूमिका निभा रहे हैं, जिन्होनें उस दौरान वहां की लोकल महिलाओं के साथ मिलकर टूटे हुए भुज एयरपोर्ट का पुन: निर्माण किया था।

किस घटना पर आधारित है फिल्म

हाल ही में एयरपोर्ट का उस दौरान निर्माण करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया था

Image Credit: Explained News, The Indian Express

अभिशेक दुधैया निर्देशित यह फिल्म सच्ची कहानी पर आधारित है। दरअसल, भारत- पाकिस्तान युद्ध के दौरान दुश्मनों द्वारा की गई लगातार बमबारी की गई। 8 दिसम्बर 1971 का रात को 18 बम गिराए गए, जिसके कारण भुज की हवाई पट्टी नष्ट हो गई। तब वहां की लगभग 300 स्थानीय महिलाओं और युवतियों ने 72 घंटे के भीतर ही इस हवाई पट्टी की मरम्मत कर दी थी। दरअसल आर्मी ऑफ़िसर्स को लेकर आ रहे विमानों का कच्छ एयरपोर्टट लैंड होना बहुत ज़रुरी था, लेकिन हवाई पट्टी के टूट जाने से वह मुमकिन नहीं था। इस पूरे एयरपोर्ट की मरम्मत का काम विजय कार्णिक ने अपनी अगुवाई में करवाया था। खास बात है कि कार्णिक ने इस दौरान और दो वायुसेना अफसरों ने, 50 वायूसेना के सैनिक और 60 डिफेंस के सुरक्षा गार्ड की मदद से पाकिस्तान से हो रही भारी बमबारी के बावजूद भुज के एयरपोर्ट को चालू रखा, जिससे भारतीय सेना को काफी मदद मिली। कार्णिक की इस अहम भूमिका पर इस फिल्म को बनाया जा रहा है।

पहले भी देशभक्ति से जुड़ी कर चुके है फिल्में

इन दिनों देशभक्ति से जुड़ी कई फिल्में रिलीज़ हो रही हैं

Image Credit: Wallpapers – Yah.in

हालांकि यह पहली बार नहीं जब अजय देवगन देशभक्ति से जुड़ी फिल्म लेकर आ रहे हो। सिंघम में पोलिस अफसर बन लोगों का दिल जीतने वाले अजय कारगिल युद्ध पर बनी फिल्म हो या फिर 1971 युद्ध पर बनी फिल्म बॉर्डर हो, दोनों में अभिनय कर चुके हैं। फिलहाल तो अजय दे दे प्यार दे और ताना जी फिल्म की शूटिंग में व्यस्त है। यह फिल्म अगले साल तक रिलीज़ होने की सम्भावना है।

खास बात है कि भारत और पाकिस्तान की 1971 की लड़ाई को जे पी दत्ता की फिल्म बॉर्डर में दिखाया जा चुका है, वहीं अगले महीने रिलीज़ होने वाली जॉन अब्राहम की फिल्म रॉ- रोमियो अकबर वाल्टर भी उसी युद्द पर आधारित है, हालांकि रॉ फिल्म में, रॉ की अहम भूमिका को दिखाया गया है, वहीं अजय की यह फिल्म वायु सेना के और खास कर भुज एयरपोर्ट पर इस सेना और स्थानीय लोगों के साहस की कहानी को बयान करेगी।

HFT हिन्दी की एडिटर, मनमौजी, हठी लेकिन मेहनती..उड़ नही सकती लेकिन मेरी कल्पनाशक्ति को उड़ने से कोई नहीं रोक सकता। अपने महिला होने पर मुझे सबसे ज्यादा गर्व है। लिखना मेरा शौक है। लिखने के अलावा बेटे के साथ गप्पे मारना और खेलना मुझे बेहद पसंद है।